Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
11 May 2024 · 1 min read

Karma

As you sow so shall you reap
Is a golden truth that’s so deep.

Actions echoed consequences faced
In every deed a lesson learned.

For every joy a smile granted
But in every darkness debts are owed.

In the silent chambers of life’s embrace
Karma’s whispers weave their trace.

So walk with care in every ride
For in karma’s hold none can hide.

Language: English
1 Like · 596 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
23/82.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/82.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
दोहे बिषय-सनातन/सनातनी
दोहे बिषय-सनातन/सनातनी
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
बारिश की बूंद
बारिश की बूंद
Neeraj Agarwal
फुर्सत से आईने में जब तेरा दीदार किया।
फुर्सत से आईने में जब तेरा दीदार किया।
Phool gufran
रामराज्य
रामराज्य
Suraj Mehra
डॉ अरुण कुमार शास्त्री /एक अबोध बालक
डॉ अरुण कुमार शास्त्री /एक अबोध बालक
DR ARUN KUMAR SHASTRI
राम के जैसा पावन हो, वो नाम एक भी नहीं सुना।
राम के जैसा पावन हो, वो नाम एक भी नहीं सुना।
सत्य कुमार प्रेमी
गुरूर चाँद का
गुरूर चाँद का
Satish Srijan
జయ శ్రీ రామ...
జయ శ్రీ రామ...
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
KRISHANPRIYA
KRISHANPRIYA
Gunjan Sharma
बढ़ता उम्र घटता आयु
बढ़ता उम्र घटता आयु
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
Vishal Prajapati
Vishal Prajapati
Vishal Prajapati
नादान परिंदा
नादान परिंदा
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
आईने में अगर
आईने में अगर
Dr fauzia Naseem shad
अर्थ  उपार्जन के लिए,
अर्थ उपार्जन के लिए,
sushil sarna
!! दर्द भरी ख़बरें !!
!! दर्द भरी ख़बरें !!
Chunnu Lal Gupta
होते यदि राजा - महा , होते अगर नवाब (कुंडलिया)
होते यदि राजा - महा , होते अगर नवाब (कुंडलिया)
Ravi Prakash
.....★.....
.....★.....
Abhishek Shrivastava "Shivaji"
🙏 *गुरु चरणों की धूल*🙏
🙏 *गुरु चरणों की धूल*🙏
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
किताब
किताब
Lalit Singh thakur
Love is not about material things. Love is not about years o
Love is not about material things. Love is not about years o
पूर्वार्थ
जीवन की आपाधापी में, न जाने सब क्यों छूटता जा रहा है।
जीवन की आपाधापी में, न जाने सब क्यों छूटता जा रहा है।
Gunjan Tiwari
वाह ! मेरा देश किधर जा रहा है ।
वाह ! मेरा देश किधर जा रहा है ।
कृष्ण मलिक अम्बाला
जीवन में जब संस्कारों का हो जाता है अंत
जीवन में जब संस्कारों का हो जाता है अंत
प्रेमदास वसु सुरेखा
हिरनगांव की रियासत
हिरनगांव की रियासत
Prashant Tiwari
प्यासा के हुनर
प्यासा के हुनर
Vijay kumar Pandey
मन अलग चलता है, मेरे साथ नहीं,
मन अलग चलता है, मेरे साथ नहीं,
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
ये दुनिया है कि इससे, सत्य सुना जाता नहीं है
ये दुनिया है कि इससे, सत्य सुना जाता नहीं है
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
■ बन्द करो पाखण्ड...!!
■ बन्द करो पाखण्ड...!!
*प्रणय प्रभात*
गुरूर  ना  करो  ऐ  साहिब
गुरूर ना करो ऐ साहिब
Neelofar Khan
Loading...