Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
3 Aug 2021 · 1 min read

सीरिया रानी

चिड़िया जैसी गुड़िया रानी,
देखा नहीं जाता तुम्हारे आंखों में पानी।

धूल मिट्टी से भरा चेहरा तुम्हारा,
बयां करती हैं मानो – कोई नहीं है मेरा सहारा।

दर्द भरी आंखें तुम्हारी,
बयां करती हैं मानो – अंधकार है दुनिया सारी।

झूठी मुस्कुराहट होटों पे तुम्हारे,
बयां करती हैं मानो – मत कहो हँसने को, रो पडूंगी मैं अभी।

मट- मैली वस्त्र तुम्हारे,
बयां कर रही हैं मानो – छोड़ चले गए अकेले में मुझे सभी।

घुंग्रालू बिखरे केश तुम्हारे,
बयां कर रही हैं मानो – नहीं है कोई सर पे हाथ फेरने को।

बच्ची की मत्थे की ये झुर्रियां,
बयां कर रही हैं मानो – बहुत चिंतित हूं, मुझे इस चिंता से वंचित करो।

मासुम रोते नज़रे तुम्हारे,
बयां कर रही हैं मानो – मरे मां- बाप को कोई मेरे, सोने से जगा दो।

खोया हुआ झुमका तुम्हारा,
बयां कर रही हैं मानो – खो दिया है मैंने अपने सर का साया।

अनहोनी चित्र इस बच्ची की है,
बयां कर रही हैं मानो-
यह बयां सच्ची की है।

©® डॉ. मुल्ला आदम अली
तिरुपति – आंध्र प्रदेश
https://www.drmullaadamali.com

Language: Hindi
1 Like · 513 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
गुरुवर
गुरुवर
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
ईश्वर की कृपा दृष्टि व बड़े बुजुर्ग के आशीर्वाद स्वजनों की द
ईश्वर की कृपा दृष्टि व बड़े बुजुर्ग के आशीर्वाद स्वजनों की द
Shashi kala vyas
जिंदगी जीना है तो खुशी से जीयों और जीभर के जीयों क्योंकि एक
जिंदगी जीना है तो खुशी से जीयों और जीभर के जीयों क्योंकि एक
जय लगन कुमार हैप्पी
कभी न खत्म होने वाला यह समय
कभी न खत्म होने वाला यह समय
प्रेमदास वसु सुरेखा
आओ ...
आओ ...
Dr Manju Saini
मेरी किस्मत को वो अच्छा मानता है
मेरी किस्मत को वो अच्छा मानता है
कवि दीपक बवेजा
"कुछ तो गुना गुना रही हो"
Lohit Tamta
*हृदय कवि का विधाता, श्रेष्ठतम वरदान देता है 【मुक्तक】*
*हृदय कवि का विधाता, श्रेष्ठतम वरदान देता है 【मुक्तक】*
Ravi Prakash
शरद पूर्णिमा की देती हूंँ बधाई, हर घर में खुशियांँ चांँदनी स
शरद पूर्णिमा की देती हूंँ बधाई, हर घर में खुशियांँ चांँदनी स
Neerja Sharma
क्या रखा है? वार में,
क्या रखा है? वार में,
Dushyant Kumar
पेड़ लगाओ पर्यावरण बचाओ
पेड़ लगाओ पर्यावरण बचाओ
Buddha Prakash
*सांच को आंच नहीं*
*सांच को आंच नहीं*
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
जिन्दगी की शाम
जिन्दगी की शाम
Bodhisatva kastooriya
#शेर-
#शेर-
*Author प्रणय प्रभात*
💜सपना हावय मोरो💜
💜सपना हावय मोरो💜
सुरेश अजगल्ले"इंद्र"
आभरण
आभरण
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
पलक-पाँवड़े
पलक-पाँवड़े
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
Motivational
Motivational
Mrinal Kumar
प्रेम और घृणा दोनों ऐसे
प्रेम और घृणा दोनों ऐसे
Neelam Sharma
अम्बेडकरवादी हाइकु / मुसाफ़िर बैठा
अम्बेडकरवादी हाइकु / मुसाफ़िर बैठा
Dr MusafiR BaithA
Book of the day: मैं और तुम (काव्य संग्रह)
Book of the day: मैं और तुम (काव्य संग्रह)
Sahityapedia
ज़िंदगी है,
ज़िंदगी है,
पूर्वार्थ
24, *ईक्सवी- सदी*
24, *ईक्सवी- सदी*
Dr Shweta sood
☀️☀️मैं ग़र चाँद हूँ तो तुम्हें चाँदनी कह दूँ☀️☀️
☀️☀️मैं ग़र चाँद हूँ तो तुम्हें चाँदनी कह दूँ☀️☀️
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
गणतंत्र का जश्न
गणतंत्र का जश्न
Kanchan Khanna
प्यारा भारत देश हमारा
प्यारा भारत देश हमारा
Dr. Pradeep Kumar Sharma
पुलवामा वीरों को नमन
पुलवामा वीरों को नमन
Satish Srijan
नजरिया
नजरिया
नेताम आर सी
"आकुलता"- गीत
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
*भगवान गणेश जी के जन्म की कथा*
*भगवान गणेश जी के जन्म की कथा*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
Loading...