Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
13 Mar 2023 · 1 min read

Khuch wakt ke bad , log tumhe padhna shuru krenge.

Khuch wakt ke bad , log tumhe padhna shuru krenge.
Samajh nhi aye agar tum to , tumhe samjhana shuru krenge
Kyu kaid krte ho khud ko bediyo me , gairo ki soch me
Jb kal ko kabil ho jaoge na , to yahi log tumhari nakal krna shuru krenge 😍 by sakshi

451 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
कर्जमाफी
कर्जमाफी
Dr. Pradeep Kumar Sharma
ज़रूरी है...!!!!
ज़रूरी है...!!!!
Jyoti Khari
*आए जब से राम हैं, चारों ओर वसंत (कुंडलिया)*
*आए जब से राम हैं, चारों ओर वसंत (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
एक शेर
एक शेर
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
यह समय / MUSAFIR BAITHA
यह समय / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
खुद ही परेशान हूँ मैं, अपने हाल-ऐ-मज़बूरी से
खुद ही परेशान हूँ मैं, अपने हाल-ऐ-मज़बूरी से
डी. के. निवातिया
वोट डालने जाएंगे
वोट डालने जाएंगे
Dr. Reetesh Kumar Khare डॉ रीतेश कुमार खरे
सँविधान
सँविधान
Bodhisatva kastooriya
अब यह अफवाह कौन फैला रहा कि मुगलों का इतिहास इसलिए हटाया गया
अब यह अफवाह कौन फैला रहा कि मुगलों का इतिहास इसलिए हटाया गया
शेखर सिंह
*संवेदनाओं का अन्तर्घट*
*संवेदनाओं का अन्तर्घट*
Manishi Sinha
यह कौन सा विधान हैं?
यह कौन सा विधान हैं?
Vishnu Prasad 'panchotiya'
हार कभी मिल जाए तो,
हार कभी मिल जाए तो,
Rashmi Sanjay
"कोशिशो के भी सपने होते हैं"
Ekta chitrangini
उसने मुझे लौट कर आने को कहा था,
उसने मुझे लौट कर आने को कहा था,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
पंचतत्वों (अग्नि, वायु, जल, पृथ्वी, आकाश) के अलावा केवल
पंचतत्वों (अग्नि, वायु, जल, पृथ्वी, आकाश) के अलावा केवल "हृद
Radhakishan R. Mundhra
बाल कविता: मूंगफली
बाल कविता: मूंगफली
Rajesh Kumar Arjun
वक्त मिलता नही,निकलना पड़ता है,वक्त देने के लिए।
वक्त मिलता नही,निकलना पड़ता है,वक्त देने के लिए।
पूर्वार्थ
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Neelofar Khan
हुलिये के तारीफ़ात से क्या फ़ायदा ?
हुलिये के तारीफ़ात से क्या फ़ायदा ?
ओसमणी साहू 'ओश'
बूढ़ी मां
बूढ़ी मां
Sûrëkhâ
💐💐💐💐दोहा निवेदन💐💐💐💐
💐💐💐💐दोहा निवेदन💐💐💐💐
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
Dr Arun Kumar shastri
Dr Arun Kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
हो जाती है साँझ
हो जाती है साँझ
sushil sarna
"अदा"
Dr. Kishan tandon kranti
दुनियां का सबसे मुश्किल काम है,
दुनियां का सबसे मुश्किल काम है,
Manoj Mahato
"शेष पृष्ठा
Paramita Sarangi
"दस ढीठों ने ताक़त दे दी,
*प्रणय प्रभात*
3109.*पूर्णिका*
3109.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
जब हमें तुमसे मोहब्बत ही नहीं है,
जब हमें तुमसे मोहब्बत ही नहीं है,
Dr. Man Mohan Krishna
यादों का थैला लेकर चले है
यादों का थैला लेकर चले है
Harminder Kaur
Loading...