Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 May 2024 · 1 min read

“सपना”

“सपना”
कुछ लोग हमसे दूर रहके भी
सच में कितने अपने हैं,
वक्त ने अक्सर सिखाया हमें
जब भी टूटे वो सपने हैं।

2 Likes · 1 Comment · 44 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr. Kishan tandon kranti
View all
You may also like:
मोहब्बत का वो तोहफ़ा मैंने संभाल कर रखा है
मोहब्बत का वो तोहफ़ा मैंने संभाल कर रखा है
Rekha khichi
परम प्रकाश उत्सव कार्तिक मास
परम प्रकाश उत्सव कार्तिक मास
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
एक ऐसा दोस्त
एक ऐसा दोस्त
Vandna Thakur
सुप्रभात
सुप्रभात
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
कोलाहल
कोलाहल
Bodhisatva kastooriya
■ आज का शेर-
■ आज का शेर-
*प्रणय प्रभात*
"मेरे तो प्रभु श्रीराम पधारें"
राकेश चौरसिया
है तो है
है तो है
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
होली और रंग
होली और रंग
Arti Bhadauria
पिता
पिता
Sanjay ' शून्य'
2999.*पूर्णिका*
2999.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
मिट्टी के परिधान सब,
मिट्टी के परिधान सब,
sushil sarna
पेड़ पौधे से लगाव
पेड़ पौधे से लगाव
शेखर सिंह
बेटियां ज़ख्म सह नही पाती
बेटियां ज़ख्म सह नही पाती
Swara Kumari arya
सवैया छंदों के नाम व मापनी (सउदाहरण )
सवैया छंदों के नाम व मापनी (सउदाहरण )
Subhash Singhai
किसी से अपनी बांग लगवानी हो,
किसी से अपनी बांग लगवानी हो,
Umender kumar
हर जगह तुझको मैंने पाया है
हर जगह तुझको मैंने पाया है
Dr fauzia Naseem shad
ग़ज़ल --
ग़ज़ल --
Seema Garg
पुष्पों की यदि चाह हृदय में, कण्टक बोना उचित नहीं है।
पुष्पों की यदि चाह हृदय में, कण्टक बोना उचित नहीं है।
संजीव शुक्ल 'सचिन'
श्री गणेश वंदना:
श्री गणेश वंदना:
जगदीश शर्मा सहज
धृतराष्ट्र की आत्मा
धृतराष्ट्र की आत्मा
ओनिका सेतिया 'अनु '
व्यंग्य क्षणिकाएं
व्यंग्य क्षणिकाएं
Suryakant Dwivedi
बगिया के गाछी आउर भिखमंगनी बुढ़िया / MUSAFIR BAITHA
बगिया के गाछी आउर भिखमंगनी बुढ़िया / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
ईश्वर के सम्मुख अनुरोध भी जरूरी है
ईश्वर के सम्मुख अनुरोध भी जरूरी है
Ajad Mandori
नता गोता
नता गोता
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
सत्य से विलग न ईश्वर है
सत्य से विलग न ईश्वर है
Udaya Narayan Singh
विजेता
विजेता
Paras Nath Jha
"परोपकार के काज"
Dr. Kishan tandon kranti
मैं नहीं मधु का उपासक
मैं नहीं मधु का उपासक
नवीन जोशी 'नवल'
होली के दिन
होली के दिन
Ghanshyam Poddar
Loading...