Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 Feb 2024 · 1 min read

सूर्य देव की अरुणिम आभा से दिव्य आलोकित है!

सूर्य देव की अरुणिम आभा से दिव्य आलोकित है!
सूर्यवंशी श्री राम अयोध्या आए विश्व प्रफुल्लित है!!
वियोगी राम लखन सिया का वनवास सम्पूर्ण हुआ,
दैव हमारे आज पधारे देख अयोध्यावासी प्रमुदित है!!
मन,कर्म,वचन वैरागी अयोध्यापति का दिव्य दर्शन,
सम्पूर्ण विश्व बन्थुत्व अविरल थार पाकर आन्नदित है!!

Language: Hindi
62 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Bodhisatva kastooriya
View all
You may also like:
नए साल की नई सुबह पर,
नए साल की नई सुबह पर,
Anamika Singh
देश- विरोधी तत्व
देश- विरोधी तत्व
लक्ष्मी सिंह
सखी री आया फागुन मास
सखी री आया फागुन मास
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
कमियों पर
कमियों पर
REVA BANDHEY
ग़ज़ल
ग़ज़ल
प्रीतम श्रावस्तवी
// सुविचार //
// सुविचार //
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
हम ख़फ़ा हो
हम ख़फ़ा हो
Dr fauzia Naseem shad
हर राह सफर की।
हर राह सफर की।
Taj Mohammad
स्वरचित कविता..✍️
स्वरचित कविता..✍️
Shubham Pandey (S P)
सागर की हिलोरे
सागर की हिलोरे
SATPAL CHAUHAN
धीरे धीरे  निकल  रहे  हो तुम दिल से.....
धीरे धीरे निकल रहे हो तुम दिल से.....
Rakesh Singh
*चिड़िया और साइकिल (बाल कविता)*
*चिड़िया और साइकिल (बाल कविता)*
Ravi Prakash
झरना का संघर्ष
झरना का संघर्ष
Buddha Prakash
समलैंगिकता-एक मनोविकार
समलैंगिकता-एक मनोविकार
मनोज कर्ण
"धीरे-धीरे"
Dr. Kishan tandon kranti
3067.*पूर्णिका*
3067.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
■ आज का चिंतन...
■ आज का चिंतन...
*Author प्रणय प्रभात*
लाइफ का कोई रिमोट नहीं होता
लाइफ का कोई रिमोट नहीं होता
शेखर सिंह
आता एक बार फिर से तो
आता एक बार फिर से तो
Dr Manju Saini
"When the storms of life come crashing down, we cannot contr
Manisha Manjari
ऐ ज़ालिम....!
ऐ ज़ालिम....!
Srishty Bansal
"चाहत " ग़ज़ल
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
पहले एक बात कही जाती थी
पहले एक बात कही जाती थी
DrLakshman Jha Parimal
ईश ......
ईश ......
sushil sarna
छत्तीसगढ़ स्थापना दिवस
छत्तीसगढ़ स्थापना दिवस
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
सफलता का जश्न मनाना ठीक है, लेकिन असफलता का सबक कभी भूलना नह
सफलता का जश्न मनाना ठीक है, लेकिन असफलता का सबक कभी भूलना नह
Ranjeet kumar patre
जिंदगी में संतुलन खुद की कमियों को समझने से बना रहता है,
जिंदगी में संतुलन खुद की कमियों को समझने से बना रहता है,
Seema gupta,Alwar
Tum khas ho itne yar ye  khabar nhi thi,
Tum khas ho itne yar ye khabar nhi thi,
Sakshi Tripathi
*अज्ञानी की कलम*
*अज्ञानी की कलम*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
💐प्रेम कौतुक-97💐
💐प्रेम कौतुक-97💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
Loading...