Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
18 Mar 2023 · 1 min read

💐प्रेम कौतुक-466💐

अफ़साना कैसे कहें मेरा इश्क़ बारिस की फुँहारों सा,
आसमाँ में मुक़र्रर चमक बिखेरते सितारा-ए-सहरी सा,
ये ख़िताब भी ग़र कम पड़ जाएँ तो दुनियाँवालो सुनो,
मुझे टूटाहुआ तारा कह दें,मेरा सनम तो है आफ़ताब सा।

©®अभिषेक: पाराशरः “आनन्द”

Language: Hindi
Tag: Hindi Quotes, Quote Writer
6 Views
You may also like:
💐प्रेम कौतुक-181💐
💐प्रेम कौतुक-181💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
■ आज की बात
■ आज की बात
*Author प्रणय प्रभात*
ये रात अलग है जैसे वो रात अलग थी
ये रात अलग है जैसे वो रात अलग थी
N.ksahu0007@writer
समाज या परिवार हो, मौजूदा परिवेश
समाज या परिवार हो, मौजूदा परिवेश
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
नुकसान फायदे
नुकसान फायदे
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
क्षणिक स्वार्थ में हो रहे, रिश्ते तेरह तीन।
क्षणिक स्वार्थ में हो रहे, रिश्ते तेरह तीन।
डॉ.सीमा अग्रवाल
"इतिहास गवाह है"
Dr. Kishan tandon kranti
भगवान सर्वव्यापी हैं ।
भगवान सर्वव्यापी हैं ।
ओनिका सेतिया 'अनु '
क्यों इतना मुश्किल है
क्यों इतना मुश्किल है
Surinder blackpen
पंचशील गीत
पंचशील गीत
Buddha Prakash
"Teri kaamyaabi par tareef, tere koshish par taana hoga,
कवि दीपक बवेजा
याद तो हैं ना.…...
याद तो हैं ना.…...
Dr Manju Saini
हरियाणी गाना(एक साखी दूसरी सखी को अपनी व्यथा सुनाती है।
हरियाणी गाना(एक साखी दूसरी सखी को अपनी व्यथा सुनाती है।
Surjeet Kumar
वह ठहर जाएगा ❤️
वह ठहर जाएगा ❤️
Rohit yadav
उसके सवालों का जवाब हम क्या देते
उसके सवालों का जवाब हम क्या देते
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
मलूल
मलूल
Satish Srijan
ये कलियाँ हसीन,ये चेहरे सुन्दर
ये कलियाँ हसीन,ये चेहरे सुन्दर
gurudeenverma198
हास्य कथा : एक इंटरव्यू
हास्य कथा : एक इंटरव्यू
Ravi Prakash
#justareminderekabodhbalak
#justareminderekabodhbalak
DR ARUN KUMAR SHASTRI
एक दिया जलाये
एक दिया जलाये
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
Khuch wakt ke bad , log tumhe padhna shuru krenge.
Khuch wakt ke bad , log tumhe padhna shuru krenge.
Sakshi Tripathi
बैंक पेंशनर्स की वेदना
बैंक पेंशनर्स की वेदना
Ram Krishan Rastogi
वरदान दो माँ
वरदान दो माँ
Saraswati Bajpai
ऐ दिल न चल इश्क की राह पर,
ऐ दिल न चल इश्क की राह पर,
Abhishek Pandey Abhi
प्यार हुआ कैसे और क्यूं
प्यार हुआ कैसे और क्यूं
Parvat Singh Rajput
मेरुदंड
मेरुदंड
सूर्यकांत द्विवेदी
तुम से मिलना था मिल नही पाये
तुम से मिलना था मिल नही पाये
Dr fauzia Naseem shad
ईनाम
ईनाम
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
किरदार
किरदार
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
भगतसिंह के चिट्ठी
भगतसिंह के चिट्ठी
Shekhar Chandra Mitra
Loading...