Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
14 Feb 2023 · 1 min read

जीवन भी एक विदाई है,

जीवन भी एक विदाई है,
जिस कारण भी है जन्म लिया ।
उस लक्ष्य को हम को पाना है ,
कुछ करके हमको जाना है।।

जीवन में जितने लोग मिले,
ना जाने कितने प्यारे हैं ।
जब भी देखा चिर नभ में,
तब मिलते नव ही तारे हैं।।

नव ही मिलते आए हैं,
नव ही मिलते जाएंगे।
जीवन की यह पुरवाई है,
जो आई आज विदाई है।।

जीवन की इक सच्चाई है,
जो जन्म लिया वो विदा हुआ।
मरना भी एक विदाई है,
जीवन ही एक विदाई है।।

©अभिषेक पाण्डेय अभि

30 Likes · 4 Comments · 514 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
" फ़साने हमारे "
Aarti sirsat
प्रिय के प्रयास पर झूठ मूठ सी रूठी हुई सी, लाजवंती के गालों
प्रिय के प्रयास पर झूठ मूठ सी रूठी हुई सी, लाजवंती के गालों
kaustubh Anand chandola
किसी की याद में आंसू बहाना भूल जाते हैं।
किसी की याद में आंसू बहाना भूल जाते हैं।
Phool gufran
यूं ना कर बर्बाद पानी को
यूं ना कर बर्बाद पानी को
Ranjeet kumar patre
कभी ग़म से कभी खुशी से मालामाल है
कभी ग़म से कभी खुशी से मालामाल है
shabina. Naaz
दीदार
दीदार
Vandna thakur
अंकुर
अंकुर
manisha
ऊपर वाला जिन्हें हया और गैरत का सूखा देता है, उन्हें ज़लालत क
ऊपर वाला जिन्हें हया और गैरत का सूखा देता है, उन्हें ज़लालत क
*प्रणय प्रभात*
मोहब्बत का मेरी, उसने यूं भरोसा कर लिया।
मोहब्बत का मेरी, उसने यूं भरोसा कर लिया।
इ. प्रेम नवोदयन
सत्संग संध्या इवेंट
सत्संग संध्या इवेंट
पूर्वार्थ
नए मुहावरे का चाँद
नए मुहावरे का चाँद
Dr MusafiR BaithA
यादें .....…......मेरा प्यारा गांव
यादें .....…......मेरा प्यारा गांव
Neeraj Agarwal
"नसीबे-आलम"
Dr. Kishan tandon kranti
अपेक्षा किसी से उतनी ही रखें
अपेक्षा किसी से उतनी ही रखें
Paras Nath Jha
एक उजली सी सांझ वो ढलती हुई
एक उजली सी सांझ वो ढलती हुई
नूरफातिमा खातून नूरी
हिन्दु नववर्ष
हिन्दु नववर्ष
भरत कुमार सोलंकी
अबोध अंतस....
अबोध अंतस....
Santosh Soni
दशहरा
दशहरा
मनमोहन लाल गुप्ता 'अंजुम'
जलाओ प्यार के दीपक खिलाओ फूल चाहत के
जलाओ प्यार के दीपक खिलाओ फूल चाहत के
आर.एस. 'प्रीतम'
जश्न आजादी का ....!!!
जश्न आजादी का ....!!!
Kanchan Khanna
अमर शहीद स्वामी श्रद्धानंद
अमर शहीद स्वामी श्रद्धानंद
कवि रमेशराज
हर किसी के लिए मौसम सुहाना नहीं होता,
हर किसी के लिए मौसम सुहाना नहीं होता,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
व्यावहारिक सत्य
व्यावहारिक सत्य
Shyam Sundar Subramanian
3528.🌷 *पूर्णिका*🌷
3528.🌷 *पूर्णिका*🌷
Dr.Khedu Bharti
हमसे ये ना पूछो कितनो से दिल लगाया है,
हमसे ये ना पूछो कितनो से दिल लगाया है,
Ravi Betulwala
पाखंड
पाखंड
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
*राम-विवाह दिवस शुभ आया : कुछ चौपाई*
*राम-विवाह दिवस शुभ आया : कुछ चौपाई*
Ravi Prakash
कोशिश
कोशिश
विजय कुमार अग्रवाल
मायके से दुआ लीजिए
मायके से दुआ लीजिए
Harminder Kaur
साथ मेरे था
साथ मेरे था
Dr fauzia Naseem shad
Loading...