Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
27 Jun 2016 · 1 min read

अब न्याय के शरण में…..

?
अब न्याय की शरण में……………….
〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰
अब न्याय की शरण में
आकर ही सब मिलेगा ।
अन्याय इस जगत से
निश्चय ही अब मिटेगा ।।

यह छल-कपट की दुनिया
अब सांस गिन रही है।
अब प्रेम और सच की
जागीर बन रही है ।
शोषण दमन यहां से
निश्चय ही अब हटेगा ।
अब न्याय की शरण में…………………..

अति और भ्रष्ट सारे
आचार व्यर्थ होंगे ।
संसार के सफ़र में
हर पग समर्थ होंगे।
अब दास शब्द का भी
अस्तित्व तक मिटेगा ।
अब न्याय की शरण में…………………

यह सत्य सर्वसुख का
अब बीजमंत्र होगा ।
यह न्याय ही जगत का
अब मूलतंत्र होगा ।
अब प्रेम का जगत में
झरना पुनः बहेगा ।
अब न्याय की शरण में………………..

?
सामरिक अरुण
मिडिल कार्यकारिणी
NDS हरिद्वार
10/05/2016
www.nyayadharmsabha.org

Language: Hindi
Tag: गीत
256 Views
You may also like:
Shyari
श्याम सिंह बिष्ट
सलाम
Dr.S.P. Gautam
Once Again You Visited My Dream Town
Manisha Manjari
*माहेश्वर तिवारी जी से संपर्क*
Ravi Prakash
अब आ भी जाओ पापाजी
संदीप सागर (चिराग)
ख़तरे की घंटी
Shekhar Chandra Mitra
अब हमें ख़्वाब
Dr fauzia Naseem shad
प्रेरक संस्मरण
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
🌺🌺मूले वयं परमात्मनः अंशः🌺🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
माँ
DR ARUN KUMAR SHASTRI
गुमनाम ही सही....
DEVSHREE PAREEK 'ARPITA'
वीरों को युद्ध आह्वान.....
Aditya Prakash
ह्रदय की व्यथा
Nitesh Kumar Srivastava
मोहब्बत-ए-यज़्दाँ ( ईश्वर - प्रेम )
Shyam Sundar Subramanian
■ बदलती कहावत.....
*प्रणय प्रभात*
मेरा इंतजार करना।
Taj Mohammad
✍️बचा लेना✍️
'अशांत' शेखर
ग्रामीण चेतना के महाकवि रामइकबाल सिंह ‘राकेश
श्रीहर्ष आचार्य
हे दिल तुझको किसकी तलाश है
gurudeenverma198
बुलंदी
shabina. Naaz
" लहर मेरे मन की "
Dr Meenu Poonia
बहुत हुशियार हो गए है लोग
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
माता अहिल्याबाई होल्कर जयंती
Dalveer Singh
12
Dr Archana Gupta
हिंदी
Vandana Namdev
यह कौन सा विधान है
Vishnu Prasad 'panchotiya'
मैं पिता हूँ
सूर्यकांत द्विवेदी
कहानियां
Alok Saxena
रेलगाड़ी- ट्रेनगाड़ी
Buddha Prakash
प्राकृतिक उपचार
Vikas Sharma'Shivaaya'
Loading...