Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
10 May 2024 · 1 min read

सैनिक

सरहद पर मरता उड़ती रेगिस्तानो में तपता बर्फ चट्टानों पर एक हाथ तिरंगा दूजे हाथ संगीन पल प्रहर राष्ट्र कि रक्षा मे जीता मरता ।।

जाने कहाँ किधर से कोई गोली आ जाये मौत किस्मत कि लिख जाए चौकन्ना आंख कान खोले एक टक सरहद पर खड़ा रहता।।

बूढ़े माँ बाप कि आंखे करती इंतज़ार बीबी बच्चे नित्य मांगते बापू के जीवन का ईश्वर से आशीर्वाद।।

नव विवाहिता को सेज सुहाग छोड़ चल पड़ता सर बांध कफ़न सेहरे का सर त्याग।।

आशाओं उम्मीदों का बेटा शौहर प्यार परिवार कि अभिलाषा अरमान कि चाह राह।।

एक दिन ताबूद में बंद आता शव कुछ सरकारी अधिकारी अमला आता श्रद्धा कि अंजली सलामी
का देता पुरस्कार।।

गांव नगर कि जन जनता जब तक सूरज चाँद रहेगा तेरा नाम रहेगा कुछ दिन करती याद।।

वेवा अपने सुहाग मर्यदा बीर धैर्य धीर के सात फेरों को निभाती माँ बाप बेटे कि शहादत का जीवन भर निभाती साथ।।

भावी जन्मों में भी बलिदानी बेटा मांगते जीवन का पल प्रहर जीवन की चुनौती लड़ते मा बाप।।

सैनिक जीवन कठिन चुनौती वर्तमान में जीते जी शरहद पर मरता देश पर मर मिटने के बाद अतीत का बुझा चिराग अंधकार गुमनामी में खो जाता।।

Language: Hindi
1 Like · 29 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
View all
You may also like:
"सपनों का सफर"
Pushpraj Anant
परमेश्वर का प्यार
परमेश्वर का प्यार
ओंकार मिश्र
ख़ुद के होते हुए भी
ख़ुद के होते हुए भी
Dr fauzia Naseem shad
भूल जाऊं तुझे भूल पता नहीं
भूल जाऊं तुझे भूल पता नहीं
VINOD CHAUHAN
अपनी-अपनी दिवाली
अपनी-अपनी दिवाली
Dr. Pradeep Kumar Sharma
“पसरल अछि अकर्मण्यता”
“पसरल अछि अकर्मण्यता”
DrLakshman Jha Parimal
*अगवा कर लिया है सूरज को बादलों ने...,*
*अगवा कर लिया है सूरज को बादलों ने...,*
AVINASH (Avi...) MEHRA
मीडिया पर व्यंग्य
मीडिया पर व्यंग्य
Mahender Singh
दूर कहीं जब मीत पुकारे
दूर कहीं जब मीत पुकारे
Mahesh Tiwari 'Ayan'
"हास्य कथन "
Slok maurya "umang"
श्री राम जय राम।
श्री राम जय राम।
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
■ कमाल है साहब!!
■ कमाल है साहब!!
*प्रणय प्रभात*
*बादल*
*बादल*
Santosh kumar Miri
**आजकल के रिश्ते*
**आजकल के रिश्ते*
Harminder Kaur
माँ ही हैं संसार
माँ ही हैं संसार
Shyamsingh Lodhi Rajput (Tejpuriya)
इश्क का तोता
इश्क का तोता
Neelam Sharma
बोलो!... क्या मैं बोलूं...
बोलो!... क्या मैं बोलूं...
Santosh Soni
जो मनुष्य सिर्फ अपने लिए जीता है,
जो मनुष्य सिर्फ अपने लिए जीता है,
नेताम आर सी
' जो मिलना है वह मिलना है '
' जो मिलना है वह मिलना है '
निरंजन कुमार तिलक 'अंकुर'
*चाँद को भी क़बूल है*
*चाँद को भी क़बूल है*
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
!! चहक़ सको तो !!
!! चहक़ सको तो !!
Chunnu Lal Gupta
किस्सा मशहूर है जमाने में मेरा
किस्सा मशहूर है जमाने में मेरा
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
कश्मीरी पण्डितों की रक्षा में कुर्बान हुए गुरु तेगबहादुर
कश्मीरी पण्डितों की रक्षा में कुर्बान हुए गुरु तेगबहादुर
कवि रमेशराज
*आई ए एस फॅंस गए, मंत्री दसवीं फेल (हास्य कुंडलिया)*
*आई ए एस फॅंस गए, मंत्री दसवीं फेल (हास्य कुंडलिया)*
Ravi Prakash
राम विवाह कि मेहंदी
राम विवाह कि मेहंदी
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
जीवन की सबसे बड़ी त्रासदी
जीवन की सबसे बड़ी त्रासदी
ruby kumari
Quote - If we ignore others means we ignore society. This way we ign
Quote - If we ignore others means we ignore society. This way we ign
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
रंज-ओ-सितम से दूर फिरसे इश्क की हो इब्तिदा,
रंज-ओ-सितम से दूर फिरसे इश्क की हो इब्तिदा,
Kalamkash
विश्व जल दिवस
विश्व जल दिवस
Dr. Kishan tandon kranti
बंदर का खेल!
बंदर का खेल!
कविता झा ‘गीत’
Loading...