Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Aug 9, 2016 · 1 min read

गीत :– ये जुल्फें ये आँखें ये होठों की लाली !!

गीत :– ये जुल्फें ये आँखें ये होठों की लाली !!

ये जुल्फें ये आँखें ये होठों की लाली !
खुदा नें है बख्शा या तूने चुरा ली!!

दहकता ये जौवन ..ये झूमे बदन है !
ना दिल में तपन है ना माथे शिकन है !!
सागर मे खिलता गुलाबी कमल ज्यों ;
चहरे पे रौनक वो दीवानापन है !!

ये नाक की नथनी ये कानों की बाली !
खुदा नें है बख्शा या तू नें चुरा ली !!

सांसों से तेरी ये महका चमन है !
नजाकत निगाहों में एक आवरण है !
सितारे ये पूछें जमीं में उतर कर ;
परी है या कोई कली गुलबदन है !!

ये आहें ये सांसें ये बातें निराली !
खुदा नें है बख्शा या तूने चुरा ली !!

कवि :– अनुज तिवारी “इन्दवार”

1 Like · 5 Comments · 2530 Views
You may also like:
प्रिय सुनो!
Shailendra Aseem
【21】 *!* क्या आप चंदन हैं ? *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
♡ चाय की तलब ♡
Dr. Alpa H. Amin
सपना
AMRESH KUMAR VERMA
मदिरा और मैं
Sidhant Sharma
विश्व पृथ्वी दिवस
Dr Archana Gupta
आज नहीं तो कल होगा / (समकालीन गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
भोपाल गैस काण्ड
Shriyansh Gupta
✍️जुर्म संगीन था...✍️
"अशांत" शेखर
शायद...
Dr. Alpa H. Amin
पर्यावरण और मानव
मनमोहन लाल गुप्ता अंजुम
फ़नकार समझते हैं Ghazal by Vinit Singh Shayar
Vinit Singh
✍️टिकमार्क✍️
"अशांत" शेखर
तमन्नाओं का संसार
DESH RAJ
जलियांवाला बाग
Shriyansh Gupta
चौंक पड़ती हैं सदियाॅं..
Rashmi Sanjay
मजदूर की अंतर्व्यथा
Shyam Sundar Subramanian
काबुल का दंश
डा. सूर्यनारायण पाण्डेय
" शीतल कूलर
Dr Meenu Poonia
डरता हूं
dks.lhp
✍️स्त्री : दोन बाजु✍️
"अशांत" शेखर
संकोच - कहानी
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
इन्तजार किया करतें हैं
शिव प्रताप लोधी
भगवान परशुराम
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
💐💐प्रेम की राह पर-12💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
गुलामी के पदचिन्ह
मनोज कर्ण
"पिता और शौर्य"
Lohit Tamta
दिल टूट करके।
Taj Mohammad
क्यों भिगोते हो रुखसार को।
Taj Mohammad
यही है भीम की महिमा
Jatashankar Prajapati
Loading...