Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
8 Mar 2023 · 1 min read

जरूरी नहीं राहें पहुँचेगी सारी,

जरूरी नहीं राहें पहुँचेगी सारी,
लेकिन कोशिशें रोज रखना है जारी।
कभी ये मुकद्दर जब बदलेगा करवट,
यही कोशिशें देगीं मंजिल तुम्हारी।

सतीश सृजन

285 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Satish Srijan
View all
You may also like:
एक नज़र में
एक नज़र में
Dr fauzia Naseem shad
बादलों के घर
बादलों के घर
Ranjana Verma
पहले आदमी 10 लाख में
पहले आदमी 10 लाख में
*Author प्रणय प्रभात*
"गुमान"
Dr. Kishan tandon kranti
सब स्वीकार है
सब स्वीकार है
Saraswati Bajpai
कहां जाके लुकाबों
कहां जाके लुकाबों
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
💐प्रेम कौतुक-504💐
💐प्रेम कौतुक-504💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
*सबके लिए सबके हृदय में, प्रेम का शुभ गान दो【मुक्तक 】*
*सबके लिए सबके हृदय में, प्रेम का शुभ गान दो【मुक्तक 】*
Ravi Prakash
वर्तमान समय में रिश्तों की स्थिति पर एक टिप्पणी है। कवि कहता
वर्तमान समय में रिश्तों की स्थिति पर एक टिप्पणी है। कवि कहता
पूर्वार्थ
नव संवत्सर
नव संवत्सर
Manu Vashistha
प्रेम की बंसी बजे
प्रेम की बंसी बजे
DrLakshman Jha Parimal
कितना प्यार
कितना प्यार
Swami Ganganiya
वृद्धाश्रम में कुत्ता / by AFROZ ALAM
वृद्धाश्रम में कुत्ता / by AFROZ ALAM
Dr MusafiR BaithA
3248.*पूर्णिका*
3248.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
"दोस्ती का मतलब"
Radhakishan R. Mundhra
निगाहें
निगाहें
Sunanda Chaudhary
नीला सफेद रंग सच और रहस्य का सहयोग हैं
नीला सफेद रंग सच और रहस्य का सहयोग हैं
Neeraj Agarwal
✍️ शेखर सिंह
✍️ शेखर सिंह
शेखर सिंह
Love
Love
Kanchan Khanna
पयसी
पयसी
DR ARUN KUMAR SHASTRI
बैसाखी....
बैसाखी....
पंकज पाण्डेय सावर्ण्य
किसी नौजवान से
किसी नौजवान से
Shekhar Chandra Mitra
तेरे नयनों ने यह क्या जादू किया
तेरे नयनों ने यह क्या जादू किया
gurudeenverma198
तुम्हें लिखना आसान है
तुम्हें लिखना आसान है
Manoj Mahato
🌿🍀🌿🍀🌿🍀🌿🍀🌿🍀🌿🍀🌿🍀
🌿🍀🌿🍀🌿🍀🌿🍀🌿🍀🌿🍀🌿🍀
subhash Rahat Barelvi
**कुछ तो कहो**
**कुछ तो कहो**
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
आप जब तक दुःख के साथ भस्मीभूत नहीं हो जाते,तब तक आपके जीवन क
आप जब तक दुःख के साथ भस्मीभूत नहीं हो जाते,तब तक आपके जीवन क
Shweta Soni
भजन
भजन
सुरेखा कादियान 'सृजना'
हे परम पिता !
हे परम पिता !
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
प्रियवर
प्रियवर
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
Loading...