Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
9 Oct 2022 · 1 min read

अक्ल के अंधे

मूर्दों का एक देश है यह
यहां इंकलाब मुश्किल है!
झूठ के इस शोर-शराबे में
सच की आवाज़ मुश्किल है!!
आंख के तुम अंधे होते तो
आसान था इलाज़ तुम्हारा!
तुम तो अक्ल के अंधे हो,
तुम्हारा इलाज मुश्किल है!!
#हक़ #बुद्धिजीवी #बहुजन_नायक
#विद्रोह #revolution #पिछड़ा
#आदिवासी #दलित #क्रांति

Language: Hindi
277 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
मुक्तक
मुक्तक
Rajesh Tiwari
दुनिया में सब ही की तरह
दुनिया में सब ही की तरह
डी. के. निवातिया
सनातन सँस्कृति
सनातन सँस्कृति
Bodhisatva kastooriya
प्रदूषण-जमघट।
प्रदूषण-जमघट।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
याद है पास बिठा के कुछ बाते बताई थी तुम्हे
याद है पास बिठा के कुछ बाते बताई थी तुम्हे
Kumar lalit
पहाड़ी नदी सी
पहाड़ी नदी सी
Dr.Priya Soni Khare
*** मुफ़लिसी ***
*** मुफ़लिसी ***
Chunnu Lal Gupta
हर खुशी
हर खुशी
Dr fauzia Naseem shad
तेरी तस्वीर को लफ़्ज़ों से संवारा मैंने ।
तेरी तस्वीर को लफ़्ज़ों से संवारा मैंने ।
Phool gufran
मुक्तामणि छंद [सम मात्रिक].
मुक्तामणि छंद [सम मात्रिक].
Subhash Singhai
" नदिया "
Dr. Kishan tandon kranti
हे प्रभू तुमसे मुझे फिर क्यों गिला हो।
हे प्रभू तुमसे मुझे फिर क्यों गिला हो।
सत्य कुमार प्रेमी
आज़ादी के दीवानों ने
आज़ादी के दीवानों ने
करन ''केसरा''
जय जय दुर्गा माता
जय जय दुर्गा माता
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
भगवान ने जब सबको इस धरती पर समान अधिकारों का अधिकारी बनाकर भ
भगवान ने जब सबको इस धरती पर समान अधिकारों का अधिकारी बनाकर भ
Sukoon
बीतते वक्त के संग-संग,दूर होते रिश्तों की कहानी,
बीतते वक्त के संग-संग,दूर होते रिश्तों की कहानी,
Rituraj shivem verma
चला गया
चला गया
Mahendra Narayan
दुनिया की सबसे खूबसूरत चीज नींद है ,जो इंसान के कुछ समय के ल
दुनिया की सबसे खूबसूरत चीज नींद है ,जो इंसान के कुछ समय के ल
Ranjeet kumar patre
चंचल मन
चंचल मन
Dinesh Kumar Gangwar
प्रेम का अंधा उड़ान✍️✍️
प्रेम का अंधा उड़ान✍️✍️
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
वर्षों पहले लिखी चार पंक्तियां
वर्षों पहले लिखी चार पंक्तियां
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
'उड़ाओ नींद के बादल खिलाओ प्यार के गुलशन
'उड़ाओ नींद के बादल खिलाओ प्यार के गुलशन
आर.एस. 'प्रीतम'
साहित्य चेतना मंच की मुहीम घर-घर ओमप्रकाश वाल्मीकि
साहित्य चेतना मंच की मुहीम घर-घर ओमप्रकाश वाल्मीकि
Dr. Narendra Valmiki
******
******" दो घड़ी बैठ मेरे पास ******
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
नारी की शक्ति
नारी की शक्ति
Anamika Tiwari 'annpurna '
तू  मेरी जान तू ही जिंदगी बन गई
तू मेरी जान तू ही जिंदगी बन गई
कृष्णकांत गुर्जर
मैं तो महज आईना हूँ
मैं तो महज आईना हूँ
VINOD CHAUHAN
2506.पूर्णिका
2506.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
🙅नया सुझाव🙅
🙅नया सुझाव🙅
*प्रणय प्रभात*
Loading...