Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
28 Mar 2024 · 1 min read

“एकान्त”

हँसाता है कभी रुलाता है
मेरा मन नहीं दुखाता है
कुछ बेहतर करने को
अक्सर ही कह जाता है
कभी मेरे अपनों से
तो कभी खुद से मिलाता है
लोग कुछ भी कहें मगर
वो बहुत सभ्रान्त है,
सच कहूँ तो
मेरा योग्य साथी एकान्त है।

डॉ. किशन टण्डन क्रान्ति
साहित्य वाचस्पति
भारत भूषण सम्मान प्राप्त।

Language: Hindi
1 Like · 1 Comment · 41 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr. Kishan tandon kranti
View all
You may also like:
मेरे विचार
मेरे विचार
Anju
गम
गम
इंजी. संजय श्रीवास्तव
जी चाहता है रूठ जाऊँ मैं खुद से..
जी चाहता है रूठ जाऊँ मैं खुद से..
शोभा कुमारी
2903.*पूर्णिका*
2903.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
लतियाते रहिये
लतियाते रहिये
विजय कुमार नामदेव
रात का रक्स जारी है
रात का रक्स जारी है
हिमांशु Kulshrestha
सौ रोग भले देह के, हों लाख कष्टपूर्ण
सौ रोग भले देह के, हों लाख कष्टपूर्ण
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
बाज़ार से कोई भी चीज़
बाज़ार से कोई भी चीज़
*Author प्रणय प्रभात*
ख्वाबों से परहेज़ है मेरा
ख्वाबों से परहेज़ है मेरा "वास्तविकता रूह को सुकून देती है"
Rahul Singh
विश्व तुम्हारे हाथों में,
विश्व तुम्हारे हाथों में,
कुंवर बहादुर सिंह
कोरोना महामारी
कोरोना महामारी
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
लोग अब हमसे ख़फा रहते हैं
लोग अब हमसे ख़फा रहते हैं
Shweta Soni
गुलदानों में आजकल,
गुलदानों में आजकल,
sushil sarna
करो सम्मान पत्नी का खफा संसार हो जाए
करो सम्मान पत्नी का खफा संसार हो जाए
VINOD CHAUHAN
. काला काला बादल
. काला काला बादल
Paras Nath Jha
डबूले वाली चाय
डबूले वाली चाय
Shyam Sundar Subramanian
अंत समय
अंत समय
Vandna thakur
Dr arun कुमार शास्त्री
Dr arun कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
रेतीले तपते गर्म रास्ते
रेतीले तपते गर्म रास्ते
Atul "Krishn"
"फ़िर से आज तुम्हारी याद आई"
Lohit Tamta
शब्दों का झंझावत🙏
शब्दों का झंझावत🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
मां जैसा ज्ञान देते
मां जैसा ज्ञान देते
Harminder Kaur
** मुक्तक **
** मुक्तक **
surenderpal vaidya
*संस्मरण*
*संस्मरण*
Ravi Prakash
"पूछो जरा"
Dr. Kishan tandon kranti
🥀 *अज्ञानी की कलम*🥀
🥀 *अज्ञानी की कलम*🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
रिश्ते
रिश्ते
Mangilal 713
मौन अधर होंगे
मौन अधर होंगे
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
हकीकत जानूंगा तो सब पराए हो जाएंगे
हकीकत जानूंगा तो सब पराए हो जाएंगे
Ranjeet kumar patre
Loading...