Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
5 May 2024 · 1 min read

कोशिश करना आगे बढ़ना

कोशिश करना आगे बढ़ना , तेरा यही प्रयास हो
मुश्किलों से तू न डरना , हौसलों की आस हो

रहना सजग तुम हमेशा , खामोशी का न साथ हो
कीर्ति पताका फहरे तुम्हारी , सिर पर गगन विशाल हो

डरना नहीं तुम आँधियों से , साहस तुम्हारे साथ हो
विषाद से तुम दूर रहना , धैर्य तेरे साथ हो

आदर्शों की गंगा बहाओ , संस्कार तेरे साथ हो
हे मानव तुम हो प्रतापी , उस परमेश्वर की संतान हो

रखना बचा खुद को जहां से , सत्मार्ग तेरी राह हो
विरले विचारों से तू दमके , धरोहर तेरी अपार हो

सरिता सी पावन कीर्ति तेरी , महिमा तेरी अपार हो
चमके सितारा बुलंदियों पर , तुझ पर समय की न मार हो

हे मानव पुण्यमूर्ति तुम , ह्रदय तेरा विशाल हो
चर्चा तेरी दोनों जहां में , उस प्रभु का तुझ पर हाथ हो

कोशिश करना आगे बढ़ना , तेरा यही प्रयास हो
मुश्किलों से तू न डरना , हौसलों की आस हो

कोशिश करना आगे बढ़ना , तेरा यही प्रयास हो
मुश्किलों से तू न डरना , हौसलों की आस हो

रहना सजग तुम हमेशा , खामोशी का न साथ हो
कीर्ति पताका फहरे तुम्हारी , सिर पर गगन विशाल हो

अनिल कुमार गुप्ता “अंजुम”

30 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
View all
You may also like:
रंजीत कुमार शुक्ल
रंजीत कुमार शुक्ल
Ranjeet kumar Shukla
सावन में शिव गुणगान
सावन में शिव गुणगान
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
-शेखर सिंह
-शेखर सिंह
शेखर सिंह
ब्रज के एक सशक्त हस्ताक्षर लोककवि रामचरन गुप्त +प्रोफेसर अशोक द्विवेदी
ब्रज के एक सशक्त हस्ताक्षर लोककवि रामचरन गुप्त +प्रोफेसर अशोक द्विवेदी
कवि रमेशराज
Nature ‘there’, Nurture ‘here'( HOMEMAKER)
Nature ‘there’, Nurture ‘here'( HOMEMAKER)
Poonam Matia
■ आज का चिंतन...
■ आज का चिंतन...
*प्रणय प्रभात*
वफ़ाओं की खुशबू मुझ तक यूं पहुंच जाती है,
वफ़ाओं की खुशबू मुझ तक यूं पहुंच जाती है,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
तुम्हारे महबूब के नाजुक ह्रदय की तड़पती नसों की कसम।
तुम्हारे महबूब के नाजुक ह्रदय की तड़पती नसों की कसम।
★ IPS KAMAL THAKUR ★
बरगद पीपल नीम तरु
बरगद पीपल नीम तरु
लक्ष्मी सिंह
भीगी पलकें...
भीगी पलकें...
Naushaba Suriya
याद रखना
याद रखना
Dr fauzia Naseem shad
महफिल में तनहा जले, खूब हुए बदनाम ।
महफिल में तनहा जले, खूब हुए बदनाम ।
sushil sarna
गांव
गांव
Bodhisatva kastooriya
रास्ता तुमने दिखाया...
रास्ता तुमने दिखाया...
डॉ.सीमा अग्रवाल
मैं तो महज शराब हूँ
मैं तो महज शराब हूँ
VINOD CHAUHAN
*मन के मीत किधर है*
*मन के मीत किधर है*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
If our kids do not speak their mother tongue, we force them
If our kids do not speak their mother tongue, we force them
DrLakshman Jha Parimal
कोई ऐसा बोलता है की दिल में उतर जाता है
कोई ऐसा बोलता है की दिल में उतर जाता है
कवि दीपक बवेजा
तेरा इश्क मेरे दिल की दवा है।
तेरा इश्क मेरे दिल की दवा है।
Rj Anand Prajapati
कुछ लोगों का प्यार जिस्म की जरुरत से कहीं ऊपर होता है...!!
कुछ लोगों का प्यार जिस्म की जरुरत से कहीं ऊपर होता है...!!
Ravi Betulwala
संवेदना सुप्त हैं
संवेदना सुप्त हैं
Namrata Sona
खुला खत नारियों के नाम
खुला खत नारियों के नाम
Dr. Kishan tandon kranti
*
*"वो भी क्या दिवाली थी"*
Shashi kala vyas
मुड़े पन्नों वाली किताब
मुड़े पन्नों वाली किताब
Surinder blackpen
वैनिटी बैग
वैनिटी बैग
Awadhesh Singh
गीत प्रतियोगिता के लिए
गीत प्रतियोगिता के लिए
Manisha joshi mani
जन्म से मरन तक का सफर
जन्म से मरन तक का सफर
Vandna Thakur
बोले सब सर्दी पड़ी (हास्य कुंडलिया)
बोले सब सर्दी पड़ी (हास्य कुंडलिया)
Ravi Prakash
गुजरे हुए वक्त की स्याही से
गुजरे हुए वक्त की स्याही से
Karishma Shah
मेरा प्रदेश
मेरा प्रदेश
इंजी. संजय श्रीवास्तव
Loading...