Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
8 Oct 2022 · 1 min read

ख़्वाहिश है की फिर तुझसे मुलाक़ात ना हो, राहें हमारी टकराएं,ऐसी कोई बात ना हो।

ख़्वाहिश है कि फिर तुझसे मुलाक़ात ना हो,
राहें हमारी टकरायें, ऐसी कोई बात ना हो।
अंधेरों में गुम होने की आदत है मुझे,
जिसकी सुबह फिर आये, ऐसी रात ना हो।
ज़िन्दगी ने हमेशा सफ़र में रखा है मुझे,
घर की दहलीज पास आ जाए, ऐसे हालात ना हों।
मरुभूमि की तपिश, जाने क्यों भांति है मुझे,
जिसकी बूंदें सुकूं दे जाए, ऐसी बरसात ना हो।
जो हर पल मदहोशी, की आगोश में डुबाये मुझे,
जहन की जमीं पे मेरे, ऐसे कोई ख़्यालात ना हों।
फ़क़ीरों जैसे उस ख़ुदा में, भटकना है मुझे,
जो एक मुक्कम्मल जहाँ दे जाए, ऐसी कोई खैरात ना हो।
यूँ तो दिए की रौशनी भी चुभती है मुझे,
जिससे आंखें धुंधला जाएँ, वो उल्कापात ना हों।
एक सितारा टूटे और सपनों की दुआएं दे मुझे,
किसी क्षितिज़ पे ऐसी, कोई क़ायनात ना हों।
एक बार फिर से खुशियां छू जाएं मुझे,
किसी जादू की छड़ी में वो,करामात ना हों।
जो ग़मों को छीन, तन्हा कर जाए मुझे,
किसी के हाथ में ऐसी, कोई सौगात ना हो।
आस्था की डोर में, फिर से पीरो दे जो मुझे,
ऐसा मंदिर कभी, किसी को ज्ञात ना हो।
प्रीत ने विश्वास की आस में छला है मुझे,
फिर मेरी भावनाओं पर वो आघात ना हों।
ख्वाबों में भी नयी सांसें दे जाए जो मुझे,
कभी ऐसे किसी भ्रम की, शुरुआत ना हो।
ख़्वाहिश है की फिर तुझसे मुलाक़ात ना हो,
राहें हमारी टकराएं,ऐसी कोई बात ना हो।

8 Likes · 12 Comments · 310 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Manisha Manjari
View all
You may also like:
चॅंद्रयान
चॅंद्रयान
Paras Nath Jha
" बीकानेरी रसगुल्ला "
Dr Meenu Poonia
बड़े महंगे महगे किरदार है मेरे जिन्दगी में l
बड़े महंगे महगे किरदार है मेरे जिन्दगी में l
Ranjeet kumar patre
ब्रांड. . . .
ब्रांड. . . .
sushil sarna
पयोनिधि नेह में घोली, मधुर सुर साज है हिंदी।
पयोनिधि नेह में घोली, मधुर सुर साज है हिंदी।
Neelam Sharma
उसे मैं भूल जाऊंगा, ये मैं होने नहीं दूंगा।
उसे मैं भूल जाऊंगा, ये मैं होने नहीं दूंगा।
सत्य कुमार प्रेमी
ना नींद है,ना चैन है,
ना नींद है,ना चैन है,
लक्ष्मी सिंह
कबीर ज्ञान सार
कबीर ज्ञान सार
भूरचन्द जयपाल
मकर संक्रांति
मकर संक्रांति
Mamta Rani
💐प्रेम कौतुक-385💐
💐प्रेम कौतुक-385💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
" नम पलकों की कोर "
भगवती प्रसाद व्यास " नीरद "
हमसे बात ना करो।
हमसे बात ना करो।
Taj Mohammad
कर्मठ व्यक्ति की सहनशीलता ही धैर्य है, उसके द्वारा किया क्षम
कर्मठ व्यक्ति की सहनशीलता ही धैर्य है, उसके द्वारा किया क्षम
Sanjay ' शून्य'
फीका त्योहार !
फीका त्योहार !
पाण्डेय चिदानन्द "चिद्रूप"
*हटता है परिदृश्य से, अकस्मात इंसान (कुंडलिया)*
*हटता है परिदृश्य से, अकस्मात इंसान (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
23/11.छत्तीसगढ़ी पूर्णिका
23/11.छत्तीसगढ़ी पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
भारत का सिपाही
भारत का सिपाही
आनन्द मिश्र
काव्य-अनुभव और काव्य-अनुभूति
काव्य-अनुभव और काव्य-अनुभूति
कवि रमेशराज
*वीरस्य भूषणम् *
*वीरस्य भूषणम् *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
~~~~~~~~~~~~~~
~~~~~~~~~~~~~~
Hanuman Ramawat
जल से सीखें
जल से सीखें
Saraswati Bajpai
गुज़िश्ता साल -नज़्म
गुज़िश्ता साल -नज़्म
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
लाभ की इच्छा से ही लोभ का जन्म होता है।
लाभ की इच्छा से ही लोभ का जन्म होता है।
Rj Anand Prajapati
दोहा
दोहा
दुष्यन्त 'बाबा'
दो दिन का प्यार था छोरी , दो दिन में ख़त्म हो गया |
दो दिन का प्यार था छोरी , दो दिन में ख़त्म हो गया |
The_dk_poetry
"तू रंगरेज बड़ा मनमानी"
Dr. Kishan tandon kranti
सपने तेरे है तो संघर्ष करना होगा
सपने तेरे है तो संघर्ष करना होगा
पूर्वार्थ
मोक्ष
मोक्ष
Pratibha Pandey
हिन्दी दोहा- बिषय- कौड़ी
हिन्दी दोहा- बिषय- कौड़ी
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
दिल लगाएं भगवान में
दिल लगाएं भगवान में
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
Loading...