Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 Apr 2024 · 1 min read

शिकारी संस्कृति के

राम को राम और खुदा को खुदा रहने दो।
दोनो अलग संस्कृति है इन्हे जुदा रहने दो।।

मत वृद्धि के खातिर इन्हे तुम मत मिलाओ।
राम व खुदा को तुम रामखुदाई मत बनाओ।।

वेद कुरान पृथक है, इनका मत तुम मेल करो।
संविधान क्षणभंगुर है इतना बड़ा न खेल करो।।

है जिनको विश्वास सदा, लौकिक और अलौकिक में।
पुनर्जन्म में हो निष्ठित जो, वेद पुराण वा मौलिक में।।
सिख जैन और बौद्ध सभी, संस्कृति सागर के बिंदु हैं।
गौ गंगा गुरु पूज्य जो माने, वो वैदिकजन ही हिंदू है।।

मैं ही हूं और केवल मैं ही हूं, ऐसा इस्लाम सिखाता हैं।
संख्या वृद्धि है मूलमंत्र इसका ऐसा ही कुरान बताता है।।
राज है करना धर्म काज बस, छल बल और तलवारों से।
मानव जीवन का मोल नहीं,खुदा प्रतिष्ठित है हथियारों से।।

संविधान तो एक खिचड़ी है, इसका मूल भरण पोषण है।
सौ से अधिक बार बदले तुम, इसमें प्रतिभा का शोषण है।।
मत की खातिर इसे बदलते, इसमें क्या कोई मौलिकता है।
साम्यवाद, समाजवाद सब, धर्म से केवल छल दिखता है।।

हे छद्मवाद के जननायक, तेरा उद्देश्य तो राज है करना।
क्या ” संजय” राजनीति में, संस्कृतियों को पड़ेगा मरना ।।

Language: Hindi
1 Like · 31 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
सुभाष चन्द्र बोस
सुभाष चन्द्र बोस
डॉ०छोटेलाल सिंह 'मनमीत'
तुम्ही ने दर्द दिया है,तुम्ही दवा देना
तुम्ही ने दर्द दिया है,तुम्ही दवा देना
Ram Krishan Rastogi
"ओस की बूंद"
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
*देना इतना आसान नहीं है*
*देना इतना आसान नहीं है*
Seema Verma
बुद्ध पूर्णिमा
बुद्ध पूर्णिमा
Dr.Pratibha Prakash
ये आंखें जब भी रोएंगी तुम्हारी याद आएगी।
ये आंखें जब भी रोएंगी तुम्हारी याद आएगी।
Phool gufran
मनुष्य प्रवृत्ति
मनुष्य प्रवृत्ति
विजय कुमार अग्रवाल
मानवता का शत्रु आतंकवाद हैं
मानवता का शत्रु आतंकवाद हैं
Raju Gajbhiye
बरसात
बरसात
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
एक पति पत्नी भी बिलकुल बीजेपी और कांग्रेस जैसे होते है
एक पति पत्नी भी बिलकुल बीजेपी और कांग्रेस जैसे होते है
शेखर सिंह
आबाद वतन रखना, महका चमन रखना
आबाद वतन रखना, महका चमन रखना
gurudeenverma198
नहीं टूटे कभी जो मुश्किलों से
नहीं टूटे कभी जो मुश्किलों से
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
🙏🙏
🙏🙏
Neelam Sharma
जवाब ना दिया
जवाब ना दिया
Madhuyanka Raj
*आयु पूर्ण कर अपनी-अपनी, सब दुनिया से जाते (मुक्तक)*
*आयु पूर्ण कर अपनी-अपनी, सब दुनिया से जाते (मुक्तक)*
Ravi Prakash
*ये आती और जाती सांसें*
*ये आती और जाती सांसें*
sudhir kumar
ज़िंदगी उससे है मेरी, वो मेरा दिलबर रहे।
ज़िंदगी उससे है मेरी, वो मेरा दिलबर रहे।
सत्य कुमार प्रेमी
#हृदय_दिवस_पर
#हृदय_दिवस_पर
*Author प्रणय प्रभात*
*शुभ रात्रि हो सबकी*
*शुभ रात्रि हो सबकी*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
दोहा पंचक. . . नारी
दोहा पंचक. . . नारी
sushil sarna
स्वीकार्यता समर्पण से ही संभव है, और यदि आप नाटक कर रहे हैं
स्वीकार्यता समर्पण से ही संभव है, और यदि आप नाटक कर रहे हैं
Sanjay ' शून्य'
Dr अरुण कुमार शास्त्री
Dr अरुण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
कर्जमाफी
कर्जमाफी
Dr. Pradeep Kumar Sharma
"वसन"
Dr. Kishan tandon kranti
बेइमान जिंदगी से खुशी झपट लिजिए
बेइमान जिंदगी से खुशी झपट लिजिए
नूरफातिमा खातून नूरी
"दीप जले"
Shashi kala vyas
बर्फ़ीली घाटियों में सिसकती हवाओं से पूछो ।
बर्फ़ीली घाटियों में सिसकती हवाओं से पूछो ।
Manisha Manjari
गौर फरमाएं अर्ज किया है....!
गौर फरमाएं अर्ज किया है....!
पूर्वार्थ
Thought
Thought
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
एक सच और सोच
एक सच और सोच
Neeraj Agarwal
Loading...