Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
4 Feb 2024 · 1 min read

हमदम का साथ💕🤝

मैं सजल नयनों से देखूं क्या हो गई है घनी शाम दिल की?
हर यादें धूमिल-सी, हर बातें ये मेरी, मेरी ज़िन्दगी क्यों बोझिल बुझी-सी|

कोई कहता कुछ भी , कानों में ताकत नहीं मेरी ,न आँखें दिखाएं|
बूढ़ा हो गया है, संसार सारा, ये मन मेरा दोषी सुनता कहाँ है?

मयखाना मेरा जमाना ये सारा, गली,पेड-छाया,सडक का किनारा|
बस तेरा हंसता चेहरा निहारा, जाम-चाहतों से जाम ये हारा||

बड़ी तेज आंधी-सी बीती उमरिया।
फिसले तो संभलने का,मौका न दिया।
बशर होश आया तभी जब, मिला साथ तेरा,
इतरा रहा हूं, झूमकर खुशी में, थामे हाथ तेरा।।

रही जिंदगी तक, जुड़ी याद तुमसे,
रूठना – मनाना, मीठी बात तुमसे।
भले भाल झुर्री,सफेद केशबंधन,
पलक श्वेत हों भी, न घटे राग – स्यंदन।।

भले ढलती शाम , पर रोशन खुशी से।
नशेमन हो खाली ,रमें मन उसी से।
फकत जिंदगी भर, रहे तू जमाना!
मेरा प्यार हमदम , एक वही आशियाना।।

कुसुम सम मन हो, व्यवहार का सौरभ।
सुवासित युगल हम, अनुरागी हो कर।।
सरस रस भरा हो, मधुरता निरंतर,
हर-अंश बांटे, सुख – दुःख समान्तर।।

तुम्हें देखकर मेरा गजल गुनगुनाना, संगीत उस पल तेरा खिलखिलाना|
अभिनेता मैं और अभिनेत्री तुम हो, बस ऐसा ही आलम ,ऐसी फिल्म हो।।

1 Like · 90 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
किन्तु क्या संयोग ऐसा; आज तक मन मिल न पाया?
किन्तु क्या संयोग ऐसा; आज तक मन मिल न पाया?
संजीव शुक्ल 'सचिन'
छंद -रामभद्र छंद
छंद -रामभद्र छंद
Sushila joshi
सात सवाल
सात सवाल
रोहताश वर्मा 'मुसाफिर'
भाड़ में जाओ
भाड़ में जाओ
ruby kumari
प्रोटोकॉल
प्रोटोकॉल
Dr. Pradeep Kumar Sharma
"सवाल"
Dr. Kishan tandon kranti
माइल है दर्दे-ज़ीस्त,मिरे जिस्मो-जाँ के बीच
माइल है दर्दे-ज़ीस्त,मिरे जिस्मो-जाँ के बीच
Sarfaraz Ahmed Aasee
गर सीरत की चाह हो तो लाना घर रिश्ता।
गर सीरत की चाह हो तो लाना घर रिश्ता।
Taj Mohammad
बाकी सब कुछ चंगा बा
बाकी सब कुछ चंगा बा
Shekhar Chandra Mitra
एक गलत निर्णय हमारे वजूद को
एक गलत निर्णय हमारे वजूद को
Anil Mishra Prahari
अमृत पीना चाहता हर कोई,खुद को रख कर ध्यान।
अमृत पीना चाहता हर कोई,खुद को रख कर ध्यान।
विजय कुमार अग्रवाल
आव्हान
आव्हान
Shyam Sundar Subramanian
तुम हासिल ही हो जाओ
तुम हासिल ही हो जाओ
हिमांशु Kulshrestha
कभी रहे पूजा योग्य जो,
कभी रहे पूजा योग्य जो,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
शकुनियों ने फैलाया अफवाहों का धुंध
शकुनियों ने फैलाया अफवाहों का धुंध
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
चौखट पर जलता दिया और यामिनी, अपलक निहार रहे हैं
चौखट पर जलता दिया और यामिनी, अपलक निहार रहे हैं
पूर्वार्थ
गज़ल क्या लिखूँ मैं तराना नहीं है
गज़ल क्या लिखूँ मैं तराना नहीं है
VINOD CHAUHAN
जीवन में सही सलाहकार का होना बहुत जरूरी है
जीवन में सही सलाहकार का होना बहुत जरूरी है
Rekha khichi
जिंदगी देने वाली माँ
जिंदगी देने वाली माँ
shabina. Naaz
कोरोना का रोना! / MUSAFIR BAITHA
कोरोना का रोना! / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
Hum to har chuke hai tumko
Hum to har chuke hai tumko
Sakshi Tripathi
वर दो नगपति देवता ,महासिंधु का प्यार(कुंडलिया)
वर दो नगपति देवता ,महासिंधु का प्यार(कुंडलिया)
Ravi Prakash
24/237. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
24/237. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
चुगलखोरों और जासूसो की सभा में गूंगे बना रहना ही बुद्धिमत्ता
चुगलखोरों और जासूसो की सभा में गूंगे बना रहना ही बुद्धिमत्ता
Rj Anand Prajapati
अपनी सूरत
अपनी सूरत
Dr fauzia Naseem shad
#OMG
#OMG
*Author प्रणय प्रभात*
शीर्षक – निर्णय
शीर्षक – निर्णय
Sonam Puneet Dubey
मनमीत मेरे तुम हो
मनमीत मेरे तुम हो
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
उसके पलकों पे न जाने क्या जादू  हुआ,
उसके पलकों पे न जाने क्या जादू हुआ,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
जीवन का रंगमंच
जीवन का रंगमंच
Harish Chandra Pande
Loading...