Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#26 Trending Author
Jul 28, 2022 · 1 min read

होता नहीं अब मुझसे

होता नहीं अब मुझसे, कि प्यार मैं तुमसे करुं।
तारीफ तेरी मैं करूं ,कि याद मैं तुमको करूं।।
होता नहीं अब मुझसे———————।।

मुझको नहीं यह पसंद, रोज झगड़ना मुझसे तेरा।
तुमको मनाना रोज ऐसे,सहन सितम मैं तेरे करूं।।
होता नहीं अब मुझसे——————–।।

तुमको दिखाने को सच मैंने, बहुत बहाये अपने आँसू।
बर्बाद बहुत हो गया मैं, बर्बाद और क्यों खुद को करूं।।
होता नहीं अब मुझसे——————–।।

छोड़ दिया मैंने तेरे लिए, अपना घर और अपने दोस्त।
जीना है मुझको तेरी तरफ, ना खुश खुद को क्यों करूं।।
होता नहीं अब मुझसे———————-।।

नहीं चाहिए कुछ भी तुमसे, मुझसे नहीं मतलब रखो।
खयाल नहीं जब तुमको मेरा, क्यों खयाल तेरा करूं।।
होता नहीं अब मुझसे——————–।।

शिक्षक एवं साहित्यकार-
गुरुदीन वर्मा उर्फ जी.आज़ाद
तहसील एवं जिला- बारां(राजस्थान)
मोबाईल नम्बर- 9571070847

37 Views
You may also like:
बहुआयामी वात्सल्य दोहे
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
परिंदे को गम सता रहा है।
Taj Mohammad
सिया
सिद्धार्थ गोरखपुरी
मां के तट पर
जगदीश लववंशी
हमदर्द हो जो सबका मददगार चाहिए।
सत्य कुमार प्रेमी
एक पत्र पुराने मित्रों के नाम
Ram Krishan Rastogi
ये खुशी
Anamika Singh
विन्यास
DR ARUN KUMAR SHASTRI
क्या होता है पिता
gurudeenverma198
कहां चला अरे उड़ कर पंछी
VINOD KUMAR CHAUHAN
बड़ी आरज़ू होती है ......................
लक्ष्मण 'बिजनौरी'
खंडहर हुई यादें
VINOD KUMAR CHAUHAN
यह इश्क है।
Taj Mohammad
उम्मीद
Harshvardhan "आवारा"
क्यों मार दिया,सिद्दू मूसावाले को
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
गज़ल सी रचना
Kanchan Khanna
बेरूखी
Anamika Singh
"पिता और शौर्य"
Lohit Tamta
अपने दिल को।
Taj Mohammad
वो इश्क है किस काम का
Ram Krishan Rastogi
कन्यादान क्यों और किसलिए [भाग४]
Anamika Singh
चल-चल रे मन
Anamika Singh
नीति प्रकाश : फारसी के प्रसिद्ध कवि शेख सादी द्वारा...
Ravi Prakash
हमारे पापा
Anamika Singh
जिंदगी को खामोशी से गुज़ारा है।
Taj Mohammad
प्यार का अलख
DESH RAJ
आफताबे रौशनी मेरे घर आती नहीं।
Taj Mohammad
अब और नहीं सोचो
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
शोहरत और बंदर
सूर्यकांत द्विवेदी
और मैं .....
AJAY PRASAD
Loading...