Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
17 Feb 2024 · 1 min read

हवन – दीपक नीलपदम्

हवन हुआ, ये धुआं उठा,

मैं होम हुआ जाने किसपर,

जाने कौन पुकारे मुझको,

निकल गया मैं किस पथ पर ।

पैरों के नीचे अंगारे,

हाथों में समिधा की गठरी,

दिल में थामे तूफानों को,

आँखों में समाहित बलिवेदी।

घर की ड्योढ़ी छोड़ चले,

हम देश की ड्योढ़ी पर ठाड़े,

चढ़ी त्यौरियों से कोई,

मेरे देश पर दृष्टि न गाड़े।

बड़ बलिदानी देवों ने

देश स्वतंत्र कराया था,

नवजवान आहुतियाँ देकर,

देश रंगीला पाया था ।

धर्म-पंथ-मज़हब-औ-रिलीजन,

सब कुछ है अंगीकार इसे,

पर देश अहित कोई बोले,

है हरगिज न स्वीकार मुझे।

कदम बढ़े हैं, सैलाबों को,

अनुशासित कर जाने को,

तटबन्ध तोड़ती नदियों को,

अच्छे से साबत सिखाने को।

है ललाट पर तिलक मात का,

पीठ पिता की थपकी है,

नहीं फरक पड़ता फिर, गीदड़-

भभकी है या धमकी है।

मेरे देश का रोमा-रोमा ,

सोने से अनमोल मुझे,

दुश्मन तू मिट जायेगा,

माँ माटी की सौगंध मुझे।

(c)@दीपक कुमार श्रीवास्तव “नील पदम्”

1 Like · 47 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
View all
You may also like:
* चली रे चली *
* चली रे चली *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
महानगर की जिंदगी और प्राकृतिक परिवेश
महानगर की जिंदगी और प्राकृतिक परिवेश
कार्तिक नितिन शर्मा
हर्षित आभा रंगों में समेट कर, फ़ाल्गुन लो फिर आया है,
हर्षित आभा रंगों में समेट कर, फ़ाल्गुन लो फिर आया है,
Manisha Manjari
वो झील-सी हैं, तो चट्टान-सा हूँ मैं
वो झील-सी हैं, तो चट्टान-सा हूँ मैं
The_dk_poetry
वट सावित्री अमावस्या
वट सावित्री अमावस्या
नवीन जोशी 'नवल'
आवश्यक मतदान है
आवश्यक मतदान है
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
Life is a rain
Life is a rain
Ankita Patel
देख लेना चुप न बैठेगा, हार कर भी जीत जाएगा शहर…
देख लेना चुप न बैठेगा, हार कर भी जीत जाएगा शहर…
Anand Kumar
शिकवा गिला शिकायतें
शिकवा गिला शिकायतें
Dr fauzia Naseem shad
" जब तक आप लोग पढोगे नहीं, तो जानोगे कैसे,
शेखर सिंह
💐प्रेम कौतुक-515💐
💐प्रेम कौतुक-515💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
कच्ची उम्र के बच्चों तुम इश्क में मत पड़ना
कच्ची उम्र के बच्चों तुम इश्क में मत पड़ना
कवि दीपक बवेजा
हम हँसते-हँसते रो बैठे
हम हँसते-हँसते रो बैठे
नंदलाल सिंह 'कांतिपति'
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Jitendra Kumar Noor
और भी शौक है लेकिन, इश्क तुम नहीं करो
और भी शौक है लेकिन, इश्क तुम नहीं करो
gurudeenverma198
#क्षणिका-
#क्षणिका-
*Author प्रणय प्रभात*
हम्मीर देव चौहान
हम्मीर देव चौहान
Ajay Shekhavat
दिल का रोग
दिल का रोग
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
दशमेश के ग्यारह वचन
दशमेश के ग्यारह वचन
Satish Srijan
जिस दिन अपने एक सिक्के पर भरोसा हो जायेगा, सच मानिए आपका जीव
जिस दिन अपने एक सिक्के पर भरोसा हो जायेगा, सच मानिए आपका जीव
Sanjay ' शून्य'
कौन गया किसको पता ,
कौन गया किसको पता ,
sushil sarna
बात सीधी थी
बात सीधी थी
Dheerja Sharma
एक तरफ तो तुम
एक तरफ तो तुम
Dr Manju Saini
🕊️एक परिंदा उड़ चला....!
🕊️एक परिंदा उड़ चला....!
Srishty Bansal
Yuhi kisi ko bhul jana aasan nhi hota,
Yuhi kisi ko bhul jana aasan nhi hota,
Sakshi Tripathi
"सच और झूठ"
Dr. Kishan tandon kranti
आ बैठ मेरे पास मन
आ बैठ मेरे पास मन
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
3080.*पूर्णिका*
3080.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
खुदकुशी से पहले
खुदकुशी से पहले
Shekhar Chandra Mitra
ज़िन्दगी,
ज़िन्दगी,
Santosh Shrivastava
Loading...