Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
12 Nov 2018 · 1 min read

🇭🇺 श्रीयुत अटल बिहारी जी

श्रीयुत अटल बिहारी जी
राष्ट्र संस्कृति पालक बन की जन-रखवारी जी

🧿
जनसंघी ने संघर्षों का अनुपम बिगुल बजाया
राष्ट्र-भूमि पर मत्था टेका, रण में शीश उठाया
जय जवान, जय विज्ञान के हम आभारी जी
श्रीयुत अटल बिहारी जी

🧿
भारत को अनुपम प्रकाश सह दर्शन दिया सु छवि ने
जीवन की हर धूप-छाँव को हँस कर जिआ सु कवि ने
विश्व बंधु, सद्भाव, ज्ञान व गुण-पिचकारी जी
श्रीयुत अटल बिहारी जी

🧿
आप नहीं दुनिया में लेकिन फहराया यशमय ध्वज
हिंद धरा को आभा देगा, सद्लेखनमय सूरज
भारत-भू के मुखिया ,अविचल राष्ट् पुजारी जी
श्रीयुत अटल बिहारी जी
……………
पं बृजेश कुमार नायक

👉इस रचना को मेरी कृति “जागा हिंदुस्तान चाहिए” काव्य संग्रह के द्वितीय संस्करण के अनुसार परिष्कृत किया गया है।

👉”जागा हिंदुस्तान चाहिए” काव्य संग्रह का द्वितीय संस्करण अमेजोन और फ्लिपकार्ट पर उपलब्ध है।
पं बृजेश कुमार नायक

Language: Hindi
2 Likes · 1 Comment · 883 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Pt. Brajesh Kumar Nayak
View all
You may also like:
कुछ किताबें और
कुछ किताबें और
Shweta Soni
जरूरत के हिसाब से ही
जरूरत के हिसाब से ही
Dr Manju Saini
खो गयी हर इक तरावट,
खो गयी हर इक तरावट,
Prashant mishra (प्रशान्त मिश्रा मन)
"बहुत दिनों से"
Dr. Kishan tandon kranti
रखो शीशे की तरह दिल साफ़….ताकी
रखो शीशे की तरह दिल साफ़….ताकी
shabina. Naaz
“ आलोचना ,समालोचना और विश्लेषण”
“ आलोचना ,समालोचना और विश्लेषण”
DrLakshman Jha Parimal
मुक्तक-
मुक्तक-
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
3101.*पूर्णिका*
3101.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
यह कौन सी तहजीब है, है कौन सी अदा
यह कौन सी तहजीब है, है कौन सी अदा
VINOD CHAUHAN
मीठे बोल या मीठा जहर
मीठे बोल या मीठा जहर
विजय कुमार अग्रवाल
साहित्य में प्रेम–अंकन के कुछ दलित प्रसंग / MUSAFIR BAITHA
साहित्य में प्रेम–अंकन के कुछ दलित प्रसंग / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
आखिर कुछ तो सबूत दो क्यों तुम जिंदा हो
आखिर कुछ तो सबूत दो क्यों तुम जिंदा हो
कवि दीपक बवेजा
मेरी तो धड़कनें भी
मेरी तो धड़कनें भी
हिमांशु Kulshrestha
तालाश
तालाश
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
कान्हा भजन
कान्हा भजन
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
दोय चिड़कली
दोय चिड़कली
Rajdeep Singh Inda
सलाह .... लघुकथा
सलाह .... लघुकथा
sushil sarna
जीत से बातचीत
जीत से बातचीत
Sandeep Pande
वज़ूद
वज़ूद
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
मेरा सुकून....
मेरा सुकून....
Srishty Bansal
वक़्त ने किया है अनगिनत सवाल तपते...
वक़्त ने किया है अनगिनत सवाल तपते...
सिद्धार्थ गोरखपुरी
💐प्रेम कौतुक-558💐
💐प्रेम कौतुक-558💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
रूठा बैठा था मिला, मोटा ताजा आम (कुंडलिया)
रूठा बैठा था मिला, मोटा ताजा आम (कुंडलिया)
Ravi Prakash
#डॉअरुणकुमारशास्त्री
#डॉअरुणकुमारशास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
■ धूर्तता का दौर है जी...
■ धूर्तता का दौर है जी...
*Author प्रणय प्रभात*
और भी हैं !!
और भी हैं !!
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
सोच के रास्ते
सोच के रास्ते
Dr fauzia Naseem shad
कर्जमाफी
कर्जमाफी
Dr. Pradeep Kumar Sharma
हमारे प्यारे दादा दादी
हमारे प्यारे दादा दादी
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
बन गए हम तुम्हारी याद में, कबीर सिंह
बन गए हम तुम्हारी याद में, कबीर सिंह
The_dk_poetry
Loading...