Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 May 2024 · 1 min read

शीर्षक:-सुख तो बस हरजाई है।

#दिनांक:-5/5/2024
शीर्षक:-सुख तो बस हरजाई है।

खुद से खुद मैं लड़ती रहती,
सुख तो बस हरजाई है।
बात-बात पर रोती रहती,
जिद ही जिद को खाई है।
लौटा दो मेरा बचपन तुम,
अल्हण-चंचलपन में आऊँ।
नहीं सुहाती दुनिया मुझको,
कैसे मैं प्रतिभा बन पाऊँ।
मतभेद विचारों में भरकर,
घर -घर बैठी तनहाई है।
कैसे कहो, कहाँ मैं ढूंढू
अलगाव वाद परछाई है।
खुद से खुद मैं लडती रहती ।1।

नहीं सहारा कोई होगा,
बेटा- बेटी जन्मे तुम ।
खाली हाथ ही जाना होगा,
फिर भी मोह से मोहित तुम?
मोहन-मोहन करते जाओ,
मोहन ही तेरा साईं है,
कलयुग का जाप यही है,
जग जगन्नाथ समाई है ।
खुद से खुद मैं लडती रहती ।2।

राम अखिल ब्रह्मांड नायक,
धरती पर मानुष बन जनमे।
जीत लिया माया को प्रभु ने,
मर्यादित बन बिचरे वन में ।
हनुमत जैसा सेवक बन लो,
सीने में बिम्ब दिखाए हैं,
राम-नाम का सुमिरन कर लो,
जन-जन में राम समाए हैं।
खुद से खुद मैं लडती रहती।3।

(स्वरचित)
प्रतिभा पाण्डेय “प्रति”
चेन्नई

1 Like · 40 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
त्राहि त्राहि
त्राहि त्राहि
Dr.Pratibha Prakash
प्रेम और आदर
प्रेम और आदर
ओंकार मिश्र
अब कभी तुमको खत,हम नहीं लिखेंगे
अब कभी तुमको खत,हम नहीं लिखेंगे
gurudeenverma198
💐 *दोहा निवेदन*💐
💐 *दोहा निवेदन*💐
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
-- कटते पेड़ --
-- कटते पेड़ --
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
एक दिन उसने यूं ही
एक दिन उसने यूं ही
Rachana
दवा और दुआ में इतना फर्क है कि-
दवा और दुआ में इतना फर्क है कि-
संतोष बरमैया जय
काजल
काजल
Neeraj Agarwal
इस महफ़िल में तमाम चेहरे हैं,
इस महफ़िल में तमाम चेहरे हैं,
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
महायुद्ध में यूँ पड़ी,
महायुद्ध में यूँ पड़ी,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
जुदाई
जुदाई
Dipak Kumar "Girja"
पर्यावरण प्रतिभाग
पर्यावरण प्रतिभाग
Jeewan Singh 'जीवनसवारो'
मेरे जैसा
मेरे जैसा
Dr. Pradeep Kumar Sharma
जिंदगी
जिंदगी
विजय कुमार अग्रवाल
सपनो का सफर संघर्ष लाता है तभी सफलता का आनंद देता है।
सपनो का सफर संघर्ष लाता है तभी सफलता का आनंद देता है।
पूर्वार्थ
बिसुणी (घर)
बिसुणी (घर)
Radhakishan R. Mundhra
**** बातें दिल की ****
**** बातें दिल की ****
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
2692.*पूर्णिका*
2692.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
■ आदी हैं मल-वमन के।।
■ आदी हैं मल-वमन के।।
*प्रणय प्रभात*
*जब से मुकदमे में फॅंसा, कचहरी आने लगा (हिंदी गजल)*
*जब से मुकदमे में फॅंसा, कचहरी आने लगा (हिंदी गजल)*
Ravi Prakash
असुर सम्राट भक्त प्रहलाद – पूर्वजन्म की कथा – 03
असुर सम्राट भक्त प्रहलाद – पूर्वजन्म की कथा – 03
Kirti Aphale
ख्वाबों में मेरे इस तरह न आया करो
ख्वाबों में मेरे इस तरह न आया करो
Ram Krishan Rastogi
*A date with my crush*
*A date with my crush*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
चीरहरण
चीरहरण
Acharya Rama Nand Mandal
तेरी तस्वीर को लफ़्ज़ों से संवारा मैंने ।
तेरी तस्वीर को लफ़्ज़ों से संवारा मैंने ।
Phool gufran
#शिवाजी_के_अल्फाज़
#शिवाजी_के_अल्फाज़
Abhishek Shrivastava "Shivaji"
कोशिश करने वाले की हार नहीं होती। आज मैं CA बन गया। CA Amit
कोशिश करने वाले की हार नहीं होती। आज मैं CA बन गया। CA Amit
CA Amit Kumar
झुंड
झुंड
Rekha Drolia
"गणित"
Dr. Kishan tandon kranti
तोहमतें,रूसवाईयाँ तंज़ और तन्हाईयाँ
तोहमतें,रूसवाईयाँ तंज़ और तन्हाईयाँ
Shweta Soni
Loading...