Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
27 Jan 2024 · 1 min read

हम सब भारतवासी हैं …

हम सब भारतवासी हैं,
भारत को एक बनायेंगे,
ऊंच-नीच का भ्रम मिटाकर,
सब समान बन जायेंगे।

जन्म लिया मानव के रूप में,
मानव ही कहलायेंगे,
धर्म, जाति के जाल में ना,
उलझेंगे, नहीं उलझायेंगे।

छल, दम्भ, द्वेष, पाखंड, झूठ,
अन्याय को मिलके मिटायेंगे,
बुद्धिवाद के द्धौतक बन,
बुद्धा का मार्ग अपनायेंगे।

सदियों से शोषित पीड़ित को,
अब हम ही न्याय दिलायेंगे,
उनकी करूण कराहों को,
खुशियों में बदलकर जायेंगे।

संकल्प हमारा हम सबको,
समता का मार्ग दिखलायेंगे,
इस गौरवशाली भारत की,
दुनिया में ध्वजा फहरायेंगे।

हम भारतवासी हैं
भारत को एक बनायेंगे …

*******************

Language: Hindi
1 Like · 76 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Sunil Suman
View all
You may also like:
यूं आसमान हो हर कदम पे इक नया,
यूं आसमान हो हर कदम पे इक नया,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
दीवाली की रात आयी
दीवाली की रात आयी
Sarfaraz Ahmed Aasee
वो इबादत
वो इबादत
Dr fauzia Naseem shad
ग़ज़ल सगीर
ग़ज़ल सगीर
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
■ कामयाबी का नुस्खा...
■ कामयाबी का नुस्खा...
*प्रणय प्रभात*
साहिल के समंदर दरिया मौज,
साहिल के समंदर दरिया मौज,
Sahil Ahmad
विश्वास
विश्वास
Dr. Pradeep Kumar Sharma
अयाग हूँ मैं
अयाग हूँ मैं
Mamta Rani
भौतिक युग की सम्पदा,
भौतिक युग की सम्पदा,
sushil sarna
जिंदगी को बड़े फक्र से जी लिया।
जिंदगी को बड़े फक्र से जी लिया।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
मां
मां
Amrit Lal
2542.पूर्णिका
2542.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
यही है हमारी मनोकामना माँ
यही है हमारी मनोकामना माँ
Dr Archana Gupta
*
*"बसंत पंचमी"*
Shashi kala vyas
जाग गया है हिन्दुस्तान
जाग गया है हिन्दुस्तान
Bodhisatva kastooriya
हम किसे के हिज्र में खुदकुशी कर ले
हम किसे के हिज्र में खुदकुशी कर ले
himanshu mittra
मेरी भी कहानी कुछ अजीब है....!
मेरी भी कहानी कुछ अजीब है....!
singh kunwar sarvendra vikram
तुम्हें तो फुर्सत मिलती ही नहीं है,
तुम्हें तो फुर्सत मिलती ही नहीं है,
Dr. Man Mohan Krishna
कविता
कविता
Shiva Awasthi
Still I Rise!
Still I Rise!
R. H. SRIDEVI
सिय का जन्म उदार / माता सीता को समर्पित नवगीत
सिय का जन्म उदार / माता सीता को समर्पित नवगीत
ईश्वर दयाल गोस्वामी
नामुमकिन
नामुमकिन
Srishty Bansal
विडम्बना
विडम्बना
Shaily
चित्र आधारित चौपाई रचना
चित्र आधारित चौपाई रचना
गुमनाम 'बाबा'
*योग शब्द का अर्थ ध्यान में, निराकार को पाना ( गीत)*
*योग शब्द का अर्थ ध्यान में, निराकार को पाना ( गीत)*
Ravi Prakash
सफलता का जश्न मनाना ठीक है, लेकिन असफलता का सबक कभी भूलना नह
सफलता का जश्न मनाना ठीक है, लेकिन असफलता का सबक कभी भूलना नह
Ranjeet kumar patre
* बेटियां *
* बेटियां *
surenderpal vaidya
जिसकी याद में हम दीवाने हो गए,
जिसकी याद में हम दीवाने हो गए,
Slok maurya "umang"
अंधकार जितना अधिक होगा प्रकाश का प्रभाव भी उसमें उतना गहरा औ
अंधकार जितना अधिक होगा प्रकाश का प्रभाव भी उसमें उतना गहरा औ
Rj Anand Prajapati
********* हो गया चाँद बासी ********
********* हो गया चाँद बासी ********
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
Loading...