Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
5 Mar 2023 · 1 min read

💐प्रेम कौतुक-347💐

सभी खिड़कियाँ बन्द कर दीं गईं,बे-एतिबार कहकर,
हम तो अभी भी आवाज़ देते हैं,बा-एतिबार कहकर,
वो हमारा इंतज़ार नहीं करते,हरगिज़ नहीं हो सकता,
आइए-जाइए दिल में,यक़ीन-ओ-ए’तिबार की कहकर।

©®अभिषेक: पाराशरः “आनन्द”

Language: Hindi
272 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
खामोश रहेंगे अभी तो हम, कुछ नहीं बोलेंगे
खामोश रहेंगे अभी तो हम, कुछ नहीं बोलेंगे
gurudeenverma198
पुस्तक परिचय /समीक्षा
पुस्तक परिचय /समीक्षा
Ravi Prakash
" वाई फाई में बसी सबकी जान "
Dr Meenu Poonia
जीवन
जीवन
sushil sarna
आओ करें हम अर्चन वंदन वीरों के बलिदान को
आओ करें हम अर्चन वंदन वीरों के बलिदान को
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
सेहत या स्वाद
सेहत या स्वाद
विजय कुमार अग्रवाल
रिश्ता और ज़िद्द दोनों में ज़मीन आसमान का फ़र्क़ है, इसलिए ज
रिश्ता और ज़िद्द दोनों में ज़मीन आसमान का फ़र्क़ है, इसलिए ज
Anand Kumar
जिंदगी बहुत आसान
जिंदगी बहुत आसान
Ranjeet kumar patre
वह इंसान नहीं
वह इंसान नहीं
Anil chobisa
सदा मन की ही की तुमने मेरी मर्ज़ी पढ़ी होती,
सदा मन की ही की तुमने मेरी मर्ज़ी पढ़ी होती,
अनिल "आदर्श"
चलो एक बार फिर से ख़ुशी के गीत गाएं
चलो एक बार फिर से ख़ुशी के गीत गाएं
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
ज़िन्दगी में किसी बड़ी उपलब्धि प्राप्त करने के लिए
ज़िन्दगी में किसी बड़ी उपलब्धि प्राप्त करने के लिए
Paras Nath Jha
హాస్య కవిత
హాస్య కవిత
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
फैसला
फैसला
Dr. Kishan tandon kranti
8--🌸और फिर 🌸
8--🌸और फिर 🌸
Mahima shukla
कुछ अपनें ऐसे होते हैं,
कुछ अपनें ऐसे होते हैं,
Yogendra Chaturwedi
दस्तक
दस्तक
Satish Srijan
मिलना तो होगा नही अब ताउम्र
मिलना तो होगा नही अब ताउम्र
Dr Manju Saini
सैनिक के संग पूत भी हूँ !
सैनिक के संग पूत भी हूँ !
पाण्डेय चिदानन्द "चिद्रूप"
आलाप
आलाप
Punam Pande
आजाद लब
आजाद लब
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
बाल कविता: जंगल का बाज़ार
बाल कविता: जंगल का बाज़ार
Rajesh Kumar Arjun
ह्रदय जब स्वच्छता से ओतप्रोत होगा।
ह्रदय जब स्वच्छता से ओतप्रोत होगा।
Sahil Ahmad
सुनो सरस्वती / MUSAFIR BAITHA
सुनो सरस्वती / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
आदमियों की जीवन कहानी
आदमियों की जीवन कहानी
Rituraj shivem verma
2617.पूर्णिका
2617.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
◆नई चोंच, नए चोंचले◆
◆नई चोंच, नए चोंचले◆
*प्रणय प्रभात*
*घर आँगन सूना - सूना सा*
*घर आँगन सूना - सूना सा*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
सच्चे प्रेम का कोई विकल्प नहीं होता.
सच्चे प्रेम का कोई विकल्प नहीं होता.
शेखर सिंह
शीर्षक - स्वप्न
शीर्षक - स्वप्न
Neeraj Agarwal
Loading...