Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
18 Mar 2024 · 1 min read

सत्य की खोज अधूरी है

मंदिर में ना तो राम मिला मस्जिद में ना रहमान मिला
ईसा मिला ना गिरजाघर में सत्य की खोज अधूरी है

वो स्वर्ग कहाॅ॑ किसने देखा कहां इंद्रलोक है ज्ञात नहीं
जन्नत में कौन गया अपना सत्य की खोज अधूरी है

वेद ग्रंथ पुराण पढ़ो चाहे बाईबल गीता व कुरान पढ़ो
जब तक जागा ईमान नहीं सत्य की खोज अधूरी है

पूजा पाठ दुआ मन्नत से कितनों की किस्मत है जागी
बिन शिक्षा के ये सच मानो सत्य की खोज अधूरी है

माना कड़वे हैं बोल मेरे लेकिन इन शब्दों को तोल मेरे
अज्ञान मिटे बिन जीवन में सत्य की खोज अधूरी है

जन्म मरण अडिग सत्य प्रकृति का चलन अटल सत्य
‘V9द’ नहीं इंसानियत तो सत्य की खोज अधूरी है

6 Likes · 83 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from VINOD CHAUHAN
View all
You may also like:
छोटी छोटी चीजें देख कर
छोटी छोटी चीजें देख कर
Dheerja Sharma
चाहे अकेला हूँ , लेकिन नहीं कोई मुझको गम
चाहे अकेला हूँ , लेकिन नहीं कोई मुझको गम
gurudeenverma198
ॐ
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
एक ख्वाब सजाया था मैंने तुमको सोचकर
एक ख्वाब सजाया था मैंने तुमको सोचकर
डॉ. दीपक मेवाती
दोहा-
दोहा-
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
कविता: जर्जर विद्यालय भवन की पीड़ा
कविता: जर्जर विद्यालय भवन की पीड़ा
Rajesh Kumar Arjun
17- राष्ट्रध्वज हो सबसे ऊँचा
17- राष्ट्रध्वज हो सबसे ऊँचा
Ajay Kumar Vimal
बेटियाँ
बेटियाँ
विजय कुमार अग्रवाल
दर्शन की ललक
दर्शन की ललक
Neelam Sharma
*तुम न आये*
*तुम न आये*
Kavita Chouhan
जो चाहने वाले होते हैं ना
जो चाहने वाले होते हैं ना
पूर्वार्थ
जम़ी पर कुछ फुहारें अब अमन की चाहिए।
जम़ी पर कुछ फुहारें अब अमन की चाहिए।
सत्य कुमार प्रेमी
बेकरार दिल
बेकरार दिल
Ritu Asooja
यहाँ तो सब के सब
यहाँ तो सब के सब
DrLakshman Jha Parimal
हे प्रभु मेरी विनती सुन लो , प्रभु दर्शन की आस जगा दो
हे प्रभु मेरी विनती सुन लो , प्रभु दर्शन की आस जगा दो
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
*जातिवाद का खण्डन*
*जातिवाद का खण्डन*
Dushyant Kumar
" बेदर्द ज़माना "
Chunnu Lal Gupta
हंस के 2019 वर्ष-अंत में आए दलित विशेषांकों का एक मुआयना / musafir baitha
हंस के 2019 वर्ष-अंत में आए दलित विशेषांकों का एक मुआयना / musafir baitha
Dr MusafiR BaithA
जबरदस्त विचार~
जबरदस्त विचार~
दिनेश एल० "जैहिंद"
डॉ अरूण कुमार शास्त्री
डॉ अरूण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
"दरअसल"
Dr. Kishan tandon kranti
*दादाजी (बाल कविता)*
*दादाजी (बाल कविता)*
Ravi Prakash
आम जन को 80 दिनों का
आम जन को 80 दिनों का "प्रतिबंध-काल" मुबारक हो।
*Author प्रणय प्रभात*
घर-घर एसी लग रहे, बढ़ा धरा का ताप।
घर-घर एसी लग रहे, बढ़ा धरा का ताप।
डॉ.सीमा अग्रवाल
सुनों....
सुनों....
Aarti sirsat
उर्दू
उर्दू
Surinder blackpen
122 122 122 12
122 122 122 12
SZUBAIR KHAN KHAN
जब आसमान पर बादल हों,
जब आसमान पर बादल हों,
Shweta Soni
छल छल छलके आँख से,
छल छल छलके आँख से,
sushil sarna
गीत।। रूमाल
गीत।। रूमाल
Shiva Awasthi
Loading...