Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
17 Feb 2024 · 1 min read

करूँ प्रकट आभार।

करूँ प्रकट आभार।

नूतन-किसलय, पुष्प-मनोरम
कलियों के मुख लाली,
केसर, परिमल,पवन-झकोरे
रची लचीली डाली।

भ्रमरों का गुंजार
करूँ प्रकट आभार।

झरनों में आता पर्वत से
छनकर निर्मल पानी,
भूतल ने पाया है रब से
दरिया और रवानी।

बेशुमार जलधार
करूँ प्रकट आभार।

अम्बर को दे मेघ घनेरे
धरती को नहलाया,
बीजों में भरकर जीवन-रस
खेतों को महकाया।

मिला अन्न-भंडार
करूँ प्रकट आभार।

ज्योतिपुंज से दूर निरंतर
तम की परतें काली,
करते आये हो युग-युग से
तू जग की रखवाली।

लिए कई अवतार
करूँ प्रकट आभार।

अवलोकन को लोचन सुन्दर
वाणी दी अनमोल,
बढ़ने को दीं बन्द सभी की
राहें तत्क्षण खोल।

नतमस्तक संसार
करूँ प्रकट आभार।

अनिल मिश्र प्रहरी ।

Language: Hindi
112 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Anil Mishra Prahari
View all
You may also like:
बाबूजी
बाबूजी
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
शरीफों में शराफ़त भी दिखाई हमने,
शरीफों में शराफ़त भी दिखाई हमने,
Ravi Betulwala
वह एक वस्तु,
वह एक वस्तु,
Shweta Soni
इक क़तरा की आस है
इक क़तरा की आस है
kumar Deepak "Mani"
इस संसार में क्या शुभ है और क्या अशुभ है
इस संसार में क्या शुभ है और क्या अशुभ है
शेखर सिंह
सीख ना पाए पढ़के उन्हें हम
सीख ना पाए पढ़के उन्हें हम
The_dk_poetry
3 *शख्सियत*
3 *शख्सियत*
Dr .Shweta sood 'Madhu'
🤔🤔🤔समाज 🤔🤔🤔
🤔🤔🤔समाज 🤔🤔🤔
Slok maurya "umang"
नदिया के पार (सिनेमा) / MUSAFIR BAITHA
नदिया के पार (सिनेमा) / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
हर महीने में कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को मासिक शिवरात्रि
हर महीने में कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को मासिक शिवरात्रि
Shashi kala vyas
"साफ़गोई" ग़ज़ल
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
Dr Arun Kumar shastri
Dr Arun Kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
जीवन मंत्र वृक्षों के तंत्र होते हैं
जीवन मंत्र वृक्षों के तंत्र होते हैं
Neeraj Agarwal
2805. *पूर्णिका*
2805. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
कोशिश करना आगे बढ़ना
कोशिश करना आगे बढ़ना
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
वेला है गोधूलि की , सबसे अधिक पवित्र (कुंडलिया)
वेला है गोधूलि की , सबसे अधिक पवित्र (कुंडलिया)
Ravi Prakash
रिश्ते
रिश्ते
पूर्वार्थ
नन्दी बाबा
नन्दी बाबा
Anil chobisa
याद दिल में जब जब तेरी आईं
याद दिल में जब जब तेरी आईं
krishna waghmare , कवि,लेखक,पेंटर
चंदा का अर्थशास्त्र
चंदा का अर्थशास्त्र
Dr. Pradeep Kumar Sharma
होली के मजे अब कुछ खास नही
होली के मजे अब कुछ खास नही
Rituraj shivem verma
//  जनक छन्द  //
// जनक छन्द //
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
Gazal
Gazal
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
#ग़ज़ल-
#ग़ज़ल-
*प्रणय प्रभात*
जन मन में हो उत्कट चाह
जन मन में हो उत्कट चाह
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
* खिल उठती चंपा *
* खिल उठती चंपा *
surenderpal vaidya
देह माटी की 'नीलम' श्वासें सभी उधार हैं।
देह माटी की 'नीलम' श्वासें सभी उधार हैं।
Neelam Sharma
हर कोई समझ ले,
हर कोई समझ ले,
Yogendra Chaturwedi
वाणी
वाणी
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
फेसबुक
फेसबुक
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
Loading...