Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
27 Nov 2022 · 1 min read

जिस रिश्ते में

जिस रिश्ते में आपको अपने अन्य रिश्तो के लिए स्पष्टीकरण देना पड़े तो ऐसे रिश्ते को कभी हल्के में न लें. ज्ञात रहे ऐसे रिश्ते आगे चल कर मानसिक स्वास्थ्य को हानि पहुंचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं ।

डाॅ फौज़िया नसीम शाद

Language: Hindi
12 Likes · 317 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr fauzia Naseem shad
View all
You may also like:
*अविश्वसनीय*
*अविश्वसनीय*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
महाराणा सांगा
महाराणा सांगा
Ajay Shekhavat
वक़्त का आईना
वक़्त का आईना
Shekhar Chandra Mitra
⚘️🌾Movement my botany⚘️🌾
⚘️🌾Movement my botany⚘️🌾
Ms.Ankit Halke jha
दोहे बिषय-सनातन/सनातनी
दोहे बिषय-सनातन/सनातनी
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
सफाई इस तरह कुछ मुझसे दिए जा रहे हो।
सफाई इस तरह कुछ मुझसे दिए जा रहे हो।
Manoj Mahato
भुजरियों, कजलियों की राम राम जी 🎉🙏
भुजरियों, कजलियों की राम राम जी 🎉🙏
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
ग़ज़ल संग्रह 'तसव्वुर'
ग़ज़ल संग्रह 'तसव्वुर'
Anis Shah
"सन्त रविदास जयन्ती" 24/02/2024 पर विशेष ...
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
जिन्दगी शम्मा सी रोशन हो खुदाया मेरे
जिन्दगी शम्मा सी रोशन हो खुदाया मेरे
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
कम से कम दो दर्जन से ज़्यादा
कम से कम दो दर्जन से ज़्यादा
*Author प्रणय प्रभात*
करम के नांगर  ला भूत जोतय ।
करम के नांगर ला भूत जोतय ।
Lakhan Yadav
"BETTER COMPANY"
DrLakshman Jha Parimal
मुक्तक
मुक्तक
नूरफातिमा खातून नूरी
🌺प्रेम कौतुक-191🌺
🌺प्रेम कौतुक-191🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
*धन्य करें इस जीवन को हम, चलें अयोध्या धाम (गीत)*
*धन्य करें इस जीवन को हम, चलें अयोध्या धाम (गीत)*
Ravi Prakash
अनुभूति
अनुभूति
Shweta Soni
मन मंदिर के कोने से
मन मंदिर के कोने से
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
परेशान देख भी चुपचाप रह लेती है
परेशान देख भी चुपचाप रह लेती है
Keshav kishor Kumar
उस रात .....
उस रात .....
sushil sarna
तू मुझे क्या समझेगा
तू मुझे क्या समझेगा
Arti Bhadauria
सोच की अय्याशीया
सोच की अय्याशीया
Sandeep Pande
प्रियवर
प्रियवर
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
ऐ महबूब
ऐ महबूब
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
# लोकतंत्र .....
# लोकतंत्र .....
Chinta netam " मन "
पाखी खोले पंख : व्यापक फलक की प्रस्तुति
पाखी खोले पंख : व्यापक फलक की प्रस्तुति
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
رام کے نام کی سب کو یہ دہائی دینگے
رام کے نام کی سب کو یہ دہائی دینگے
अरशद रसूल बदायूंनी
दर्द तन्हाई मुहब्बत जो भी हो भरपूर होना चाहिए।
दर्द तन्हाई मुहब्बत जो भी हो भरपूर होना चाहिए।
सत्येन्द्र पटेल ‘प्रखर’
"खुद के खिलाफ़"
Dr. Kishan tandon kranti
अपने वजूद की
अपने वजूद की
Dr fauzia Naseem shad
Loading...