Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
19 May 2023 · 1 min read

” आज भी है “

मेरी आँखों में तुम्हारी तस्वीर आज भी है….
घायल पड़ी मेरे पास मेरी तकदीर आज भी है….

मेरे दिल की गलियों से थें तुम जब गुजरे,
उन निशानों के उगते तीर आज भी है….

हाथ मेरा जिस अंदाज से तुमनें पहली दफ़ा
था पकड़ा, उनमें जलती अंगार आज भी है….

तुम भुल गये होगें शायद आवाज मेरी धड़कनों की
मेरी सांसों पर तुम्हारा नाम लिखा मगर आज भी है….

आजाद हो तुम आज भी मेरी मोहब्बत में
लेकिन मुझ पे, तुम्हारा अधिकार आज भी है….

दुनिया मैंने दिल को खुलकर कभी दिखलाई ही नही
तुम्हारी ही दो आंखों में मेरा संसार आज भी है….

लेखिका- आरती सिरसाट
बुरहानपुर मध्यप्रदेश
मौलिक एवं स्वरचित रचना

Language: Hindi
1 Like · 413 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
रिश्ते
रिश्ते
Harish Chandra Pande
राधा की भक्ति
राधा की भक्ति
Dr. Upasana Pandey
प्यार नहीं दे पाऊँगा
प्यार नहीं दे पाऊँगा
Kaushal Kumar Pandey आस
विनती
विनती
Kanchan Khanna
■ आज का शेर
■ आज का शेर
*Author प्रणय प्रभात*
कहे महावर हाथ की,
कहे महावर हाथ की,
sushil sarna
कल रहूॅं-ना रहूॅं..
कल रहूॅं-ना रहूॅं..
पंकज कुमार कर्ण
सावन‌ आया
सावन‌ आया
Neeraj Agarwal
शिव मिल शिव बन जाता
शिव मिल शिव बन जाता
Satish Srijan
प्रभात वर्णन
प्रभात वर्णन
Godambari Negi
जरूरत से ज्यादा
जरूरत से ज्यादा
Ragini Kumari
वसंत पंचमी की शुभकामनाएं ।
वसंत पंचमी की शुभकामनाएं ।
डा. सूर्यनारायण पाण्डेय
3021.*पूर्णिका*
3021.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
विद्रोही प्रेम
विद्रोही प्रेम
Rashmi Ranjan
"अक्षर"
Dr. Kishan tandon kranti
"अतितॄष्णा न कर्तव्या तॄष्णां नैव परित्यजेत्।
Mukul Koushik
मैं बदलना अगर नहीं चाहूँ
मैं बदलना अगर नहीं चाहूँ
Dr fauzia Naseem shad
मेरा महबूब आ रहा है
मेरा महबूब आ रहा है
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
ये जुल्म नहीं तू सहनकर
ये जुल्म नहीं तू सहनकर
gurudeenverma198
नन्ही मिष्ठी
नन्ही मिष्ठी
Manu Vashistha
छलनी- छलनी जिसका सीना
छलनी- छलनी जिसका सीना
लक्ष्मी सिंह
वह इंसान नहीं
वह इंसान नहीं
Anil chobisa
कभी-कभी
कभी-कभी
Sûrëkhâ Rãthí
भीगी पलकें...
भीगी पलकें...
Naushaba Suriya
कंटक जीवन पथ के राही
कंटक जीवन पथ के राही
AJAY AMITABH SUMAN
मेरी जिंदगी सजा दे
मेरी जिंदगी सजा दे
Basant Bhagawan Roy
* ज्योति जगानी है *
* ज्योति जगानी है *
surenderpal vaidya
*खुश रहना है तो जिंदगी के फैसले अपनी परिस्थिति को देखकर खुद
*खुश रहना है तो जिंदगी के फैसले अपनी परिस्थिति को देखकर खुद
Shashi kala vyas
वेलेंटाइन एक ऐसा दिन है जिसका सबके ऊपर एक सकारात्मक प्रभाव प
वेलेंटाइन एक ऐसा दिन है जिसका सबके ऊपर एक सकारात्मक प्रभाव प
Rj Anand Prajapati
देशभक्ति
देशभक्ति
Dr. Pradeep Kumar Sharma
Loading...