Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
28 Jul 2023 · 1 min read

सावन के झूलें कहे, मन है बड़ा उदास ।

सावन के झूलें कहे, मन है बड़ा उदास ।
युग आया है आधुनिक, टूट रही है आस।।
टूट रही है, आस कहीं है, भटकी-भटकी।
कट-कट काटे, रस्सी -पाटे, लटकी- लटकी।।
यह सूनापन, भारी तन-मन, रोता आँगन ।
बीते गिन-गिन, कजरी के बिन, कैसा सावन।।

डाली-डाली रिक्त सी, ताके निशि दिन राह ।
सखियाँ आ जाये कभी, भूले-भटके राह।।
भूले-भटके, राह पलट के, झूले आये ।
सूनी गलियाँ, गुम-सुम कलियाँ, फिर मुस्काये।।
कभी न रोकें, पट के झोंके, खाली-खाली ।
लिखकर पाती, तुम्हें बुलाती, डाली-डाली ।।

झूलों की रौनक नहीं, हँसी ठिठोली लुप्त।
शहर पहुँचते गाँव में, धीरे – धीरे गुप्त ।।
धीरे- धीरे, गुप्त लकीरें, फांद रहे हैं ।
मानव लश्कर, बोली बिस्तर, बांध रहे हैं।।
कहता सावन, हरियाला मन, कभी न भूलों।
बांध हिंडोला, फोड़ फफोला, झूला झूलों।।

226 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
क्यो नकाब लगाती
क्यो नकाब लगाती
भरत कुमार सोलंकी
हमने क्या खोया
हमने क्या खोया
Dr fauzia Naseem shad
सम्बंध बराबर या फिर
सम्बंध बराबर या फिर
*प्रणय प्रभात*
नाम:- प्रतिभा पाण्डेय
नाम:- प्रतिभा पाण्डेय "प्रति"
Pratibha Pandey
समय
समय
नूरफातिमा खातून नूरी
सुनो तुम
सुनो तुम
Sangeeta Beniwal
शीर्षक - 'शिक्षा : गुणात्मक सुधार और पुनर्मूल्यांकन की महत्ती आवश्यकता'
शीर्षक - 'शिक्षा : गुणात्मक सुधार और पुनर्मूल्यांकन की महत्ती आवश्यकता'
ज्ञानीचोर ज्ञानीचोर
पर्यावरण-संरक्षण
पर्यावरण-संरक्षण
Kanchan Khanna
बताओगे कैसे, जताओगे कैसे
बताओगे कैसे, जताओगे कैसे
Shweta Soni
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
"सेहत का राज"
Dr. Kishan tandon kranti
रात अज़ब जो स्वप्न था देखा।।
रात अज़ब जो स्वप्न था देखा।।
पाण्डेय चिदानन्द "चिद्रूप"
"पुरानी तस्वीरें"
Lohit Tamta
राष्ट्रीय गणित दिवस
राष्ट्रीय गणित दिवस
Tushar Jagawat
पछतावे की अग्नि
पछतावे की अग्नि
Neelam Sharma
मोबाईल नहीं
मोबाईल नहीं
Harish Chandra Pande
..........?
..........?
शेखर सिंह
कोठरी
कोठरी
Punam Pande
वो ज़िद्दी था बहुत,
वो ज़िद्दी था बहुत,
पूर्वार्थ
*हमेशा जिंदगी की एक, सी कब चाल होती है (हिंदी गजल)*
*हमेशा जिंदगी की एक, सी कब चाल होती है (हिंदी गजल)*
Ravi Prakash
2319.पूर्णिका
2319.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
हाइकु: गौ बचाओं.!
हाइकु: गौ बचाओं.!
Prabhudayal Raniwal
ओ चाँद गगन के....
ओ चाँद गगन के....
डॉ.सीमा अग्रवाल
मतलबी किरदार
मतलबी किरदार
Aman Kumar Holy
जिस्म से जान निकालूँ कैसे ?
जिस्म से जान निकालूँ कैसे ?
Manju sagar
कौन जात हो भाई / BACHCHA LAL ’UNMESH’
कौन जात हो भाई / BACHCHA LAL ’UNMESH’
Dr MusafiR BaithA
BUTTERFLIES
BUTTERFLIES
Dhriti Mishra
यादों को दिल से मिटाने लगा है वो आजकल
यादों को दिल से मिटाने लगा है वो आजकल
कृष्णकांत गुर्जर
अधिकतर ये जो शिकायत करने  व दुःख सुनाने वाला मन होता है यह श
अधिकतर ये जो शिकायत करने व दुःख सुनाने वाला मन होता है यह श
Pankaj Kushwaha
Safeguarding Against Cyber Threats: Vital Cybersecurity Measures for Preventing Data Theft and Contemplated Fraud
Safeguarding Against Cyber Threats: Vital Cybersecurity Measures for Preventing Data Theft and Contemplated Fraud
Shyam Sundar Subramanian
Loading...