Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
8 Aug 2023 · 1 min read

उत्साह का नव प्रवाह

भागमभाग भरे जीवन में
टानिक सदृश है पिकनिक
प्रकृति के नजारों को देख
इंसान पा जाए सुख तनिक
तनाव और अवसाद के साए
मानस से हो जाते हैं झट दूर
कुछ अंतराल पर पिकनिक
का प्लान आप रखिए जरूर
काम के बोझ से उपजे तनाव
से यह दिलाता सबको मुक्ति
कुछ बदलाव से मन को ऊर्जा
ग्रहण करने की देता है शक्ति
तमाम मनोवैज्ञानिकों ने इंसान
को सुझाई पिकनिक की राह
यह उद्यम मानस में सदैव ही
भरता उत्साह का नव प्रवाह
हर काम के लिए जरूरी है
ऊर्जा और भरपूर उत्साह
इसीलिए पिकनिक को लेकर
पूरे जग में दिखती खास चाह

Language: Hindi
223 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
*दाता माता ज्ञान की, तुमको कोटि प्रणाम ( कुंडलिया )*
*दाता माता ज्ञान की, तुमको कोटि प्रणाम ( कुंडलिया )*
Ravi Prakash
खोखली बातें
खोखली बातें
Dr. Narendra Valmiki
तुम - दीपक नीलपदम्
तुम - दीपक नीलपदम्
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
मैं हूँ के मैं अब खुद अपने ही दस्तरस में नहीं हूँ
मैं हूँ के मैं अब खुद अपने ही दस्तरस में नहीं हूँ
'अशांत' शेखर
मेरी कलम से…
मेरी कलम से…
Anand Kumar
रिमझिम बरसो
रिमझिम बरसो
surenderpal vaidya
न दें जो साथ गर्दिश में, वह रहबर हो नहीं सकते।
न दें जो साथ गर्दिश में, वह रहबर हो नहीं सकते।
सत्य कुमार प्रेमी
जनाजे में तो हम शामिल हो गए पर उनके पदचिन्हों पर ना चलके अपन
जनाजे में तो हम शामिल हो गए पर उनके पदचिन्हों पर ना चलके अपन
DrLakshman Jha Parimal
यदि है कोई परे समय से तो वो तो केवल प्यार है
यदि है कोई परे समय से तो वो तो केवल प्यार है " रवि " समय की रफ्तार मेँ हर कोई गिरफ्तार है
Sahil Ahmad
वो तसव्वर ही क्या जिसमें तू न हो
वो तसव्वर ही क्या जिसमें तू न हो
Mahendra Narayan
✍️ D. K 27 june 2023
✍️ D. K 27 june 2023
The_dk_poetry
सत्य की खोज
सत्य की खोज
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
कभी कभी अच्छा लिखना ही,
कभी कभी अच्छा लिखना ही,
नेताम आर सी
प्रेम की परिभाषा क्या है
प्रेम की परिभाषा क्या है
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
*अज्ञानी की कलम से हमारे बड़े भाई जी प्रश्नोत्तर शायद पसंद आ
*अज्ञानी की कलम से हमारे बड़े भाई जी प्रश्नोत्तर शायद पसंद आ
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
केवल
केवल
Shweta Soni
गीत
गीत
भगवती प्रसाद व्यास " नीरद "
वो नन्दलाल का कन्हैया वृषभानु की किशोरी
वो नन्दलाल का कन्हैया वृषभानु की किशोरी
Mahesh Tiwari 'Ayan'
कई महीने साल गुजर जाते आँखों मे नींद नही होती,
कई महीने साल गुजर जाते आँखों मे नींद नही होती,
Shubham Anand Manmeet
यदि आपका स्वास्थ्य
यदि आपका स्वास्थ्य
Paras Nath Jha
आपकी यादें
आपकी यादें
Lokesh Sharma
अगर आप सही हैं, तो आपके साथ सही ही होगा।
अगर आप सही हैं, तो आपके साथ सही ही होगा।
Dr. Pradeep Kumar Sharma
हौसले के बिना उड़ान में क्या
हौसले के बिना उड़ान में क्या
Dr Archana Gupta
समय भी दो थोड़ा
समय भी दो थोड़ा
Dr fauzia Naseem shad
"अगली राखी आऊंगा"
Lohit Tamta
🙅मुझे लगता है🙅
🙅मुझे लगता है🙅
*प्रणय प्रभात*
कुछ लिखा हू तुम्हारी यादो में
कुछ लिखा हू तुम्हारी यादो में
देवराज यादव
2428.पूर्णिका
2428.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
दीवारें ऊँचीं हुईं, आँगन पर वीरान ।
दीवारें ऊँचीं हुईं, आँगन पर वीरान ।
Arvind trivedi
ईश्वरीय समन्वय का अलौकिक नमूना है जीव शरीर, जो क्षिति, जल, प
ईश्वरीय समन्वय का अलौकिक नमूना है जीव शरीर, जो क्षिति, जल, प
Sanjay ' शून्य'
Loading...