Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
8 Jul 2016 · 1 min read

जगमगायेगा जुगनू मै ठानता हू माँ

मै तेरी हर बात दिल से मानता हू माँ !
तेरे दुःख दर्द सपने मै जानता हू माँ !!

वादा करता हू तुझसे वो कर जाउगा ,
जगमगायेगा जुगनू मै ठानता हू माँ !!

तेरे बताये मार्ग पर हि चल रहा ,
भाई को बच्चो सा पालता हू माँ !!

मेहनत इमानदारी दया कर रहा ,
पेड़ पौधों को पानी डालता हू माँ !

शब्द आते है दिल में पिरो देता हू ,
अपने आप को मै निखारता हू माँ !

जब याद आती है चुपके से रो लेता हू ,
दिन में दस बार तुझको निहारता हू माँ !!

Language: Hindi
Tag: गीत
293 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
*मजदूर*
*मजदूर*
Shashi kala vyas
हमारी समस्या का समाधान केवल हमारे पास हैl
हमारी समस्या का समाधान केवल हमारे पास हैl
Ranjeet kumar patre
अलमस्त रश्मियां
अलमस्त रश्मियां
विनोद वर्मा ‘दुर्गेश’
वर्तमान लोकतंत्र
वर्तमान लोकतंत्र
Shyam Sundar Subramanian
सच ही सच
सच ही सच
Neeraj Agarwal
बस चार है कंधे
बस चार है कंधे
साहित्य गौरव
पेट भरता नहीं
पेट भरता नहीं
Dr fauzia Naseem shad
समय बदल रहा है..
समय बदल रहा है..
ओनिका सेतिया 'अनु '
जब तक मन इजाजत देता नहीं
जब तक मन इजाजत देता नहीं
ruby kumari
दो कदम लक्ष्य की ओर लेकर चलें।
दो कदम लक्ष्य की ओर लेकर चलें।
surenderpal vaidya
प्यार के लिए संघर्ष
प्यार के लिए संघर्ष
Shekhar Chandra Mitra
प्रेम की डोर सदैव नैतिकता की डोर से बंधती है और नैतिकता सत्क
प्रेम की डोर सदैव नैतिकता की डोर से बंधती है और नैतिकता सत्क
Sanjay ' शून्य'
💐प्रेम कौतुक-545💐
💐प्रेम कौतुक-545💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
जीवन में सारा खेल, बस विचारों का है।
जीवन में सारा खेल, बस विचारों का है।
Shubham Pandey (S P)
3026.*पूर्णिका*
3026.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
"अपराध का ग्राफ"
Dr. Kishan tandon kranti
■ आज का विचार
■ आज का विचार
*Author प्रणय प्रभात*
बैठकर अब कोई आपकी कहानियाँ नहीं सुनेगा
बैठकर अब कोई आपकी कहानियाँ नहीं सुनेगा
DrLakshman Jha Parimal
फितरत अमिट जन एक गहना
फितरत अमिट जन एक गहना
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
उम्मीद और हौंसला, हमेशा बनाये रखना
उम्मीद और हौंसला, हमेशा बनाये रखना
gurudeenverma198
कर्म कांड से बचते बचाते.
कर्म कांड से बचते बचाते.
Mahender Singh
नाव मेरी
नाव मेरी
DR ARUN KUMAR SHASTRI
मुद्रा नियमित शिक्षण
मुद्रा नियमित शिक्षण
AJAY AMITABH SUMAN
आकाश के नीचे
आकाश के नीचे
मनमोहन लाल गुप्ता 'अंजुम'
अजीब करामात है
अजीब करामात है
शेखर सिंह
*जिंदगी तब तक सही है, देह में उत्साह है (मुक्तक)*
*जिंदगी तब तक सही है, देह में उत्साह है (मुक्तक)*
Ravi Prakash
👉अगर तुम घन्टो तक उसकी ब्रेकअप स्टोरी बिना बोर हुए सुन लेते
👉अगर तुम घन्टो तक उसकी ब्रेकअप स्टोरी बिना बोर हुए सुन लेते
पूर्वार्थ
प्रेम ...
प्रेम ...
sushil sarna
Winner
Winner
Paras Nath Jha
दूसरा मौका
दूसरा मौका
हिमांशु बडोनी (दयानिधि)
Loading...