Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
23 Aug 2016 · 1 min read

तुम बात मुझी से कह डालो

बात मुझी से कह डालो …

अंतर्मन के ऑगन में जब जब दुख की परछाई हो
वर्षा के काले बादल जब नैनो मे लहराते हो
घनघोर घटाओं की बदली
जब जब दिल पर गहरी हो
तुम जुदा न हो ..तुम खफा न हो
बस बात मुझी से कह डालो तुम बात मुझी से कह डालो ……………………………………
. मन का क्रदंन हल्का करके
शब्दों का ऑलिगन कर
कुछ मूर्त शब्द इंगित करके
तुम मौन अधर मुखरित कर दो
तुम बात मुझी से कह डालो
बस ….बात मुझी से कह डालो……………………………….
ह्रदय धीर धर लेगा तब
जब मन अवलम्बन लेगा तब
काल रात्री उज्जवल होगी
नेह बरस लेंगे जब ……
… छटा खूब निखरेगी बस
तम तिमिर ह्रदय का धो डालो
तुम बात मुझी से कह डालो ……. तुम ….
नीरा रानी

Language: Hindi
251 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from NIRA Rani
View all
You may also like:
हिन्दू जागरण गीत
हिन्दू जागरण गीत
मनोज कर्ण
ऐ मौत
ऐ मौत
Ashwani Kumar Jaiswal
लोगों का मुहं बंद करवाने से अच्छा है
लोगों का मुहं बंद करवाने से अच्छा है
Yuvraj Singh
Kabhi kabhi hum
Kabhi kabhi hum
Sakshi Tripathi
सुरभित पवन फिज़ा को मादक बना रही है।
सुरभित पवन फिज़ा को मादक बना रही है।
सत्य कुमार प्रेमी
कुछ लोगो का दिल जीत लिया आकर इस बरसात ने
कुछ लोगो का दिल जीत लिया आकर इस बरसात ने
सिद्धार्थ गोरखपुरी
You are not born
You are not born
Vandana maurya
“Mistake”
“Mistake”
पूर्वार्थ
चाय-समौसा (हास्य)
चाय-समौसा (हास्य)
दुष्यन्त 'बाबा'
मेरी प्यारी हिंदी
मेरी प्यारी हिंदी
रेखा कापसे
अपनों का साथ भी बड़ा विचित्र हैं,
अपनों का साथ भी बड़ा विचित्र हैं,
Umender kumar
एक अकेला
एक अकेला
Punam Pande
पूरा ना कर पाओ कोई ऐसा दावा मत करना,
पूरा ना कर पाओ कोई ऐसा दावा मत करना,
Shweta Soni
किसी की प्रशंसा एक हद में ही करो ताकि प्रशंसा एवं 'खुजाने' म
किसी की प्रशंसा एक हद में ही करो ताकि प्रशंसा एवं 'खुजाने' म
Dr MusafiR BaithA
आओ,
आओ,
हिमांशु Kulshrestha
' प्यार करने मैदान में उतरा तो नही जीत पाऊंगा' ❤️
' प्यार करने मैदान में उतरा तो नही जीत पाऊंगा' ❤️
Rohit yadav
जीवन में सारा खेल, बस विचारों का है।
जीवन में सारा खेल, बस विचारों का है।
Shubham Pandey (S P)
करवाचौथ
करवाचौथ
Satish Srijan
दूसरों को देते हैं ज्ञान
दूसरों को देते हैं ज्ञान
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
💐प्रेम कौतुक-323💐
💐प्रेम कौतुक-323💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
"मजदूर"
Dr. Kishan tandon kranti
ओझल तारे हो रहे, अभी हो रही भोर।
ओझल तारे हो रहे, अभी हो रही भोर।
surenderpal vaidya
" मैं सिंह की दहाड़ हूँ। "
Saransh Singh 'Priyam'
शरद पूर्णिमा का चांद
शरद पूर्णिमा का चांद
Mukesh Kumar Sonkar
हमारा हौसला इश्क़ था - ग़ज़ल
हमारा हौसला इश्क़ था - ग़ज़ल
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
उठ जाग मेरे मानस
उठ जाग मेरे मानस
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
23/131.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/131.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
पराक्रम दिवस (कुंडलिया)*
पराक्रम दिवस (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
ऊपर बैठा नील गगन में भाग्य सभी का लिखता है
ऊपर बैठा नील गगन में भाग्य सभी का लिखता है
Anil Mishra Prahari
■ आज का दोहा
■ आज का दोहा
*Author प्रणय प्रभात*
Loading...