Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
14 Jul 2016 · 1 min read

हमें धोखा हुआ तितली के पर का……..

लड़कपन की हसीं दिलकश डगर का।
हमारा प्यार था पहली नज़र का ।।

सबब वो शाम का वो ही सहर का।
भरोसा क्या करें ऐसी नज़र का।।

सिवा मेरे दिखे हैं ऐब सबके।
बड़ा धोखा रहा मेरी नज़र का।।

तुम्हारी खुशबुएँ रख दीं हवा पर
पता लिख्खा नहीं तेरे शहर का।

फड़कती थीं उनीदीं सी वो पलकें,
हमें धोखा हुआ तितली के पर का।।

…..सुदेश कुमार मेहर

3 Comments · 343 Views
You may also like:
षडयंत्रों की कमी नहीं है
सूर्यकांत द्विवेदी
इसीलिए मेरे दुश्मन बहुत है
gurudeenverma198
मेहमान बनकर आए और दुश्मन बन गए ..
ओनिका सेतिया 'अनु '
जर,जोरू और जमीन
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
शराफत में इसको मुहब्बत लिखेंगे।
सत्य कुमार प्रेमी
एक आशिक की संवेदना
Aditya Prakash
بہت ہوشیار ہو گئے ہیں لوگ۔
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
पैसों की भूख
AMRESH KUMAR VERMA
✍️आस्तीन में सांप✍️
'अशांत' शेखर
💐संसारे कः अपि स्व न💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
#रिश्ते फूलों जैसे
आर.एस. 'प्रीतम'
काश....! तू मौन ही रहता....
Dr. Pratibha Mahi
ग़ज़ल / ये दीवार गिराने दो....!
*प्रणय प्रभात*
अगर तुम्हे कुछ बनना है
Ram Krishan Rastogi
युवाको मानसिकता (नेपाली लघुकथा)
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
A poor little girl
Buddha Prakash
बरसात और बाढ़
डा. सूर्यनारायण पाण्डेय
बाल कहानी- गणतंत्र दिवस
SHAMA PARVEEN
"बेटी के लिए उसके पिता "
rubichetanshukla रुबी चेतन शुक्ला
नियति से प्रतिकार लो
Saraswati Bajpai
प्यार झूठा
Alok Vaid Azad
सुनो
shabina. Naaz
किया है तुम्हें कितना याद ?
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
अतीत के झरोखों से
Ravi Prakash
मत्तगयंद सवैया ( राखी )
संजीव शुक्ल 'सचिन'
भेज दे कोई इक रहनुमा।
Taj Mohammad
हे ईश्वर क्या मांगू
Anamika Singh
हर जगह तुझको मैंने पाया है
Dr fauzia Naseem shad
मित्र
जगदीश लववंशी
चाँद और जुगनू
Abhishek prabal
Loading...