Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
3 May 2024 · 1 min read

गर्मी की छुट्टियां

छुट्टियों की रानी होती हैं गर्मी की छुट्टियां ।
बच्चों का इंतजार होती हैं गर्मी की छुट्टियां।

दादा दादी का दुलार होती हैं गर्मी की छुट्टियां ।
नाना नानी का आंगन पुकारती है गर्मी की छुट्टियां।

समर कैंप थीम वाली गर्मी की छुट्टियां।
डांस क्लास और आर्ट एंड क्राफ्ट वाली गर्मी की छुट्टियां।

अपने हॉब्बीस की लिस्ट बढ़ाती गर्मी की छुट्टियां।
आइसक्रीम और बर्फ गोले को पुकारती गर्मी की छुट्टियां।

आचार और मुरब्बा वाली गर्मी की छुट्टियां।
कूलर से हवा फैलाती गर्मी की छुट्टियां।

दोपहर को नींद वाली गर्मी की छुट्टियां।
कॉटन ड्रेस पर खर्च कराती गर्मी की छुट्टियां।

दोस्तों को मिस करवाती गर्मी की छुट्टियां।
यूनिफॉर्म स्कूल बैग को निहारती गर्मी की छुट्टियां।

नए क्लास की तैयारी कराती गर्मी की छुट्टियां।
फिर से स्कूल खुलने के इंतजार में गर्मी की छुट्टियां।

लक्ष्मी वर्मा ‘प्रतीक्षा’
खरियार रोड, ओड़िशा।

Language: Hindi
34 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
दोहा- दिशा
दोहा- दिशा
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
आज इंसान के चेहरे पर चेहरे,
आज इंसान के चेहरे पर चेहरे,
Neeraj Agarwal
जीवन है बस आँखों की पूँजी
जीवन है बस आँखों की पूँजी
Suryakant Dwivedi
**हो गया हूँ दर बदर चाल बदली देख कर**
**हो गया हूँ दर बदर चाल बदली देख कर**
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
प्रकृति
प्रकृति
Bodhisatva kastooriya
आंखें मूंदे हैं
आंखें मूंदे हैं
इंजी. संजय श्रीवास्तव
दुर्योधन को चेतावनी
दुर्योधन को चेतावनी
SHAILESH MOHAN
फूल
फूल
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
सच्ची प्रीत
सच्ची प्रीत
Dr. Upasana Pandey
सत्य की खोज
सत्य की खोज
SHAMA PARVEEN
है यही मुझसे शिकायत आपकी।
है यही मुझसे शिकायत आपकी।
सत्य कुमार प्रेमी
अपनी सोच का शब्द मत दो
अपनी सोच का शब्द मत दो
Mamta Singh Devaa
आंसुओं के समंदर
आंसुओं के समंदर
अरशद रसूल बदायूंनी
“अनोखी शादी” ( संस्मरण फौजी -मिथिला दर्शन )
“अनोखी शादी” ( संस्मरण फौजी -मिथिला दर्शन )
DrLakshman Jha Parimal
आम जन को 80 दिनों का
आम जन को 80 दिनों का "प्रतिबंध-काल" मुबारक हो।
*प्रणय प्रभात*
मैं और सिर्फ मैं ही
मैं और सिर्फ मैं ही
Lakhan Yadav
आस्था और चुनौती
आस्था और चुनौती
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
*दृष्टि में बस गई, कैकई-मंथरा (हिंदी गजल)*
*दृष्टि में बस गई, कैकई-मंथरा (हिंदी गजल)*
Ravi Prakash
प्रेम
प्रेम
Sanjay ' शून्य'
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
अन-मने सूखे झाड़ से दिन.
अन-मने सूखे झाड़ से दिन.
sushil yadav
आदमी की आँख
आदमी की आँख
Dr. Kishan tandon kranti
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
बुद्धिमान हर बात पर,
बुद्धिमान हर बात पर,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
2928.*पूर्णिका*
2928.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
अपनी इस तक़दीर पर हरपल भरोसा न करो ।
अपनी इस तक़दीर पर हरपल भरोसा न करो ।
Phool gufran
ଅନୁଶାସନ
ଅନୁଶାସନ
Bidyadhar Mantry
अपने
अपने
Adha Deshwal
अधूरी दास्तान
अधूरी दास्तान
हिमांशु बडोनी (दयानिधि)
हिन्दी दिवस
हिन्दी दिवस
Mahender Singh
Loading...