Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
21 Aug 2016 · 1 min read

जब वफ़ापर सवाल होता है

जब वफ़ा पर सवाल होता है
तब बुरा दिल का’ हाल होता है

बात से घात मत कभी करिए
खून में भी उबाल होता है

जब तलक हम सँभल नहीं पाते
फिर नया इक बवाल होता है

याद आता है बचपना जब भी
फिर वही सब धमाल होता है

कौन कितना हिसाब रक्खेगा
रोज ही गोलमाल होता है

दौर दौरों का’ चल पड़ा है अब
रोज कोई हलाल होता है

कौन आता है’ रोज यूँ छत पर
बारिशों में कमाल होता है

हाल होता ख़राब शहरों का
चोर जब कोतवाल होता है

वक्त मिलता न आँसुओं को तब
हाथ में जब रुमाल होता है

हो अगर दिल बुझा बुझा सा तो
गीत में सुर न ताल होता है

204 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from बसंत कुमार शर्मा
View all
You may also like:
खुशबू बन कर
खुशबू बन कर
Surinder blackpen
बेबाक ज़िन्दगी
बेबाक ज़िन्दगी
Neelam Sharma
1. चाय
1. चाय
Rajeev Dutta
पिनाका
पिनाका
Utkarsh Dubey “Kokil”
आज बहुत याद करता हूँ ।
आज बहुत याद करता हूँ ।
Nishant prakhar
"जय जवान जय किसान" - आर्टिस्ट (कुमार श्रवण)
Shravan singh
I love to vanish like that shooting star.
I love to vanish like that shooting star.
Manisha Manjari
प्रेम प्रणय मधुमास का पल
प्रेम प्रणय मधुमास का पल
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
बदलते चेहरे हैं
बदलते चेहरे हैं
Dr fauzia Naseem shad
आ रहे हैं बुद्ध
आ रहे हैं बुद्ध
Shekhar Chandra Mitra
आशाओं के दीप जलाए थे मैने
आशाओं के दीप जलाए थे मैने
Ram Krishan Rastogi
मयस्सर नहीं अदब..
मयस्सर नहीं अदब..
Vijay kumar Pandey
जीवनी स्थूल है/सूखा फूल है
जीवनी स्थूल है/सूखा फूल है
Pt. Brajesh Kumar Nayak
माँ सच्ची संवेदना, माँ कोमल अहसास।
माँ सच्ची संवेदना, माँ कोमल अहसास।
डॉ.सीमा अग्रवाल
■ हास्य के रंग : व्यंग्य के संग
■ हास्य के रंग : व्यंग्य के संग
*Author प्रणय प्रभात*
पिता का पेंसन
पिता का पेंसन
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
मैथिली भाषाक मुक्तक / शायरी
मैथिली भाषाक मुक्तक / शायरी
Binit Thakur (विनीत ठाकुर)
ग़ज़ल
ग़ज़ल
rekha mohan
वह ठहर जाएगा ❤️
वह ठहर जाएगा ❤️
Rohit yadav
इजाज़त है तुम्हें दिल मेरा अब तोड़ जाने की ।
इजाज़त है तुम्हें दिल मेरा अब तोड़ जाने की ।
Phool gufran
World Hypertension Day
World Hypertension Day
Tushar Jagawat
2324.पूर्णिका
2324.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
The magic of your eyes, the downpour of your laughter,
The magic of your eyes, the downpour of your laughter,
Shweta Chanda
💝एक अबोध बालक💝
💝एक अबोध बालक💝
DR ARUN KUMAR SHASTRI
ज़िन्दगी चल नए सफर पर।
ज़िन्दगी चल नए सफर पर।
Taj Mohammad
मेरा जीवन,मेरी सांसे सारा तोहफा तेरे नाम। मौसम की रंगीन मिज़ाजी,पछुवा पुरवा तेरे नाम। ❤️
मेरा जीवन,मेरी सांसे सारा तोहफा तेरे नाम। मौसम की रंगीन मिज़ाजी,पछुवा पुरवा तेरे नाम। ❤️
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
If you ever need to choose between Love & Career
If you ever need to choose between Love & Career
पूर्वार्थ
*।।ॐ।।*
*।।ॐ।।*
Satyaveer vaishnav
क्षमा
क्षमा
Saraswati Bajpai
*जीवन में प्रभु दीजिए, नया सदा उत्साह (सात दोहे)*
*जीवन में प्रभु दीजिए, नया सदा उत्साह (सात दोहे)*
Ravi Prakash
Loading...