Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
27 May 2023 · 1 min read

माँ तेरे चरणों मे

जग तेरे चरणाें आया मेरी माँ
जग तेरे शरणाें में आया मेरी माँ!!

तेरे आँखो का दुलार माँ तेरी संतान,
तेरे आँचल का प्यार माँ तेरी संतान
जग आया लेकर अपनी मुराद माँ तेरे द्वार!!

जग तेरे चरणाें आया मेरी माँ
जग तेरे शरणाें में आया मेरी माँ!!

माँ सबकी भर दे झोली, कोई खाली ना जाये, कोई सवाली ना जाये खाली,
तू जग जननी, तू जग कल्याणी,जग तारणी माँ , नव दुर्गा माता रानी!!

जग तेरे चरणाें आया मेरी माँ,
जग तेरे शरणाें में आया मेरी माँ!!

तू भय भव भंजक निर्भय कारी दुष्ट संघारी छमा, दया, करुणा कि सागर जग तेरी करुणा, कृपा तरस कि दरश में आया मेरी माँ!!

जग तेरे चरणाें आया मेरी माँ,
जग तेरे शरणाें में आया मेरी माँ!!

तू भक्ति कि शक्ति,तू मंगलकारी, शुभ संचारी, अमंगल हारी जग तेरे दर पे दर्शन को आया मेरी माँ!!

जग तेरे चरणाें आया मेरी माँ,
जग तेरे शरणाें में आया मेरी माँ!!

नांदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर गोरखपुर उत्तर प्रदेश

Language: Hindi
1 Like · 110 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
View all
You may also like:
शिव ही बनाते हैं मधुमय जीवन
शिव ही बनाते हैं मधुमय जीवन
कवि रमेशराज
कोरोना काल मौत का द्वार
कोरोना काल मौत का द्वार
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
*श्रीराम और चंडी माँ की कथा*
*श्रीराम और चंडी माँ की कथा*
Kr. Praval Pratap Singh Rana
मिलन फूलों का फूलों से हुआ है_
मिलन फूलों का फूलों से हुआ है_
Rajesh vyas
2940.*पूर्णिका*
2940.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
आसां  है  चाहना  पाना मुमकिन नहीं !
आसां है चाहना पाना मुमकिन नहीं !
Sushmita Singh
नकलची बच्चा
नकलची बच्चा
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
बादल बनके अब आँसू आँखों से बरसते हैं ।
बादल बनके अब आँसू आँखों से बरसते हैं ।
Neelam Sharma
*महक बनकर वो जीवन में, गुलाबों की तरह आए (मुक्तक)*
*महक बनकर वो जीवन में, गुलाबों की तरह आए (मुक्तक)*
Ravi Prakash
#जंगल_में_मंगल
#जंगल_में_मंगल
*Author प्रणय प्रभात*
छोड़कर साथ हमसफ़र का,
छोड़कर साथ हमसफ़र का,
Gouri tiwari
खुदकुशी नहीं, इंकलाब करो
खुदकुशी नहीं, इंकलाब करो
Shekhar Chandra Mitra
जय माता दी -
जय माता दी -
Raju Gajbhiye
तुम रूबरू भी
तुम रूबरू भी
हिमांशु Kulshrestha
Ek gali sajaye baithe hai,
Ek gali sajaye baithe hai,
Sakshi Tripathi
.
.
Ragini Kumari
मन नहीं होता
मन नहीं होता
Surinder blackpen
🥀 *अज्ञानी की कलम*🥀
🥀 *अज्ञानी की कलम*🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
हाथी के दांत
हाथी के दांत
Dr. Pradeep Kumar Sharma
सारे नेता कर रहे, आपस में हैं जंग
सारे नेता कर रहे, आपस में हैं जंग
Dr Archana Gupta
इन आँखों में इतनी सी नमी रह गई।
इन आँखों में इतनी सी नमी रह गई।
लक्ष्मी सिंह
इससे ज़्यादा
इससे ज़्यादा
Dr fauzia Naseem shad
"मोबाइल फोन"
Dr. Kishan tandon kranti
इतनी भी
इतनी भी
Santosh Shrivastava
युवा मन❤️‍🔥🤵
युवा मन❤️‍🔥🤵
डॉ० रोहित कौशिक
रमजान में....
रमजान में....
Satish Srijan
*कैसे  बताएँ  कैसे जताएँ*
*कैसे बताएँ कैसे जताएँ*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
अनसोई कविता............
अनसोई कविता............
sushil sarna
दिल तो ठहरा बावरा, क्या जाने परिणाम।
दिल तो ठहरा बावरा, क्या जाने परिणाम।
Suryakant Dwivedi
परिवार
परिवार
Neeraj Agarwal
Loading...