Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
30 Jun 2016 · 2 min read

साईकिल

आज रामू की बिटिया का जन्मदिन था और फटेहाल रामू एक नयी चमचमाती हुई साइकिल लेकर घर आया था जिसे देखते ही उसकी १२ वर्षीया बेटी रेनू उससे लिपट गयी और साइकिल से खेलने लगी | आवाज सुनकर रामू की पत्नी नंदा भी बाहर आ गयी, देखा घर में एक नयी छोटी साइकिल आई थी लेकिन रामू की साइकिल कहीं दिखाई नहीं दे रही थी |

नंदा ने पूछा ,”सुनो जी, तुम्हारी साइकिल कहीं दिखाई नहीं दे रही और तुम्हारे कपडे फटे हुए कैसे हैं ?”

नंदा का सवाल सुनते ही रामू की आँखों में सुबह का दृश्य घूम गया, जब वो जंगल से होकर काम पर जा रहा था और कुछ बदमाशों ने उससे मारपीट करके सारे पैसे छीन लिए थे जो उसने अपनी बेटी की साइकिल के लिए पूरे एक साल तक मेहनत करके बचाए थे जिसके लिए उसकी बेटी कई दिनों से जिद कर रही थी क्योकि उसको २ किमी दूर स्कूल में पढने पैदल ही जाना पड़ता था | और कैसे वो आज अपनी साइकिल बेचकर और कुछ पैसे उधार करके साइकिल खरीद ही लाया था |

रामू को सोच में डूबा देख नंदा ने अपना सवाल दोहराया तो रामू ने कहा, “रास्ते में भी कितने गड्ढे हो गए हैं चलना भी मुश्किल हो गया है, सुबह साइकिल से गिर गया था तो साइकिल में टूट फूट हो गयी थी, मिस्त्री को दे आया हूँ बोल रहा था सामान नहीं है हफ्ते भर बाद ही ठीक हो पाएगी |” और साइकिल पाकर खुश होती बेटी के सर पर हाथ फेरकर लाड करने लगा और खारे पानी की आँखों से बाहर आती हुई बूंदों को अपने अन्दर ही छुपा गया |

“सन्दीप कुमार”
मौलिक और अप्रकाशित

ब्लॉग : https://sandeip01.blogspot.in

Language: Hindi
Tag: लघु कथा
364 Views
You may also like:
■ एक सलाह...
*Author प्रणय प्रभात*
आखिर कौन हो तुम?
Satish Srijan
करवा चौथ
Vindhya Prakash Mishra
जब हम छोटे से बच्चे थे।
लक्ष्मी सिंह
आई राखी
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
Shyari
श्याम सिंह बिष्ट
हर घर तिरंगा
Dr Archana Gupta
वो पहली नजर का इश्क
N.ksahu0007@writer
मैथिली भाषाक मुक्तक / शायरी
Binit Thakur (विनीत ठाकुर)
**अनहद नाद**
मनोज कर्ण
✍️✍️वजूद✍️✍️
'अशांत' शेखर
मत रो ऐ दिल
Anamika Singh
जीने की वजह
Seema 'Tu hai na'
बुंदेली दोहा प्रतियोगिता -९०
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
जो मैंने देखा...
पीयूष धामी
इंकलाब की तैयारी
Shekhar Chandra Mitra
'सनातन ज्ञान'
Godambari Negi
*उर (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
दस्तूर
Rashmi Sanjay
क्या नाम दे ?
Taj Mohammad
@@कामना च आवश्यकता च विभेदः@@
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
विश्वास
Harshvardhan "आवारा"
उजड़ती वने
AMRESH KUMAR VERMA
विन्यास
DR ARUN KUMAR SHASTRI
हालात-ए-दिल
लवकुश यादव "अज़ल"
अमृत महोत्सव
विजय कुमार अग्रवाल
प्यार ~ व्यापार
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
हमें अपनी
Dr fauzia Naseem shad
✍️ज़िंदगी का उसूल ✍️
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
पहचान
Dr.S.P. Gautam
Loading...