Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

संयम

श्रम ,संयम की वंदना, करता जा तू कर्म।
कर्म करे किस्मत बने, जीवन का यह मर्म।।

जीवन के हर क्षेत्र में, संयम है अनिवार्य।
मंजिल चूमेगी कदम, पूरे होगे कार्य।।

संयमीत रह कर करें,जग के सारे काज।
अक्सर जाता है बहक, चंचल मनुज मिजाज।।

संयम का पालन करें, मिटे रोग संताप।
नित्य नियम अभ्यास से, निर्मल होते आप।।

संयम उतना ही रखें, जितना हो अनिवार्य।
चुप रहकर अन्याय को, करे नहीं स्वीकार्य।।
-लक्ष्मी सिंह

132 Views
You may also like:
मुंह की लार – सेहत का भंडार
Vikas Sharma'Shivaaya'
नामे बेवफ़ा।
Taj Mohammad
मैं तुम पर क्या छन्द लिखूँ?
नंदन पंडित
तब से भागा कोलेस्ट्रल
श्री रमण 'श्रीपद्'
मुस्ताकिल
DR ARUN KUMAR SHASTRI
चिड़ियाँ
Anamika Singh
*तीज-त्यौहार (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
शोहरत और बंदर
सूर्यकांत द्विवेदी
"नजीबुल्लाह: एक महान राष्ट्रपति का दुखदाई अन्त"
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
मेंढक और ऊँट
सूर्यकांत द्विवेदी
मैं तेरा बन जाऊं जिन्दगी।
Taj Mohammad
शिकायत कुछ नहीं
Dr fauzia Naseem shad
दोस्त हो तो ऐसा
Anamika Singh
दिल के मेयार पर
Dr fauzia Naseem shad
वतन से यारी....
Dr.Alpa Amin
पत्थर के भगवान
Ashish Kumar
✍️मै कहाँ थक गया हूँ..✍️
'अशांत' शेखर
साहब का कुत्ता (हास्य व्यंग्य कहानी)
दुष्यन्त 'बाबा'
# जीत की तलाश #
Dr.Alpa Amin
✍️पत्थर✍️
'अशांत' शेखर
कोई बात भी नहीं है।
Taj Mohammad
छोटा-सा परिवार
श्री रमण 'श्रीपद्'
गला रेत इंसान का,मार ठहाके हंसता है
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
सत् हंसवाहनी वर दे,
Pt. Brajesh Kumar Nayak
मेरे करीब़ हो तुम
VINOD KUMAR CHAUHAN
सिर्फ एक भूल जो करती है खबरदार
gurudeenverma198
इश्क़ में जूतियों का भी रहता है डर
आकाश महेशपुरी
यादों के झरोखों से।
Taj Mohammad
दो दिलों का मेल है ये
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
बरगद का पेड़
Manu Vashistha
Loading...