Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
21 Mar 2022 · 1 min read

शिव स्तुति

कौन दिशा में छुपकर बैठा ओ गंगाधर पर्वतवासी
एक झलक दिखला जा मुझको ढूँढ रही हैं अंखियाँ प्यासी

भव विरुपाक्ष जटाधर तारक तेरे नाम लगें अति सुन्दर
तू ही सोम सदाशिव मेरा तू ही मेरा देव दिगम्बर
तू ही उग्र कपाली मेरा तू ही मेरा गुरु संन्यासी
एक झलक दिखला जा मुझको …

तू ही कवची कृतिवासा है तू ही भर्ग मृत्युन्जय मेरा
खोल नयन हे शर्ब कृपानिधि कर दे मन का दूर अँधेरा
मेरे मन में घोर अँधेरा मेरे मन में घोर उदासी
एक झलक दिखला जा मुझको …

विश्वेश्वर गिरिनाथ अनघ मृड शिव त्रिपुरांतक दक्षाध्वरहर
खंडपरशु शाश्वत प्रमथाधिप गिरिप्रिय हवि कवि शिशु परमेश्वर
तू नटराज त्रिलोचन शंकर तू ही जग का अंतिम लासी
एक झलक दिखला जा मुझको …

रचयिता : शिवकुमार बिलगरामी

Language: Hindi
1 Like · 718 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
गुमनाम राही
गुमनाम राही
AMRESH KUMAR VERMA
"गौरतलब"
Dr. Kishan tandon kranti
* ज्योति जगानी है *
* ज्योति जगानी है *
surenderpal vaidya
वन्दे मातरम वन्दे मातरम
वन्दे मातरम वन्दे मातरम
Swami Ganganiya
समझ
समझ
अखिलेश 'अखिल'
प्रत्यक्षतः दैनिक जीवन मे  मित्रता क दीवार केँ ढाहल जा सकैत
प्रत्यक्षतः दैनिक जीवन मे मित्रता क दीवार केँ ढाहल जा सकैत
DrLakshman Jha Parimal
अपना ही ख़ैर करने लगती है जिन्दगी;
अपना ही ख़ैर करने लगती है जिन्दगी;
manjula chauhan
इंद्रधनुष
इंद्रधनुष
Santosh kumar Miri
My Precious Gems
My Precious Gems
Natasha Stephen
दिल ने गुस्ताखियाॅ॑ बहुत की हैं जाने-अंजाने
दिल ने गुस्ताखियाॅ॑ बहुत की हैं जाने-अंजाने
VINOD CHAUHAN
चन्द्रमा
चन्द्रमा
Dinesh Kumar Gangwar
ख्याल
ख्याल
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
मैं ढूंढता हूं रातो - दिन कोई बशर मिले।
मैं ढूंढता हूं रातो - दिन कोई बशर मिले।
सत्य कुमार प्रेमी
दिवाली
दिवाली
नूरफातिमा खातून नूरी
🎊🏮*दीपमालिका  🏮🎊
🎊🏮*दीपमालिका 🏮🎊
Shashi kala vyas
डॉक्टर
डॉक्टर
Dr. Pradeep Kumar Sharma
23/133.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/133.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
जिंदगी जीना है तो खुशी से जीयों और जीभर के जीयों क्योंकि एक
जिंदगी जीना है तो खुशी से जीयों और जीभर के जीयों क्योंकि एक
जय लगन कुमार हैप्पी
बेटी और प्रकृति से बैर ना पालो,
बेटी और प्रकृति से बैर ना पालो,
लक्ष्मी सिंह
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Mahendra Narayan
तलाशता हूँ -
तलाशता हूँ - "प्रणय यात्रा" के निशाँ  
Atul "Krishn"
#dr Arun Kumar shastri
#dr Arun Kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
हे! नव युवको !
हे! नव युवको !
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
■ सियासत के पाखण्ड। सुर्खी में आने के बीसों बहाने।।😊😊
■ सियासत के पाखण्ड। सुर्खी में आने के बीसों बहाने।।😊😊
*Author प्रणय प्रभात*
अपने जमीर का कभी हम सौदा नही करेगे
अपने जमीर का कभी हम सौदा नही करेगे
shabina. Naaz
पिता
पिता
Neeraj Agarwal
Dictatorship in guise of Democracy ?
Dictatorship in guise of Democracy ?
Shyam Sundar Subramanian
*भारतीय क्रिकेटरों का जोश*
*भारतीय क्रिकेटरों का जोश*
Harminder Kaur
चन्द्रयान 3
चन्द्रयान 3
डिजेन्द्र कुर्रे
*रखिए जीवन में सदा, उजला मन का भाव (कुंडलिया)*
*रखिए जीवन में सदा, उजला मन का भाव (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
Loading...