Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
7 Feb 2023 · 1 min read

💐अज्ञात के प्रति-8💐

8
उनके द्वारा भेजा का कोई भी सन्देश, मेरे हृदय में उनके प्रति प्रेम का कारण है।
-अभिषेक: पाराशरः ‘आनन्द’

Language: Hindi
107 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
हिन्दी दोहा बिषय- न्याय
हिन्दी दोहा बिषय- न्याय
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
होता सब चाहे रहे , बाहर में प्रतिकूल (कुंडलियां)
होता सब चाहे रहे , बाहर में प्रतिकूल (कुंडलियां)
Ravi Prakash
माँ शारदे...
माँ शारदे...
डॉ.सीमा अग्रवाल
खून दोगे तुम अगर तो मैं तुम्हें आज़ादी दूँगा
खून दोगे तुम अगर तो मैं तुम्हें आज़ादी दूँगा
Dr Archana Gupta
मैं जानती हूँ तिरा दर खुला है मेरे लिए ।
मैं जानती हूँ तिरा दर खुला है मेरे लिए ।
Neelam Sharma
यूही सावन में, तुम बंबूनाती रहो
यूही सावन में, तुम बंबूनाती रहो
Basant Bhagwan Roy
पहचान
पहचान
Seema gupta,Alwar
वक्त रहते सम्हल जाओ ।
वक्त रहते सम्हल जाओ ।
Nishant prakhar
रंगों की दुनिया में सब से
रंगों की दुनिया में सब से
shabina. Naaz
किसा गौतमी बुद्ध अर्हन्त्
किसा गौतमी बुद्ध अर्हन्त्
Buddha Prakash
पिता मेंरे प्राण
पिता मेंरे प्राण
Arti Bhadauria
अब न करेगे इश्क और न करेगे किसी की ग़ुलामी,
अब न करेगे इश्क और न करेगे किसी की ग़ुलामी,
Vishal babu (vishu)
वो पास आने लगी थी
वो पास आने लगी थी
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
बड़ा हथियार
बड़ा हथियार
Satish Srijan
हिन्दू और तुर्क दोनों को, सीधे शब्दों में चेताया
हिन्दू और तुर्क दोनों को, सीधे शब्दों में चेताया
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
जिज्ञासा और प्रयोग
जिज्ञासा और प्रयोग
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
💐प्रेम कौतुक-394💐
💐प्रेम कौतुक-394💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
"हस्ताक्षर"
Dr. Kishan tandon kranti
मिट्टी का बस एक दिया हूँ
मिट्टी का बस एक दिया हूँ
Chunnu Lal Gupta
जागरूक हो हर इंसान
जागरूक हो हर इंसान
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
विश्व गौरैया दिवस
विश्व गौरैया दिवस
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
■ एक और शेर...
■ एक और शेर...
*Author प्रणय प्रभात*
माँ तो पावन प्रीति है,
माँ तो पावन प्रीति है,
अभिनव अदम्य
मन के पार
मन के पार
Dr. Rajiv
डाल-डाल तुम हो कर आओ
डाल-डाल तुम हो कर आओ
नन्दलाल सिंह 'कांतिपति'
चरचा गरम बा
चरचा गरम बा
Shekhar Chandra Mitra
बहुत सहा है दर्द हमने।
बहुत सहा है दर्द हमने।
Taj Mohammad
तो मेरे साथ चलो।
तो मेरे साथ चलो।
Manisha Manjari
ये मौन अगर.......! ! !
ये मौन अगर.......! ! !
Prakash Chandra
पीक चित्रकार
पीक चित्रकार
शांतिलाल सोनी
Loading...