Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
23 Jan 2024 · 1 min read

* आओ ध्यान करें *

** गीतिका *
~~
दशरथ नंदन राम का, आओ ध्यान करें।
भावपूर्ण शुभ भक्ति का, हम रसपान करें।

हर्षित होकर देखते, प्रभु निज धाम स्वयं।
दिव्य रूप छवि भव्य है, सब रसपान करें।

जन मन के आराध्य प्रभु, आए अवधपुरी।
स्वागतार्थ उनके सभी, हम प्रस्थान करें।

दर्शनीय मनहर अति, भव्य बना मंदिर।
हितकारी प्रभु राम का, सब गुणगान करें।

रग रग में हो राष्ट्र हित, मन में भाव भरा।
बहुत यही शुभ काम है, अर्पण दान करें।

धन्य बनाएं जिन्दगी, नित्य करें अर्चन।
सच्चा साथी कौन है, हम पहचान करें।

सत्य सनातन भावना, सेवा भाव भरा।
चिरंतन अपनी संस्कृति, सब सम्मान करें।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
-सुरेन्द्रपाल वैद्य, मण्डी (हि.प्र.)

1 Like · 1 Comment · 111 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from surenderpal vaidya
View all
You may also like:
अंधेरे में भी ढूंढ लेंगे तुम्हे।
अंधेरे में भी ढूंढ लेंगे तुम्हे।
Rj Anand Prajapati
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Neelofar Khan
दीपक माटी-धातु का,
दीपक माटी-धातु का,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
ना मानी हार
ना मानी हार
Dr. Meenakshi Sharma
अब तो इस राह से,वो शख़्स गुज़रता भी नहीं
अब तो इस राह से,वो शख़्स गुज़रता भी नहीं
शेखर सिंह
🤔कौन हो तुम.....🤔
🤔कौन हो तुम.....🤔
सुरेश अजगल्ले 'इन्द्र '
■ आज की मांग
■ आज की मांग
*प्रणय प्रभात*
मां आई
मां आई
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
गरिमामय प्रतिफल
गरिमामय प्रतिफल
Shyam Sundar Subramanian
"बात सौ टके की"
Dr. Kishan tandon kranti
डॉ अरूण कुमार शास्त्री
डॉ अरूण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
धरती पर स्वर्ग
धरती पर स्वर्ग
Dr. Pradeep Kumar Sharma
पुरखों के गांव
पुरखों के गांव
Mohan Pandey
आम के छांव
आम के छांव
Santosh kumar Miri
गोलगप्पा/पानीपूरी
गोलगप्पा/पानीपूरी
लक्ष्मी सिंह
हमेशा आंखों के समुद्र ही बहाओगे
हमेशा आंखों के समुद्र ही बहाओगे
कवि दीपक बवेजा
संवेदनापूर्ण जीवन हो जिनका 🌷
संवेदनापूर्ण जीवन हो जिनका 🌷
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
कोई नयनों का शिकार उसके
कोई नयनों का शिकार उसके
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
गुलाबों का सौन्दर्य
गुलाबों का सौन्दर्य
Ritu Asooja
गृहणी का बुद्ध
गृहणी का बुद्ध
पूनम कुमारी (आगाज ए दिल)
मणिपुर कौन बचाए..??
मणिपुर कौन बचाए..??
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
कभी ना होना तू निराश, कभी ना होना तू उदास
कभी ना होना तू निराश, कभी ना होना तू उदास
gurudeenverma198
कुली
कुली
Mukta Rashmi
2668.*पूर्णिका*
2668.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
किस कदर
किस कदर
हिमांशु Kulshrestha
मज़दूर दिवस
मज़दूर दिवस
Shekhar Chandra Mitra
मन मेरे तू, सावन-सा बन...
मन मेरे तू, सावन-सा बन...
डॉ.सीमा अग्रवाल
कीमती
कीमती
Naushaba Suriya
बेटी
बेटी
Akash Yadav
बढ़ी शय है मुहब्बत
बढ़ी शय है मुहब्बत
shabina. Naaz
Loading...