Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
22 Jun 2023 · 1 min read

गाँव सहर मे कोन तीत कोन मीठ! / MUSAFIR BAITHA

कहई छी गाँव हमरा तनिको न सोहाय
कनखे दुब्बरो जात-भात के बल पर मोटाय
अन्हरा पोठिया टेंगरा सेहो टेढ़िआए गुर्राए
सहर में तनी मनी बचे के हैबो करई उपाय
गाँव में बड़ा कठिन रहला-सहला हो भाय
कइसे कोई भलादमी अप्पन इज्जत बचाय
सहर में गुज्जर तS नेम-कानून संभवो कराये
देहात में जाति-दबंग कानूने के दांती लगाय
ओकरा ताखा पर रख के ठिठियाय मुसकाय

निम्मन तS वोइसे न सहरे हई न गांवे हई
माय न बाप जेकरा कोन कहाँ पूछई छई
कमजोर के डेंग डेंग पर गाँव में परेसानी हई
गरीब के घरबाली सबके भउजाई होई छई

Language: Maithili
350 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr MusafiR BaithA
View all
You may also like:
शब्द
शब्द
लक्ष्मी सिंह
समय बहुत है,
समय बहुत है,
Parvat Singh Rajput
रूठी हूं तुझसे
रूठी हूं तुझसे
Surinder blackpen
मन की पीड़ा क
मन की पीड़ा क
Neeraj Agarwal
18- ऐ भारत में रहने वालों
18- ऐ भारत में रहने वालों
Ajay Kumar Vimal
💐प्रेम कौतुक-317💐
💐प्रेम कौतुक-317💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
मैं तो महज आईना हूँ
मैं तो महज आईना हूँ
VINOD CHAUHAN
"आँगन की तुलसी"
Ekta chitrangini
जीवन के पल दो चार
जीवन के पल दो चार
Bodhisatva kastooriya
पिया बिन सावन की बात क्या करें
पिया बिन सावन की बात क्या करें
Devesh Bharadwaj
कभी गिरने नहीं देती
कभी गिरने नहीं देती
shabina. Naaz
"आइडिया"
Dr. Kishan tandon kranti
हिन्दी दोहा- बिषय- कौड़ी
हिन्दी दोहा- बिषय- कौड़ी
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
2799. *पूर्णिका*
2799. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
मंजिलें
मंजिलें
Mukesh Kumar Sonkar
If you want to be in my life, I have to give you two news...
If you want to be in my life, I have to give you two news...
पूर्वार्थ
******** प्रेम भरे मुक्तक *********
******** प्रेम भरे मुक्तक *********
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
*देह का दबाव*
*देह का दबाव*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
एक अच्छी हीलर, उपचारक होती हैं स्त्रियां
एक अच्छी हीलर, उपचारक होती हैं स्त्रियां
Manu Vashistha
प्राचीन दोस्त- निंब
प्राचीन दोस्त- निंब
दिनेश एल० "जैहिंद"
चंद्रकक्षा में भेज रहें हैं।
चंद्रकक्षा में भेज रहें हैं।
Aruna Dogra Sharma
हमेशा सच बोलने का इक तरीका यह भी है कि
हमेशा सच बोलने का इक तरीका यह भी है कि
Aarti sirsat
टेढ़ी ऊंगली
टेढ़ी ऊंगली
Dr. Pradeep Kumar Sharma
*जरा सोचो तो जादू की तरह होती हैं बरसातें (मुक्तक) *
*जरा सोचो तो जादू की तरह होती हैं बरसातें (मुक्तक) *
Ravi Prakash
स्वयं से सवाल
स्वयं से सवाल
आनन्द मिश्र
सर-ए-बाजार पीते हो...
सर-ए-बाजार पीते हो...
आकाश महेशपुरी
आप समझिये साहिब कागज और कलम की ताकत हर दुनिया की ताकत से बड़ी
आप समझिये साहिब कागज और कलम की ताकत हर दुनिया की ताकत से बड़ी
शेखर सिंह
खुद की नज़रों में भी
खुद की नज़रों में भी
Dr fauzia Naseem shad
Rap song 【4】 - पटना तुम घुमाया
Rap song 【4】 - पटना तुम घुमाया
Nishant prakhar
पाप बढ़ा वसुधा पर भीषण, हस्त कृपाण  कटार  धरो माँ।
पाप बढ़ा वसुधा पर भीषण, हस्त कृपाण कटार धरो माँ।
संजीव शुक्ल 'सचिन'
Loading...