Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
12 Aug 2023 · 1 min read

हमारा भारतीय तिरंगा

भारत का तिरंगा सदा लहराए रखना।
देश के तिरंगे की आन शान रखना।

संघर्ष और बलिदान से मिली आजादी समझना।
देश हमारा अनमोल आजादी को बचाना।

हां व्यर्थ न तुम करना वीरों के बलिदान।
भारत देश के वीरों का मान जगाए रखना।

न जाति न घर्म के भेदभाव में लड़ना ।
भारत हमारा देश की शान को बचाना ।

दुश्मनों से सुरक्षित राह पर देश को बचाना।
हम सभी देशवासियों की उम्मीदों को जगाना।

जान देकर लहु से हम भारत माता की शान बढ़ाना।
देश‌ के तिरंगे की आन मान और शान बनाएं रखना

तिंरगा प्यारा हिंदुस्तान हमारा भारत हमारी शान।
जान से प्यारा तिरंगा सदा लहराए रखना।

जय हिन्द जय भारत माता की शान को बचाना।

नीरज अग्रवाल चंदौसी उ.प्र

Language: Hindi
436 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
धीरे _धीरे ही सही _ गर्मी बीत रही है ।
धीरे _धीरे ही सही _ गर्मी बीत रही है ।
Rajesh vyas
हम सम्भल कर चलते रहे
हम सम्भल कर चलते रहे
VINOD CHAUHAN
ग़ज़ल/नज़्म - मुझे दुश्मनों की गलियों में रहना पसन्द आता है
ग़ज़ल/नज़्म - मुझे दुश्मनों की गलियों में रहना पसन्द आता है
अनिल कुमार
मन पतंगा उड़ता रहे, पैच कही लड़जाय।
मन पतंगा उड़ता रहे, पैच कही लड़जाय।
Anil chobisa
World Dance Day
World Dance Day
Tushar Jagawat
रख लेना तुम सम्भाल कर
रख लेना तुम सम्भाल कर
Pramila sultan
गोंडवाना गोटूल
गोंडवाना गोटूल
GOVIND UIKEY
भूल
भूल
Neeraj Agarwal
शाम उषा की लाली
शाम उषा की लाली
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
*जितनी जिसकी सोच संकुचित, वह उतना मेधावी है    (मुक्तक)*
*जितनी जिसकी सोच संकुचित, वह उतना मेधावी है (मुक्तक)*
Ravi Prakash
"सफलता कुछ करने या कुछ पाने में नहीं बल्कि अपनी सम्भावनाओं क
पूर्वार्थ
वफा से वफादारो को पहचानो
वफा से वफादारो को पहचानो
goutam shaw
कजरी (वर्षा-गीत)
कजरी (वर्षा-गीत)
Shekhar Chandra Mitra
शाम ढलते ही
शाम ढलते ही
Davina Amar Thakral
बिल्ले राम
बिल्ले राम
Kanchan Khanna
फिर से
फिर से
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
जाने कब दुनियां के वासी चैन से रह पाएंगे।
जाने कब दुनियां के वासी चैन से रह पाएंगे।
सत्य कुमार प्रेमी
Perfection, a word which cannot be described within the boun
Perfection, a word which cannot be described within the boun
Sukoon
(कहानी)
(कहानी) "सेवाराम" लेखक -लालबहादुर चौरसिया लाल
लालबहादुर चौरसिया लाल
मत जलाओ तुम दुबारा रक्त की चिंगारिया।
मत जलाओ तुम दुबारा रक्त की चिंगारिया।
Sanjay ' शून्य'
जेसे दूसरों को खुशी बांटने से खुशी मिलती है
जेसे दूसरों को खुशी बांटने से खुशी मिलती है
shabina. Naaz
जीवन आसान नहीं है...
जीवन आसान नहीं है...
Ashish Morya
तुम्हारी आँख से जब आँख मिलती है मेरी जाना,
तुम्हारी आँख से जब आँख मिलती है मेरी जाना,
SURYA PRAKASH SHARMA
सुन्दर तन तब जानिये,
सुन्दर तन तब जानिये,
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
किस बात का गुमान है यारो
किस बात का गुमान है यारो
Anil Mishra Prahari
23/08.छत्तीसगढ़ी पूर्णिका
23/08.छत्तीसगढ़ी पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
Thought
Thought
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
दीवारों की चुप्पी में राज हैं दर्द है
दीवारों की चुप्पी में राज हैं दर्द है
Sangeeta Beniwal
जीत और हार ज़िंदगी का एक हिस्सा है ,
जीत और हार ज़िंदगी का एक हिस्सा है ,
Neelofar Khan
शीर्षक:इक नज़र का सवाल है।
शीर्षक:इक नज़र का सवाल है।
Lekh Raj Chauhan
Loading...