Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
14 Apr 2024 · 1 min read

जय जय दुर्गा माता

जय जय दुर्गा माता

दुर्गा माँ के नाम का,करें जाप जो भक्त।
कष्ट मिटें उनके सभी,सुखमय बीते वक्त।।
ओम प्रकाश श्रीवास्तव ओम

1 Like · 62 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
ये मन रंगीन से बिल्कुल सफेद हो गया।
ये मन रंगीन से बिल्कुल सफेद हो गया।
Dr. ADITYA BHARTI
मासुमियत - बेटी हूँ मैं।
मासुमियत - बेटी हूँ मैं।
ऐ./सी.राकेश देवडे़ बिरसावादी
🙅आज की बात🙅
🙅आज की बात🙅
*प्रणय प्रभात*
ममता
ममता
Dr. Pradeep Kumar Sharma
वृंदा तुलसी पेड़ स्वरूपा
वृंदा तुलसी पेड़ स्वरूपा
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
गाछ सभक लेल
गाछ सभक लेल
DrLakshman Jha Parimal
अपने सुख के लिए, दूसरों को कष्ट देना,सही मनुष्य पर दोषारोपण
अपने सुख के लिए, दूसरों को कष्ट देना,सही मनुष्य पर दोषारोपण
विमला महरिया मौज
DR Arun Kumar shastri
DR Arun Kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
कितना और सहे नारी ?
कितना और सहे नारी ?
Mukta Rashmi
सद्विचार
सद्विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
बेरोजगारी
बेरोजगारी
साहित्य गौरव
- दीवारों के कान -
- दीवारों के कान -
bharat gehlot
कभी कभी छोटी सी बात  हालात मुश्किल लगती है.....
कभी कभी छोटी सी बात हालात मुश्किल लगती है.....
Shashi kala vyas
बाल कविता :भीगी बिल्ली
बाल कविता :भीगी बिल्ली
Ravi Prakash
ज्ञान -दीपक
ज्ञान -दीपक
Pt. Brajesh Kumar Nayak
رام کے نام کی سب کو یہ دہائی دینگے
رام کے نام کی سب کو یہ دہائی دینگے
अरशद रसूल बदायूंनी
कभी जब नैन  मतवारे  किसी से चार होते हैं
कभी जब नैन मतवारे किसी से चार होते हैं
Dr Archana Gupta
"तन्हाई"
Dr. Kishan tandon kranti
कभी न दिखावे का तुम दान करना
कभी न दिखावे का तुम दान करना
Dr fauzia Naseem shad
बगिया के गाछी आउर भिखमंगनी बुढ़िया / MUSAFIR BAITHA
बगिया के गाछी आउर भिखमंगनी बुढ़िया / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
!! रक्षाबंधन का अभिनंदन!!
!! रक्षाबंधन का अभिनंदन!!
Chunnu Lal Gupta
वक़्त
वक़्त
विजय कुमार अग्रवाल
मातृदिवस
मातृदिवस
Satish Srijan
समझदार व्यक्ति जब संबंध निभाना बंद कर दे
समझदार व्यक्ति जब संबंध निभाना बंद कर दे
शेखर सिंह
एक डरा हुआ शिक्षक एक रीढ़विहीन विद्यार्थी तैयार करता है, जो
एक डरा हुआ शिक्षक एक रीढ़विहीन विद्यार्थी तैयार करता है, जो
Ranjeet kumar patre
मरने वालों का तो करते है सब ही खयाल
मरने वालों का तो करते है सब ही खयाल
shabina. Naaz
एक औरत की ख्वाहिश,
एक औरत की ख्वाहिश,
Shweta Soni
HAPPINESS!
HAPPINESS!
R. H. SRIDEVI
धर्म-कर्म (भजन)
धर्म-कर्म (भजन)
Sandeep Pande
ढूंढें .....!
ढूंढें .....!
Sangeeta Beniwal
Loading...