Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 Apr 2024 · 1 min read

“कंचे का खेल”

“कंचे का खेल”
कंचे का खेल बड़े गजब के
दसियों साथ खेल जाते,
गाँव गली चौक चौराहों में
बच्चे खेलते दिख जाते।
भूले बिसरे बचपन लोगों को
अब भी याद आते,
खुशी डुग्गू आदि शुभ सब
सपनों में दिख जाते।

1 Like · 1 Comment · 37 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr. Kishan tandon kranti
View all
You may also like:
"मुश्किल वक़्त और दोस्त"
Lohit Tamta
संस्कार
संस्कार
Sanjay ' शून्य'
अनेक रंग जिंदगी के
अनेक रंग जिंदगी के
Surinder blackpen
देखा है।
देखा है।
Shriyansh Gupta
मधुशाला में लोग मदहोश नजर क्यों आते हैं
मधुशाला में लोग मदहोश नजर क्यों आते हैं
कवि दीपक बवेजा
टूटा हुआ ख़्वाब हूॅ॑ मैं
टूटा हुआ ख़्वाब हूॅ॑ मैं
VINOD CHAUHAN
मेरी पेशानी पे तुम्हारा अक्स देखकर लोग,
मेरी पेशानी पे तुम्हारा अक्स देखकर लोग,
Shreedhar
रंगों के पावन पर्व होली की आप सभी को हार्दिक बधाइयाँ एवं शुभ
रंगों के पावन पर्व होली की आप सभी को हार्दिक बधाइयाँ एवं शुभ
आर.एस. 'प्रीतम'
तसल्ली मुझे जीने की,
तसल्ली मुझे जीने की,
Vishal babu (vishu)
दिल में मदद
दिल में मदद
Dr fauzia Naseem shad
इधर उधर की हांकना छोड़िए।
इधर उधर की हांकना छोड़िए।
ओनिका सेतिया 'अनु '
मैं तुलसी तेरे आँगन की
मैं तुलसी तेरे आँगन की
Shashi kala vyas
तेरे लिखे में आग लगे / © MUSAFIR BAITHA
तेरे लिखे में आग लगे / © MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
ध्वनि प्रदूषण कर दो अब कम
ध्वनि प्रदूषण कर दो अब कम
Buddha Prakash
दुनिया में कुछ चीजे कभी नही मिटाई जा सकती, जैसे कुछ चोटे अपन
दुनिया में कुछ चीजे कभी नही मिटाई जा सकती, जैसे कुछ चोटे अपन
Soniya Goswami
काश
काश
Sidhant Sharma
भतीजी (लाड़ो)
भतीजी (लाड़ो)
Kanchan Alok Malu
सफल सारथी  अश्व की,
सफल सारथी अश्व की,
sushil sarna
"विस्तार"
Dr. Kishan tandon kranti
मजबूरियां थी कुछ हमारी
मजबूरियां थी कुछ हमारी
gurudeenverma198
💐मैं हूँ तुम्हारी मन्नतों में💐
💐मैं हूँ तुम्हारी मन्नतों में💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
*दादा-दादी (बाल कविता)*
*दादा-दादी (बाल कविता)*
Ravi Prakash
ये भी क्या जीवन है,जिसमें श्रृंगार भी किया जाए तो किसी के ना
ये भी क्या जीवन है,जिसमें श्रृंगार भी किया जाए तो किसी के ना
Shweta Soni
"मित्र से वार्ता"
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
"जब आपका कोई सपना होता है, तो
Manoj Kushwaha PS
आधुनिक हिन्दुस्तान
आधुनिक हिन्दुस्तान
SURYA PRAKASH SHARMA
◆हरे-भरे रहने के लिए ज़रूरी है जड़ से जुड़े रहना।
◆हरे-भरे रहने के लिए ज़रूरी है जड़ से जुड़े रहना।
*प्रणय प्रभात*
पंचायती राज दिवस
पंचायती राज दिवस
Bodhisatva kastooriya
कया बताएं 'गालिब'
कया बताएं 'गालिब'
Mr.Aksharjeet
" अब कोई नया काम कर लें "
DrLakshman Jha Parimal
Loading...