Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
24 Jun 2023 · 1 min read

I am always in search of the “why”,

I am always in search of the “why”,
Why does grief make me yearn for a different sky?
Where I constantly chase my dark ghosts,
Seeking a glimpse of the one I love the most.
Where words grow numb, and echoes are loud,
Silent shadows stand tall and proud.
Where peace is not a mirage but an oasis in the desert,
Yet helpless to shield me from my brutal hurt.
Where darkness becomes a soothing escape,
And my abandoned ship navigates a stormy cape.
Where thoughts linger in the middle of a flowing river,
Transforming me into a statue and crowned me with the heart of a giver.

2 Likes · 2 Comments · 151 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Manisha Manjari
View all
You may also like:
वाणी से उबल रहा पाणि
वाणी से उबल रहा पाणि
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
छत्तीसगढ़िया संस्कृति के चिन्हारी- हरेली तिहार
छत्तीसगढ़िया संस्कृति के चिन्हारी- हरेली तिहार
Mukesh Kumar Sonkar
लेखक होने का आदर्श यही होगा कि
लेखक होने का आदर्श यही होगा कि
Sonam Puneet Dubey
नरम दिली बनाम कठोरता
नरम दिली बनाम कठोरता
Karishma Shah
कोई हमको ढूँढ़ न पाए
कोई हमको ढूँढ़ न पाए
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
मेरे प्रिय पवनपुत्र हनुमान
मेरे प्रिय पवनपुत्र हनुमान
Anamika Tiwari 'annpurna '
करता नहीं यह शौक तो,बर्बाद मैं नहीं होता
करता नहीं यह शौक तो,बर्बाद मैं नहीं होता
gurudeenverma198
सुंदरता हर चीज में होती है बस देखने वाले की नजर अच्छी होनी च
सुंदरता हर चीज में होती है बस देखने वाले की नजर अच्छी होनी च
Neerja Sharma
23/55.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/55.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
ईश्वर
ईश्वर
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
जय श्रीराम हो-जय श्रीराम हो।
जय श्रीराम हो-जय श्रीराम हो।
manjula chauhan
"तिलचट्टा"
Dr. Kishan tandon kranti
दोहा
दोहा
गुमनाम 'बाबा'
वक्त और रिश्ते
वक्त और रिश्ते
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
भाड़ में जाओ
भाड़ में जाओ
ruby kumari
वो कहते हैं की आंसुओ को बहाया ना करो
वो कहते हैं की आंसुओ को बहाया ना करो
The_dk_poetry
कमबख़्त इश़्क
कमबख़्त इश़्क
Shyam Sundar Subramanian
मोरनी जैसी चाल
मोरनी जैसी चाल
Dr. Vaishali Verma
■ होशियार भून रहे हैं। बावले भुनभुना रहे हैं।😊
■ होशियार भून रहे हैं। बावले भुनभुना रहे हैं।😊
*प्रणय प्रभात*
रख हौसला, कर फैसला, दृढ़ निश्चय के साथ
रख हौसला, कर फैसला, दृढ़ निश्चय के साथ
Krishna Manshi
गंगा की जलधार
गंगा की जलधार
surenderpal vaidya
डीजल पेट्रोल का महत्व
डीजल पेट्रोल का महत्व
Satish Srijan
भगवान महाबीर
भगवान महाबीर
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
बेवफाई करके भी वह वफा की उम्मीद करते हैं
बेवफाई करके भी वह वफा की उम्मीद करते हैं
Anand Kumar
*अर्थ करवाचौथ का (गीतिका)*
*अर्थ करवाचौथ का (गीतिका)*
Ravi Prakash
आज की शाम।
आज की शाम।
Dr. Jitendra Kumar
मैं सोच रही थी...!!
मैं सोच रही थी...!!
Rachana
खिंचता है मन क्यों
खिंचता है मन क्यों
Shalini Mishra Tiwari
*मेघ गोरे हुए साँवरे* पुस्तक की समीक्षा धीरज श्रीवास्तव जी द्वारा
*मेघ गोरे हुए साँवरे* पुस्तक की समीक्षा धीरज श्रीवास्तव जी द्वारा
Dr Archana Gupta
आसमां में चांद प्यारा देखिए।
आसमां में चांद प्यारा देखिए।
सत्य कुमार प्रेमी
Loading...