Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
4 Mar 2023 · 1 min read

सर्वंश दानी

भारत की धरती ऋणी सदा,
जन जन का है आभार बहुत।
करूं चरण बन्दना मैं मन से,
दसमेश पिता कई बार बहुत।

आगे भी खूब दानी होंगे,
उनमें कई भरेगे रीतेंगे।
तुझ सम कोई दानी न होगा,
युग पर युग कितने बीतेंगे।

पहला बलिदान पिता ने दिया,
बनकर रक्षा का वृहद सेतु।
परिवार वार दिया गुर तूने,
इस देश कौम और धर्म हेतु।

चारों बेटे चढ़े बलिवेदी,
और मां गुजरी किया स्वर्ग गमन।
सर्वंश दान देने वाले,
हे परम् सन्त सत बार नमन।

सतीश सृजन,

Language: Hindi
436 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Satish Srijan
View all
You may also like:
* तुम न मिलती *
* तुम न मिलती *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
رَہے ہَمیشَہ اَجْنَبی
رَہے ہَمیشَہ اَجْنَبی
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
किसी अनमोल वस्तु का कोई तो मोल समझेगा
किसी अनमोल वस्तु का कोई तो मोल समझेगा
कवि दीपक बवेजा
गीत
गीत
Mahendra Narayan
*दबाए मुँह में तम्बाकू, ये पीकें थूके जाते हैं (हास्य मुक्तक)*
*दबाए मुँह में तम्बाकू, ये पीकें थूके जाते हैं (हास्य मुक्तक)*
Ravi Prakash
सोच का आईना
सोच का आईना
Dr fauzia Naseem shad
दोहे- अनुराग
दोहे- अनुराग
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
बाबागिरी
बाबागिरी
Dr. Pradeep Kumar Sharma
Moral of all story.
Moral of all story.
Sampada
पूछो हर किसी सेआजकल  जिंदगी का सफर
पूछो हर किसी सेआजकल जिंदगी का सफर
पूर्वार्थ
कसौटी
कसौटी
Astuti Kumari
हमें रामायण
हमें रामायण
Dr.Rashmi Mishra
इश्क़
इश्क़
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
ग्लोबल वार्मिंग :चिंता का विषय
ग्लोबल वार्मिंग :चिंता का विषय
कवि अनिल कुमार पँचोली
The story of the two boy
The story of the two boy
DARK EVIL
अनसोई कविता...........
अनसोई कविता...........
sushil sarna
क्या हुआ ???
क्या हुआ ???
Shaily
*** भाग्यविधाता ***
*** भाग्यविधाता ***
Chunnu Lal Gupta
Hello Sun!
Hello Sun!
Buddha Prakash
जुदाई - चंद अशआर
जुदाई - चंद अशआर
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
खुदा ने ये कैसा खेल रचाया है ,
खुदा ने ये कैसा खेल रचाया है ,
Sukoon
जिंदगी मुझसे हिसाब मांगती है ,
जिंदगी मुझसे हिसाब मांगती है ,
Shyam Sundar Subramanian
"मेरी कलम से"
Dr. Kishan tandon kranti
कुटुंब के नसीब
कुटुंब के नसीब
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
" चर्चा चाय की "
Dr Meenu Poonia
हक जता तो दू
हक जता तो दू
Swami Ganganiya
*जीवन जीने की कला*
*जीवन जीने की कला*
Shashi kala vyas
हमेशा सही के साथ खड़े रहें,
हमेशा सही के साथ खड़े रहें,
नेताम आर सी
#कटाक्ष
#कटाक्ष
*Author प्रणय प्रभात*
जिंदगी में सफ़ल होने से ज्यादा महत्वपूर्ण है कि जिंदगी टेढ़े
जिंदगी में सफ़ल होने से ज्यादा महत्वपूर्ण है कि जिंदगी टेढ़े
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
Loading...