Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
27 May 2023 · 1 min read

हमें प्यार ऐसे कभी तुम जताना

(16)
हमें प्यार ऐसे कभी तुम जताना।
अशआर कोई मेरा गुनगुनाना ।।

फक्त एक तमन्ना यही है हमारी।
ख़फ़ा होके हमसे न तुम दूर जाना ।।

बिना शर्त तुमको चाहा है दिल ने ।
ज़रूरी नहीं कोई वादा निभाना ।।

बिछड़ कर कभी भी जी न सकेंगे।
न जो हो यकीं तो हमें आज़माना।।

हमें प्यार ऐसे कभी तुम जताना।
अशआर कोई मेरा गुनगुनाना ।।

डाॅ फौज़िया नसीम शाद

Language: Hindi
15 Likes · 499 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr fauzia Naseem shad
View all
You may also like:
वो दिल लगाकर मौहब्बत में अकेला छोड़ गये ।
वो दिल लगाकर मौहब्बत में अकेला छोड़ गये ।
Phool gufran
नामुमकिन
नामुमकिन
Srishty Bansal
प्रायश्चित
प्रायश्चित
Shyam Sundar Subramanian
Tlash
Tlash
Swami Ganganiya
लालच
लालच
Vandna thakur
💜सपना हावय मोरो💜
💜सपना हावय मोरो💜
सुरेश अजगल्ले 'इन्द्र '
मुक्तक
मुक्तक
sushil sarna
2817. *पूर्णिका*
2817. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
चोट शब्दों की ना सही जाए
चोट शब्दों की ना सही जाए
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
रमेशराज की कविता विषयक मुक्तछंद कविताएँ
रमेशराज की कविता विषयक मुक्तछंद कविताएँ
कवि रमेशराज
So, blessed by you , mom
So, blessed by you , mom
Rajan Sharma
उसको फिर उसका
उसको फिर उसका
Dr fauzia Naseem shad
मां के आँचल में
मां के आँचल में
Satish Srijan
बरकत का चूल्हा
बरकत का चूल्हा
Ritu Asooja
हिन्दी दोहा बिषय- तारे
हिन्दी दोहा बिषय- तारे
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
शरद
शरद
Tarkeshwari 'sudhi'
नील नभ पर उड़ रहे पंछी बहुत सुन्दर।
नील नभ पर उड़ रहे पंछी बहुत सुन्दर।
surenderpal vaidya
दुनिया को छोड़िए मुरशद.!
दुनिया को छोड़िए मुरशद.!
शेखर सिंह
■ बातों बातों में...
■ बातों बातों में...
*Author प्रणय प्रभात*
मित्र तुम्हारा कृष्ण (कुंडलिया)
मित्र तुम्हारा कृष्ण (कुंडलिया)
Ravi Prakash
ग़ज़ल
ग़ज़ल
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
यक्ष प्रश्न
यक्ष प्रश्न
Manu Vashistha
कैसे गाऊँ गीत मैं, खोया मेरा प्यार
कैसे गाऊँ गीत मैं, खोया मेरा प्यार
Dr Archana Gupta
" अलबेले से गाँव है "
भगवती प्रसाद व्यास " नीरद "
कुछ देर तुम ऐसे ही रहो
कुछ देर तुम ऐसे ही रहो
gurudeenverma198
"तेरी खामोशियाँ"
Dr. Kishan tandon kranti
Quote...
Quote...
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
🥀*अज्ञानी की कलम*🥀
🥀*अज्ञानी की कलम*🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
नाम कमाले ये जिनगी म, संग नई जावय धन दौलत बेटी बेटा नारी।
नाम कमाले ये जिनगी म, संग नई जावय धन दौलत बेटी बेटा नारी।
Ranjeet kumar patre
'रामबाण' : धार्मिक विकार से चालित मुहावरेदार शब्द / DR. MUSAFIR BAITHA
'रामबाण' : धार्मिक विकार से चालित मुहावरेदार शब्द / DR. MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
Loading...