Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
24 Aug 2016 · 1 min read

तुम्हारी बेटियां है …

हमें भी खिलखिलाने दो ज़रा सा मुस्कुराने दो.
तुम्हारी बेटियां है हम हमें धरती पे आने दो.

बहुत मासूम हैं ये बच्चियां पढने पढ़ाने दो.
नई फसलें विचारों की दमागों को उगाने दो.

गिराकर मैं की दीवारें मिटा दो भेद की दुनिया,
मुहब्बत जीतने निकलो तो खुद को हार जाने दो.

इन्हें मर्दों के कन्धों से जरा कन्धा मिलाने दो.
नहीं हैं कम ज़माने से ज़माने को दिखाने दो.

तमन्ना है हरे पेड़ों के मौसम सब्ज़ हो जाएँ,
ज़रा ये तितलियां महकें ये पत्ते चहचहाने दो.

हम अपने मन की सुनते और बेपरवाह रहते हैं,
उठाता है कोई हम पर अगर ऊँगली, उठाने दो.
…सुदेश कुमार मेहर.

1 Comment · 364 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
33 लयात्मक हाइकु
33 लयात्मक हाइकु
कवि रमेशराज
वक्त बदलते ही चूर- चूर हो जाता है,
वक्त बदलते ही चूर- चूर हो जाता है,
सिद्धार्थ गोरखपुरी
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Jitendra Kumar Noor
"वक्त" भी बड़े ही कमाल
नेताम आर सी
अर्धांगिनी
अर्धांगिनी
Buddha Prakash
एक पल में ये अशोक बन जाता है
एक पल में ये अशोक बन जाता है
ruby kumari
💫समय की वेदना💫
💫समय की वेदना💫
SPK Sachin Lodhi
दूसरे दर्जे का आदमी
दूसरे दर्जे का आदमी
Jeewan Singh 'जीवनसवारो'
■ आज की बात...
■ आज की बात...
*Author प्रणय प्रभात*
आपको याद भी
आपको याद भी
Dr fauzia Naseem shad
कर्म प्रधान
कर्म प्रधान
Dr. Akhilesh Baghel "Akhil"
जेष्ठ अमावस माह का, वट सावित्री पर्व
जेष्ठ अमावस माह का, वट सावित्री पर्व
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
श्री कृष्ण जन्माष्टमी
श्री कृष्ण जन्माष्टमी
Neeraj Agarwal
विश्व शांति की करें प्रार्थना, ईश्वर का मंगल नाम जपें
विश्व शांति की करें प्रार्थना, ईश्वर का मंगल नाम जपें
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
जग का हर प्राणी प्राणों से प्यारा है
जग का हर प्राणी प्राणों से प्यारा है
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
आज का आम आदमी
आज का आम आदमी
Shyam Sundar Subramanian
रोजगार रोटी मिले,मिले स्नेह सम्मान।
रोजगार रोटी मिले,मिले स्नेह सम्मान।
विमला महरिया मौज
*शुभ्रा मिश्रा जी : मेरी पहली प्रशंसक*
*शुभ्रा मिश्रा जी : मेरी पहली प्रशंसक*
Ravi Prakash
अनुसंधान
अनुसंधान
AJAY AMITABH SUMAN
इक तुम्हारा ही तसव्वुर था।
इक तुम्हारा ही तसव्वुर था।
Taj Mohammad
मिसाल उन्हीं की बनती है,
मिसाल उन्हीं की बनती है,
Dr. Man Mohan Krishna
मेरी हस्ती का अभी तुम्हे अंदाज़ा नही है
मेरी हस्ती का अभी तुम्हे अंदाज़ा नही है
'अशांत' शेखर
उसकी मोहब्बत का नशा भी कमाल का था.......
उसकी मोहब्बत का नशा भी कमाल का था.......
Ashish shukla
✍️✍️ये बौनी!आँखों से गोली मार रही है✍️✍️
✍️✍️ये बौनी!आँखों से गोली मार रही है✍️✍️
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
दुख मिल गया तो खुश हूँ मैं..
दुख मिल गया तो खुश हूँ मैं..
shabina. Naaz
बेवफाई करके भी वह वफा की उम्मीद करते हैं
बेवफाई करके भी वह वफा की उम्मीद करते हैं
Anand Kumar
✍️गहरी बात✍️
✍️गहरी बात✍️
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
कोयल कूके
कोयल कूके
Vindhya Prakash Mishra
किसी की प्रशंसा एक हद में ही करो ताकि प्रशंसा एवं 'खुजाने' म
किसी की प्रशंसा एक हद में ही करो ताकि प्रशंसा एवं 'खुजाने' म
Dr MusafiR BaithA
खवाब
खवाब
Swami Ganganiya
Loading...