Oct 3, 2016 · 1 min read

स्वप्नलोक

महज स्वपनलोक की सैर से उत्पन्न कविता

सदियों से एक सपना है…
कहो पूरा करोगे तुम ?
भूल जाओ मेरे सिवा सब कुछ ….
कहो ऐसा करोगे तुम…?

नही कुछ और तमन्ना,के बस मेरे हो जाओ तुम
कभी ना छोड़ के जाओगे….
कहो ऐसा करोगे तुम….?

फकत एक लफ्ज सुनने को,कई बरसों से तरसी हूँ
मुझे अपना बना लो…..
कहो ऐसा करोगे तुम…?

1 Like · 1 Comment · 203 Views
You may also like:
बहन का जन्मदिन
Khushboo Khatoon
💐💐💐न पूछो हाल मेरा तुम,मेरा दिल ही दुखाओगे💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
आंखों में तुम मेरी सांसों में तुम हो
VINOD KUMAR CHAUHAN
राई का पहाड़
Sangeeta Darak maheshwari
खिले रहने का ही संदेश
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
बाबा साहेब जन्मोत्सव
Mahender Singh Hans
नरसिंह अवतार
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
🍀🌺प्रेम की राह पर-44🍀🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
बाबू जी
Anoop Sonsi
सार्थक शब्दों के निरर्थक अर्थ
Manisha Manjari
युद्ध सिर्फ प्रश्न खड़ा करता है [भाग४]
Anamika Singh
इश्क़―की―आग
N.ksahu0007@writer
*सदा तुम्हारा मुख नंदी शिव की ही ओर रहा है...
Ravi Prakash
हे गुरू।
Anamika Singh
बद्दुआ बन गए है।
Taj Mohammad
नन्हा बीज
मनोज कर्ण
नारी है सम्मान।
Taj Mohammad
प्रिय सुनो!
Shailendra Aseem
रेलगाड़ी- ट्रेनगाड़ी
Buddha Prakash
समंदर की चेतावनी
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
विश्व पृथ्वी दिवस
Dr Archana Gupta
दो बिल्लियों की लड़ाई (हास्य कविता)
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
'दुष्टों का नाश करें' (ओज - रस)
Vishnu Prasad 'panchotiya'
सच ही तो है हर आंसू में एक कहानी है
VINOD KUMAR CHAUHAN
*!* अपनी यारी बेमिसाल *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
【34】*!!* आग दबाये मत रखिये *!!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
सद्आत्मा शिवाला
Pt. Brajesh Kumar Nayak
जानें कैसा धोखा है।
Taj Mohammad
पितृ महिमा
मनोज कर्ण
मौन की पीड़ा
Saraswati Bajpai
Loading...