Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
9 Mar 2019 · 1 min read

ग़ज़ल

——ग़ज़ल—–
तुम्हारे वास्ते दुनिया भुलाए बैठे हैं
ये रोग इश्क़ का दिल को लगाए बैठे हैं

तुम्हारे पाँव में काँटा न चुभने पाएगा
चले भी आओ कि हम दिल बिछाए बैठे हैं

ख़ुशी जहां की मयस्सर तुम्हे हो ऐ दिलबर
तुम्हारे ग़म को हम अपना बनाए बैठे हैं

हमारी मंज़िले-मक़सूद हो तुम्ही जानां
तुम्ही पे जान ये अपनी लुटाए बैठे हैं

हमारी रात ग़ुज़रती तुम्हारे ख़्वाबों में
तुम्हे ही अपनी नज़र में बसाए बैठे हैं

वो कौन शाम है जिस दिन मिलोगे तुम हमसे
ये बज़्म प्यार का कब से सजाए बैठे हैं

कभी तो आओ ऐ “प्रीतम” हमारी गुलशन में
हज़ारों ख़ुशियों के गुल हम खिलाए बैठे हैं

प्रीतम राठौर भिनगाई
श्रावस्ती (उ०प्र०)

263 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from प्रीतम श्रावस्तवी
View all
You may also like:
प्रेम तो हर कोई चाहता है;
प्रेम तो हर कोई चाहता है;
Dr Manju Saini
पेड़ लगाओ पर्यावरण बचाओ
पेड़ लगाओ पर्यावरण बचाओ
Buddha Prakash
महाराणा सांगा
महाराणा सांगा
Ajay Shekhavat
"प्रेम के पानी बिन"
Dr. Kishan tandon kranti
फागुन में.....
फागुन में.....
Awadhesh Kumar Singh
I am not born,
I am not born,
Ankita Patel
जाने के बाद .....लघु रचना
जाने के बाद .....लघु रचना
sushil sarna
प्रेम पर शब्दाडंबर लेखकों का / MUSAFIR BAITHA
प्रेम पर शब्दाडंबर लेखकों का / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
💐प्रेम कौतुक-295💐
💐प्रेम कौतुक-295💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
प्रेम
प्रेम
बिमल तिवारी “आत्मबोध”
■ आज का विचार-
■ आज का विचार-
*Author प्रणय प्रभात*
Mai apni wasiyat tere nam kar baithi
Mai apni wasiyat tere nam kar baithi
Sakshi Tripathi
प्रेम दिवानों  ❤️
प्रेम दिवानों ❤️
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
Feel of love
Feel of love
Shutisha Rajput
दिसम्बर की रातों ने बदल दिया कैलेंडर /लवकुश यादव
दिसम्बर की रातों ने बदल दिया कैलेंडर /लवकुश यादव "अज़ल"
लवकुश यादव "अज़ल"
वेलेंटाइन डे की प्रासंगिकता
वेलेंटाइन डे की प्रासंगिकता
मनोज कर्ण
ज्ञान तो बहुत लिखा है किताबों में
ज्ञान तो बहुत लिखा है किताबों में
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
"बेटी और बेटा"
Ekta chitrangini
हिंदी माता की आराधना
हिंदी माता की आराधना
ओनिका सेतिया 'अनु '
#हाइकू ( #लोकमैथिली )
#हाइकू ( #लोकमैथिली )
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
*शीत ऋतु (गीत)*
*शीत ऋतु (गीत)*
Ravi Prakash
दीपावली की असीम शुभकामनाओं सहित अर्ज किया है ------
दीपावली की असीम शुभकामनाओं सहित अर्ज किया है ------
सिद्धार्थ गोरखपुरी
होने को अब जीवन की है शाम।
होने को अब जीवन की है शाम।
Anil Mishra Prahari
23/20.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/20.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
जाने क्यों तुमसे मिलकर भी
जाने क्यों तुमसे मिलकर भी
Sunil Suman
नमो-नमो
नमो-नमो
Bodhisatva kastooriya
"खिलौने"
Dr Meenu Poonia
रमेशराज की जनकछन्द में तेवरियाँ
रमेशराज की जनकछन्द में तेवरियाँ
कवि रमेशराज
कलंकित मानवता
कलंकित मानवता
Shekhar Chandra Mitra
मुद्रा नियमित शिक्षण
मुद्रा नियमित शिक्षण
AJAY AMITABH SUMAN
Loading...